श्रीमद् भागवत कथा सप्ताह की पूर्णाहूति,राष्ट्रीय महिला आयोग की पूर्व अध्यक्षा ने दी पूर्णाहूति

 

हरिद्वार। मानव कल्याण एवं विश्व शांति के साथ विश्वव्यापी महामारी कोरोना वायरस के खात्मे की कामना के साथ श्री अमरनाथ बर्फानी सेवा समिति अलवर के तत्वावधान में आयोजित श्रीमद् भागवत ज्ञान यज्ञ सप्ताह की पूर्णाहूति हो गयी। पूर्णाहूति के दौरान बड़ी संख्या में श्रद्वालु महिला एवं पुरूष शामिल हुये। कथा के अन्तिम दिन पूणाहुति से पूर्व कथा व्यास अवकाश प्राप्त आईएएस पंडित रामपाल शर्मा शास्त्री ने श्रद्वालुओं को श्रीमद भागवत कथा का सार समझाते हुए कहा कि भगवान हमेशा सृष्टि के कल्याण के लिए तत्पर रहते है। भगवान कृष्ण ने मनुष्य ेके कल्याण का मार्ग प्रशास्त किया। उन्होने मीरा कृष्ण प्रेम प्रसंग की चर्चा करते हुए कहा कि भगवान हमेशा सच्चे भक्त की पुकार पर उपस्थित हो जाते है। मीरा उनकी सच्ची दासी थी,जिसे मारने का कई बार प्रयास किया गया,लेकिन भगवान की कृपा के कारण वो हमेशा बचती रही। उन्होने कहा कि भक्त भगवान की भक्ति तभी कर सकता है जब उसके मन में जरा भी संदेह अथवा मन मैला नही हो । कथा व्यास ने कहा कि इस संसार में हर चीज पहले से तय है,जिसे कोई समझ नही सकता। उन्होने दोहराया कि धर्म और प्रेम के वशीभूत भगवान कृष्ण हमेशा धर्म के पक्ष में खड़े हुए है। महाभारत में दौपद्री का चीर हरण के दौरान एक पुकार पर उन्होने दौपद्री की लाॅच बचा ली थी। इससे पूर्व कृष्ण व्याख्यान पूजा में राष्ट्रीय महिला आयोग की पूर्व अध्यक्षा श्रीमती ममता शर्मा,राष्ट्रीय ब्राहण महासभा के उपाध्यक्ष पदम प्रकाश शर्मा,राजस्थान ब्राहण महासभा के उपाध्यक्ष गजाधर शर्मा, े सहित कई विशिष्ठ लोगों ने कथा यज्ञ की पूर्णाहूति में शरीक होकर पूर्णाहूति दी। इस मौके पर संस्था के संरक्षक कुन्ज मोहन शर्मा ने कहा कि श्रीमद् भागवत कथा व्यक्ति को जीवन जीने की कला सिखाती है और सभी के कल्याण का द्वार बताती है। उन्होने कहा कि आज सभी अत्यधिक व्यस्त है,कोरोना जैसी महामारी ने व्यक्ति को व्यक्ति से दूर कर दिया है,ऐसे में श्रीमद् भागवत कथा हमे निश्चित ही नया रास्ता दिखायोगी। उन्होने कहा कि इस समय जबकि कुम्भ मेला प्रारम्भ हेा चुका है तो कुम्भ नगरी में गंगा किनारे श्रीमद्भागवत कथा श्रवण करने वालों को निश्चित ही जीवन की दुश्वारियों से छुटकारा मिलती है। संस्था के अध्यक्ष मनोज शर्मा ने भागवत कथा समापन पर सभी का आभार जताते हुए कहा कि कथा श्रवण से निश्चित ही मन को शांति की प्राप्ति होगी। पूर्णाहूति में संस्था के अध्यक्ष मनोज शर्मा,अशोक कुमार एडवोकेट,सियाराम एडवोकेट तथा सियाराम तिवारी शामिल हुये। सचिव छुठठन लाल सैनी,जय शिव गुप्ता,भागीरथ सोनी,के अलावा सुरेन्द्र सैनी,विकेश मनचन्दा,दिलीप मक्कड,दिलीप खण्डेलवाल,राजीव शर्मा तथा मनीष मिश्रा सहित बड़ी संख्या में श्रद्वालुओं ने व्यास गदद्ी की पूजा अर्चना कर देश प्रदेश के सुख-समृद्वि की कामना की। सायकालं कथा विश्राम के बाद प्रसाद वितरित किया गया। 


Comments