मेला प्रशासन और सफाई श्रमिक संगठनों के बीच बैठक की मांग को लेकर प्रदर्शन

 

हरिद्वार। सफाई मजदूर कुंभ मेला समिति के पदाधिकारियों ने मेलाधिकारी दीपक रावत से मुलाकात कर सफाई कर्मचारियों की भर्ती व अन्य समस्याओं पर कोई कार्रवाई नहीं पर रोष व्यक्त करते हुए मेला प्रशासन व सफाई श्रमिक संगठनों के बीच बैठक की मांग की है। समिति के मीडिया प्रभारी राजेश छाछर ने बताया कि मेला अधिकारी दीपक रावत को ज्ञापन देने गए सफाई कर्मचारी नेताओं ने कहा कि समिति की ओर से बीते 17 दिसंबर को एक ज्ञापन मेला प्रशासन को दिया गया था। जिस पर अब तक कोई कार्रवाई नहीं की गयी है। सुरेंद्र तेश्वर, राजेंद्र चुटेला व अशोक तेश्वर आदि आदि सफाई मजदूर नेताओं ने कहा कि मेला प्रशासन व सफाई संगठनों के बीच बैठक आयोजित की जाए। जिससे कुंभ मेले के दौरान सफाई मजदूरों को किसी प्रकार की परेशानी का सामना ना करना पड़े। कुंभ मेले के लिए भर्ती किए जाने वाले सफाई कर्मचारियों को मिलने वाला मानदेय भी अभी तक तय नहीं किया गया है। श्रमिकों के रहने की कोई व्यवस्था भी नहीं की गयी है। कर्मचारी नेताओं ने कहा कि प्रत्येक 12 वर्ष बाद विशाल स्तर पर होने वाले कुंभ मेले को लेकर समाज का प्रत्येक वर्ग रोजगार मिलने की उम्मीद रखता है। सफाई कर्मचारी वर्ग को भी उम्मीद थी कि पूर्व में हुए कुंभ मेलों की तर्ज पर इस बार भी उन्हें रोजगार मिलेगा। लेकिन अभी तक एक भी सफाई कर्मचारी की भर्ती नहीं की गयी। इससे ऐसा लगता है की मेला कागजों तक ही सीमित रह जाएगा।  परंतु इस बार सबकी उम्मीदों पर पानी फिरता नजर आ रहा है। ज्ञापन देने वालों में सुरेन्द्र तश्ेवर, राजेन्द्र चुटेला, अशोक तेश्वर, नरेश चनयाना, सुशील वाल्मीकि, आनंद कांगड़ा, राजेश छाछर, आत्माराम, प्रवीण, कन्हैया चंचल, सुनील राजौर, जितेंद्र तेश्वर, प्रवीण वाल्मीकि आदि शामिल रहे। 


Comments