भूमानंद अस्पताल में कैथ लैब का शुभारंभ

 हरिद्वार। कोरोना महामारी के बीच हरिद्वार और आसपास के लोगों के लिए एक राहत भरी खबर है। रानीपुर झाल के पास स्थित श्री भूमानंद अस्पताल में कैथ लैब का आज शनिवार को विधिवत पूजा अर्चना के साथ शुभारंभ हो गया। अब यहां हृदय रोग से पीड़ित मरीजों का उपचार हो सकेगा, स्टंट आदि डालने की प्रक्रिया भी हो सकेगी। शनिवार की दोपहर अस्पताल के संस्थापक भूमा पीठाधीश्वर स्वामी अच्युतानंद तीर्थ जी महाराज ने कैथ लैब का शुभारंभ किया । उन्होंने कहा कि श्री भूमानंद अस्पताल समाज को रोग मुक्त बनाने के लिए पूरी तरह कृत संकल्प है और इस दिशा में लगातार कार्य किया जा रहा है। नई लैब की स्थापना से क्षेत्र के लोगों को काफी राहत मिलेगी क्योंकि हृदयाघात जैसी स्थिति में उनका शहर में ही इलाज हो सकेगा। स्टंट आदि डालने की सुविधा भी मिलेगी।कार्यक्रम में विशेष रूप से पधारे वरिष्ठ आईएएस अधिकारी तथा नोएडा के पूर्व जिलाधिकारी एनपी सिंह ने भूमानंद अस्पताल की सेवाओं को सराहा और कहा कि जिस तरह से स्वामी अच्युतानंद तीर्थ जी महाराज के सानिध्य में मानव सेवा के संकल्प को साकार किया जा रहा है वह अनुकरणीय है। इस अवसर पर सर्वेश्वर ब्रह्मचारी,भूमानंद नर्सिंग महाविद्यालय की प्राचार्य इंगियार कन्नी, निदेशक डॉ आकाश जैन, डॉक्टर नितिन वर्मा, डॉक्टर मौसम जाफरी, डॉक्टर सईद, डॉक्टर सौरभ त्रिपाठी डॉक्टर सलोनी बस्सी समेत बड़ी संख्या में चिकित्सक एवं अन्य गणमान्य लोग उपस्थित थे। भूमानंद परिवार के प्रवक्ता राजेंद्र शर्मा ने बताया कि अस्पताल की ओर से जनकल्याण के लिए भी अनेक कार्यक्रम लगातार जारी हैं।


Comments