आरटीआई कार्यकत्ता की गोली लगने से मौत के मामले में हत्या का मुकदमा दर्ज

 हरिद्वार। छात्रवृत्ति घोटाले की शिकायत करने वाले आरटीआई कार्यकर्ता पंकज लांबा की गोली लगने से मौत के मामले में स्वजनों ने उसके दोस्तों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कराया है। उनका आरोप है कि दोस्तों ने साजिश के तहत पंकज लांबा की हत्या की है। फिलहाल, पुलिस मामले क छानबीन में जुट गई है।  हरिद्वार जिले के रानीपुर के सुमन नगर क्षेत्र के विद्या कॉलोनी में एक पार्टी के दौरान गोली लगने से पंकज लांबा की मौत हो गई थी। पंकज ने हरिद्वार और देहरादून पद के समाज कल्याण विभाग में हुआ बहुचर्चित छात्रवृत्ति घोटाला उजागर करने के साथ-साथ साल 2013 में सबसे पहले शासन को इसकी शिकायत की थी। दावा किया जा रहा है कि पार्टी में मौजूद एक नाबालिग लड़की ने उत्सुकतावश पिस्टल को हाथ में लिया हुआ था। उसी दौरान ट्रिगर दबने से गोली पंकज की गर्दन में जा लगी और उसकी मौत हो गई। इस मामले में पंकज लांबा की पत्नी ज्योति ने तहरीर देकर आरोप लगाया कि उसके पति पंकज लांबा के साथी मानव और कासिम व कुछ अन्य व्यक्तियों ने षड्यंत्र कर घटना को अंजाम दिया है और साजिश को हादसे की शक्ल दी जा रही है। रानीपुर कोतवाली प्रभारी योगेश सिंह देव ने बताया कि दोस्तों और अन्य अज्ञात आरोपितों के खिलाफ हत्या व साजिश का मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। दोस्तों से पूछताछ की जा रही है।