श्री स्वामी नारायण आश्रम के नवनिर्मित प्रवेश द्वार का हुआ लोकार्पण

 

हरिद्वार। मकर संक्रान्ति के श्री स्वामी नारायण आश्रम भूपतवाला में नवनिर्मित प्रवेश द्वार का शुभारम्भ संत-महंतजनों की मौजूदगी में गौ पूजन के साथ हुआ। इस अवसर पर आश्रम के परमाध्यक्ष श्री स्वामी हरिबल्लभ दास शास्त्री जी महाराज ने कहा कि गौ, गंगा और गायत्री सनातन हिन्दू धर्म का आधार है जिनमें समस्त तीर्थ और देवी-देवता समाहित है। उन्होंने बताया कि श्री स्वामी नारायण आश्रम के विस्तार के अन्तर्गत नवनिर्मित प्रवेश द्वार के लोकार्पण के अन्तर्गत सर्वप्रथम गंगाजल से भरे पवित्र कलशों को बटुक ब्राह्माणों द्वारा प्रवेश करवाया गया। तत्पश्चात् गौ माता ने प्रवेश किया और उसके पश्चात संत-महंतजनों ने आश्रम में प्रवेश किया। उन्होंने कहा कि सनातन हिन्दू धर्म की यह मान्यता है कि गौ, गंगा और संत तीनों ईश्वर स्वरूप है। आश्रम के संचालक श्री स्वामी आनन्द स्वरूप शास्त्री ने इस लोकार्पण समारोह में पधारे संत-महंतजनों का स्वागत करते हुए कहा कि श्री स्वामी नारायण आश्रम भूपतवाला धर्म और सेवा का केन्द्र बिन्दु है जहां पर प्रतिदिन गौ सेवा, संत सेवा और दरिद्र नारायण की सेवा एक प्रकल्प के रूप में सदैव संचालित रहती है। इस अवसर पर म.मं. स्वामी हरिचेतानन्द, म.मं. स्वामी प्रेमानन्द, म.मं. अनन्तानन्द, महंत रूपेन्द्र प्रकाश, स्वामी सत्यव्रतानन्द, महंत मोहन सिंह, महंत लोकेश दास, महंत प्रकाशानन्द, महंत सूरज दास, महंत वेदांत प्रकाश, महंत धर्मदास, भाजपा पार्षद दल के उपनेता अनिरूद्ध भाटी, एडवोकेट अरविन्द शर्मा, समाजसेवी संजय वर्मा, योगेश भगत, सूर्यकान्त शर्मा सहित संत-महंतजन उपस्थित रहे।