महानगर व्यापार मण्डल ने कुम्भ को लेकर सरकार की नीतियों का किया विरोध

हरिद्वार। व्यापार मंडल के पदाधिकारियों ने बैठक कर सरकार की नीतियों पर विरोध जताया। महानगर व्यापार मंडल के जिलाध्यक्ष सुनील सेठी, प्रांतीय व्यापार मंडल के महामंत्री संजय त्रिवाल एवं प्रदेश व्यापार मंडल के जिलाध्यक्ष शिवकुमार कश्यप ने कहा कि व्यापारी बर्बादी की कगार पर खड़ा है। व्यापारियों को राहत देने की बजाय कुंभ की अवधि घटा दी गई। हरिद्वार में लाॅकडॉउन जैसी स्तिथि बना दी गई है। सरकार कुम्भकर्णी नींद में सोई हुई है। प्रत्येक स्तर का व्यापारी त्रस्त है। व्यापारी नेताओ ने कहा कि जब कुंभ करवाना ही नही था तो करोड़ो रूपये का बजट लगाकर जनता के पैसों का दुरुपयोग क्यो किया गया। स्थाई कार्य अब भी जारी है जो कि सीधे सीधे जनता के पैसों की बर्बादी है। अस्थाई के बजाए सरकार स्थायी कार्य कराने चाहिए थे। जिसका फायदा हरिद्वार की जनता को मिलता। बैठक में बाजार बंद करने के निर्णय पर भी चर्चा हुई। व्यापारी नेताओं ने कहा कि यदि सरकार नही जागी तो बाजार बंद के निर्णय से भी व्यापारी पीछे नही हटंेगे। महानगर अध्यक्ष जितेंद्र चैरसिया एवं जिला महामंत्री तेज प्रकाश साहू ने कहा कि सरकार अपनी नाकामी छुपाने के लिए कुंभ को सीमित कर श्रद्धालुओ के आवागमन को रोकना चाहती है। व्यापारी नेताओ ने कहा कि हरिद्वार से व्यापारी पलायन को मजबूर हो रहा है ओर यही हाल रहा तो व्यापारी आत्महत्या को मजबूर हो जाएंगे। बैठक में मुख्य रूप से सतीश चंद शर्मा, हरीशचंद चैहान,विकास तंत्रीवाल, गगन गुगनानी, अमन कुमार, विशाल माहेश्वरी, संजीव सक्सेना, गोपाल गोस्वामी, सूरज कुमार, सुनील कुमार, आनन्द कुमार, रामावतार चैहान, मुकेश अग्रवाल, उमेश चैधरी, राजेश भाटिया, दिनेश कुकरेजा, हन्नी दामिर, राजेश सुखीजा, सुनील मनोचा आदि मौजूद रहे। 


Comments