अपर मेलाधिकारी ने किया धार्मिक संगीत एल्बम का लोकापर्ण

 

हरिद्वार। ‘पारिजात‘ साहित्यिक एवं सांस्कृतिक मंच तथा ‘चेतना पथ‘ के संयुक्त तत्वावधान में त्रिपुरा मदिर के सभागार में आयोजित कार्यक्रम में अपर मेलाधिकारी ललित नारायण मिश्र ने गीतकार अरुण कुमार पाठक द्वारा तैयार की गयी संगीत एल्बम नमामि गंगे‘ का लोकार्पण किया। एल्बम को जारी करते हुए मिश्र ने कहा कि हरिद्वार में एक नयी संगीत परम्परा का सूत्रपात हुआ है। आज से हरिद्वार के संगीत को आगरा, ग्वालियर, जयपुर तथा बनारस जैसे घरानों की तरह ‘हरिद्वार घराना‘ के नाम से जाना जायेगा और हरिद्वार महाकुम्भ के दौरान न केवल यह संगीत सुपरहिट होगा, बल्कि महाकुम्भ में हरिद्वार आने वाले लाखों श्रद्धालु महाकुम्भ तथा गंगा की महिमा के अलावा गंगा की स्वच्छता के प्रति भी जागरुक होंगे। कहा कि संगीत एक साधना और तपस्या है संगीतकार संगीत की धुन में ईष्वर से एकाकार हो जाता है कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए स्वामी संतमुनि जी महाराज ने कहा कि अंत समय मानव के मुख में पड़ने वाली गंगाजल की एक बूंद भी उसका उद्धार कर देती है। एल्बम के निर्माता-निर्देषक तथा गीतकार अरुण कुमार पाठक ने एल्बम की जानकारी देते हुए बताया कि इसमें उनके द्वारा रचित गंगा तथा महाकुम्भ की महिमा के गुणगान के अलावा गंगा स्वच्छता के प्रति लोगों को सचेत करते सात गीत षामिल हैं, जिन्हें हरिद्वार के ही युवा तथा होनहार गायक-गायिकाओं - सुश्री करुणा चैहान, कुणाल धवन, अभिशेक षर्मा ‘प्रियादास‘, सुश्री रागिनी गुप्ता तथा अषीश बजाज सरीखे नगर के उभरते हुए युवा गायकों ने अपने स्वर दिये हैं। इन सभी गीतों को श्री हेमंत पाठक के संगीत निर्देषन में स्थानीय रावत स्टूडियो में रिकार्ड किया गया है, जो विभिन्न षास्त्रीय धुनों पर आधारित हैं। उन्होंने बताया कि इस एल्बम का वीडियो संस्करण भी षीघ्र ही जारी होगा तथा यह आडियो व वीडियो यूट्यूब के माध्यम से उपलब्ध हो जायेंगे। प्रसिद्ध गीतकार रमेष रमन द्वारा संचालित इस कार्यक्रम के दौरान हरिद्वार प्रेस क्लब के अध्यक्ष दीपक नौटियाल, महामंत्री धर्मेन्द्र चैधरी, साहित्यकार व पत्रकार डा. राधिका नागरथ, सुनील पाण्डेय, कवि पं. ज्वाला प्रसाद षान्डिल्य, भूदत्त षर्मा, सुभाश मलिक, प्रेम षंकर षर्मा ‘प्रेमी‘, मदन सिंह यादव, नीता नैयर ‘निश्ठा‘, डा. सुषील त्यागी, सत्यदेव सोनी ‘सत्य‘, सोनेष्वर कुमार सोना, देवेन्द्र कुमार मिश्र, विद्या विहार एकेडमी के संचालक विजयेन्द्र पालीवाल, मुस्कान फाउंडेषन की संचालिका नेहा मलिक, आर्ट आफ लिविंग संस्था के हरिद्वार प्रभारी तेजिन्दर सिंह केंथ, राखी धवन, गोपी चंद चैहान, गोविन्द वल्लभ भट्ट, डा. राजेन्द्र गुप्ता ने भी अपने उद्गार व्यक्त किये ।


Comments