पेयजल की किल्लत से नाराज लोगों ने दिया जल संस्थान कार्यालय पर धरना

हरिद्वार। गर्मी की शुरूआत होते हुए पेयजल की किल्लतें भी शुरू हो गई है। पेयजल की किल्लत से नाराज उत्तरी हरिद्वार में लोगों ने जल संस्थान कार्यालय पर धरना दिया। इस दौरान आरोप लगाया कि काफी समय से समस्या का समाधान नहीं होने से दिक्कतें आ रही हैं। उन्होंने जल्द समस्या का निदान न होने पर धरना लगातार जारी रखने की चेतावनी दी है। वहीं अधिकारी कम प्रेशर की समस्या को दूर करने के लिए मोटर पंप लगाने की बात कह रहे हैं। बुधवार को भीमगोड़ा और आसपास के क्षेत्र के लोग पंतद्वीप स्थित जल संस्थान कार्यालय पर एकत्र होकर नारेबाजी कर धरने पर बैठ गए। शाम तक धरने पर ही डटे रहे। स्थानीय निवासी पूर्व पार्षद लखन लाल चैहान, जय नारायण शर्मा ने बताया कि भीमगोड़ा, गोसाई गली, बटुकेश्वर मार्ग, तबले वाली गली, पुरोहित गली, डॉ. क्षेत्रपाल गली, शर्मा गली, हिल बाईपास क्षेत्र, प्रेमचंद तिवारी स्कूल आदि इलाकों में लंबे समय से पानी की समस्या बनी हुई है। जिससे लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। पानी का प्रेशर इतना कम है कि मोटर से भी पानी नहीं आ रहा है। जबकि दिन में एक घंटे से डेढ़ घंटे ही सप्लाई होती है। करीब 20 हजार की आबादी इस समस्या को झेल रही है। सच्चिदानंद, केवलानंद ने कहा कि जब तक पानी की समस्या का निदान नहीं होगा तब तक धरना जारी रखेंगे। धरना देने वालों में रविंद्र मिश्रा, अनिल शर्मा, दीपक उपाध्याय, विशाल सक्सेना, हरीश भट्ट, सुशील कुमार, महेंद्र सैनी, विमल शर्मा, आशीष भट्ट, सूरज पांडे, हरिओम, तनुज माहेश्वरी, विकास शर्मा, शोभित वर्मा आदि शामिल रहे। वही जल संस्थान के अधिकारी का कहना है कि पानी की आपूर्ति पूरे समय हो रही है। कुछ ऊपरी हिस्सों में प्रेशर की समस्या है, जिसे दूर करने के लिए ज्यादा क्षमता वाली मोटर लगवाई जाएगी। लॉकडाउन लगने के चलते मोटर नहीं आ पाई थी। एक-दो दिन में आते ही लगाकर समस्या दूर कर दी जाएगी।