जयरीनों के लिए खुल गयी दरगाह पिरान कलियर

हरिद्वार। कोरोना संक्रमण के चलते 20 मार्च से बंद दरगाह पिरान कलियर को शुक्रवार से जायरीनों के लिए खोल दिया गया। प्रशासन की ओर से दरगाह में कोरोना संबधित नियमों का पालन करने के निर्देश दिए गए हैं। सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराने के साथ दरगाह के सभी द्वारों पर सेनेटाईजिंग मशीन लगाने के निर्देश भी दिए गए हैं। नियमों के तहत दरगाह में जियारत के लिए आने वाले सभी जायरीनों के नाम एक रजिस्टर में दर्ज करने होंगे। एक बार में चार से पांच जायरीनों को ही दरगाह में प्रवेश करने दिया जाएगा। उनके बाहर आने के बाद ही दूसरे ग्रुप को अंदर जाने दिया जाएगा। बिना मास्क के कोई दरगाह में प्रवेश नहीं कर सकेगा। सभी को दो गज की दूरी का पालन होगा। दरगाह के अंदर सुरक्षाकर्मियों की तैनाती की जाएगी। गौरतलब है कि कोरोना का प्रसार रोकने के लिए किए गए लाॅकडाउन के चलते विश्व प्रसिद्ध दरगाह कलियर कलियर 20 मार्च से बंद है। हालांकि सरकार से कुछ शर्तो के साथ अन्य धार्मिक स्थलों को खोलने की इजाजत दे दी थी। लेकिन दरगाह बंद रही। दरगाह नहीं खोले जाने पर मुस्लिम समुदाय की ओर से नाराजगी भी जताई गई। कलियर विधायक फुरकान अहमद ने इस संबंध में जिलाधिकारी से लेकर मुख्यमंत्री तक से शिकायत की। शुक्रवार से दरगाह को जायरीनों के लिए खोल दिया गया। हाजी इरफान अंसारी, हाजी नईम कुरैशी, सुहेल कुरैशी, शाहनवाज कुरैशी शहाबुद्दीन अंसारी, शादाब कुरैशी, अनीस खान, छम्मन पीरजी, गुलजार अंसारी, राहत अंसारी आदि ने दरगाह खोले जाने का स्वागत करते हुए सभी से दरगाह में जियारत के दौरान नियमों का पालन करने की अपील की है।