प्रदेश सरकार से आमजन के लिए आर्थिक पैकेज की घोषणा करने की मांग

हरिद्वार। विश्वव्यापी महामारी कोरोना को लेकर देश भर के कई अन्य राज्यों की तरह उत्तराखंड में भी लॉक डाउन की अवधी बढाए जाने के संकेत साफ है। कोरोना के खिलाफ जो युद्ध मानव जगत लड रहा है। लॉकडाउन ही उसमे एक ऐसा अस्त्र है। जिससे जान बचाई जा सकती है और कोविड 19 के खतरे को टाला जा सकता है। आम आदमी पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष शारिक अफरोज ने लाॅकडाउन को सही बताते हुए कहा कि इस समय लॉकडाउन के अलावा हमारे पास कोई और रास्ता इस बीमारी को रोकने का नहीं है। सरकार व प्रशासन को तत्काल यह भी सुनिश्चित करना होगा की कोरोना से बचाने की इस लड़ाई में कहीं हमारे लोग भूख की जंग न हार जाएं। शारिक ने कहा की यदि समय रहते सरकार ने उचित ’आर्थिक राहत के कदम नहीं उठाये तो प्रदेश की जनता एक गंभीर आर्थिक संकट में फंस सकती है। महामारी की इस लड़ाई में स्कूल की फीस ,बिजली, पानी के बिल, लोन की किश्तंे अधिकांश परिवारों पर बोझ बन गयी है। इसका सीधा कारण सैलरी व कारोबार का ठप्प हो जाना है। शारिक ने उत्तराखंड सरकार से मांग की तुरंत एक आर्थिक पैकेज की घोषणा करनी चाहिए जो व्यापक हो और बड़े वर्ग को राहत दे सके। स्कूल, शैक्षिक संस्थानों की फीस, बिजली, पानी के बिल और लोन की किश्तों में तत्काल राहत देने की घोषणा सरकार को तुरंत करनी चाहिए। लॉकडाउन के दौरान जरूरी सामान की डोर स्टेप डिलीवरी का इंतजाम सरकार द्वारा किया जाना चाहिए। शारिक अफरोज ने जनता से आह्वान किया कि लॉकडाउन का पूरी जिम्मेदारी से स्वतः पालन करें।