Skip to main content

शरण में आए प्रत्येक भक्त की रक्षा करते हैं भगवान- भागवताचार्य पंडित पवन कृष्ण शास्त्री

 


हरिद्वार। श्री राधा रसिक बिहारी भागवत परिवार सेवा ट्रस्ट के तत्वाधान में सर्वजन कल्याण के लिए बसंत बिहार कॉलोनी ज्वालापुर में आयोजित सात दिवसीय भागवत कथा प्रवचन के चतुर्थ दिवस पर कथा व्यास पंडित पवन कृष्ण शास्त्री ने भक्त प्रह्लाद का चरित्र श्रवण कराते हुए बताया कि मनुष्य,देवता,दानव,पशु,पक्षी चराचर जगत में कोई भी भगवान की भक्ति करता है तो भगवान उसकी रक्षा करते हैं। भक्त प्रहलाद का चरित्र वर्णन करते हुए भागवताचार्य ने बताया कि भक्त प्रहलाद का जन्म राक्षस कुल में हुआ था। प्रहलाद के पिता हिरण्यकश्यपु भगवान नारायण से द्वेष रखता एवं जो भी भगवान नारायण का भजन करता था। हिरण्यकश्यपु उसका वध कर देता था। ऐसी स्थिति में मां के गर्भ में ही देव ऋषि नारद से भागवत कथा का श्रवण करके राक्षस कुल में जन्म लेने पर संस्कार वश प्रहलाद भगवान का अनन्य भक्त बनकर भगवान की भक्ति करता है। हिरण्यकश्यपु ने प्रहलाद को मारने के लिए अनेकों प्रकार के उपाय किए। उसे जल में डुबाया,पहाड़ से गिराया,उबलती हुई तेल की कढ़ाई में डलवाया,अस्त्र शस्त्रों से मरवाने का प्रयास किया। यहां तक कि प्रहलाद की बुआ होलिका प्रहलाद को लेकर के अग्नि में चली गई। पर भगवान ने हर परिस्थिति में प्रहलाद की रक्षा की और स्वयं नरसिंह रूप में प्रकट हुए और हिरण्यकश्यपु को मार कर प्रहलाद की रक्षा की। शास्त्री ने बताया ठीक इसी प्रकार से पशु योनि में गजराज अपने परिवार के साथ सरोवर पर जल पीने के लिए जाता है। जल के भीतर रहने वाला ग्राह गजराज का पैर पकड़ लेता है। गजराज ने बहुत प्रयास किया ग्राह से छूटने का। परंतु जल के भीतर ग्राह का बल अधिक होने के कारण गजराज ग्राह से मुक्त नहीं हो पाया। गजराज ने भगवान नारायण का ध्यान किया, स्तुति की और भगवान ने गजराज की स्तुति को सुनकर के ग्राह का वध करके गजराज को ग्राह के बंधन से मुक्त कराया। भागवताचार्य पंडित पवन कृष्ण शास्त्री ने बताया भगवान की शरण में जो भी जाता है। भगवान की भक्ति जो भी करता है भगवान उसकी रक्षा करते हैं। इसलिए इस कलिकाल में मुख्य रूप से भगवान की भक्ति ही जीव का कल्याण करती है। सभी को भगवान की भक्ति करनी चाहिए। श्री राधा रसिक बिहारी भागवत परिवार सेवा ट्रस्ट के द्वारा जन-जन में भक्ति का उदय होके लिए समय-समय पर सात दिवसीय श्रीमद्भागवत कथा का आयोजन कराया जाता है। श्रीमद्भागवत कथा के चतुर्थ दिवस सभी भक्तों ने भगवान श्री कृष्ण का जन्मोत्सव बड़े धूमधाम से मनाया। इस अवसर पर मुख्य यजमान रघुवीर कौर,राजवंश अंजू,लवी कौर, अंजू पांधी,शीतल अरोड़ा,सिंपी धवन,सागर धवन ,संजय,लता,मंजू गोयल,तिलक राज,श्रीमती शांति दर्गन,श्रीमती बीना धवन,प्रमोद पांधी,विजेंद्र गोयल,मीनू शर्मा,सुनीता आदि ने व्यास पूजन किया।


Comments

Popular posts from this blog

धूमधाम से गंगा जी मे प्रवाहित होगा पवित्र जोत,होगा दुग्धाभिषेक -डॉ0नागपाल

 112वॉ मुलतान जोत महोत्सव 7अगस्त को,लाखों श्रद्वालु बनेंगे साक्षी हरिद्वार। समाज मे आपसी भाईचारे और शांति को बढ़ावा देने के संकल्प के साथ शुरू हुई जोत महोसत्व का सफर पराधीन भारत से शुरू होकर स्वाधीन भारत मे भी जारी है। पाकिस्तान के मुल्तान प्रान्त से 1911 में भक्त रूपचंद जी द्वारा पैदल आकर गंगा में जोत प्रवाहित करने का सिलसिला शुरू हुआ जो आज भी अनवरत 112वे वर्ष में भी जारी है। इस सांस्कृतिक और सामाजिक परम्परा को जारी रखने का कार्य अखिल भारतीय मुल्तान युवा संगठन बखूबी आगे बढ़ा रहे है। संगठन अध्यक्ष डॉ महेन्द्र नागपाल व अन्य पदाधिकारियो ने रविवार को प्रेस क्लब में पत्रकारों से  मुल्तान जोत महोत्सव के संबंध मे वार्ता की। वार्ता के दौरान डॉ नागपाल ने बताया कि 7 अगस्त को धूमधाम से  मुलतान जोट महोत्सव सम्पन्न होगा जिसके हजारों श्रद्धालु गवाह बनेंगे। उन्होंने बताया कि आजादी के 75वी वर्षगांठ पर जोट महोत्सव को तिरंगा यात्रा के साथ जोड़ने का प्रयास होगा। श्रद्धालुओं द्वारा जगह जगह सुन्दर कांड का पाठ, हवन व प्रसाद वितरण होगा। गंगा जी का दुग्धाभिषेक, पूजन के साथ विशेष ज्योति गंगा जी को अर्पित करेगे।

बी0ई0जी0 आर्मी तैराक दलों ने 127 कांवडियों,श्रद्धालुओं को गंगा में डूबने से बचाया

  हरिद्वार। जिलाधिकारी विनय शंकर पाण्डेय के निर्देशन, अपर जिलाधिकारी पी0एल0शाह के मुख्य संयोजन एवं नोडल अधिकारी डा0 नरेश चौधरी के संयोजन में कांवड़ मेले के दौरान बी0ई0जी0 आर्मी के तैराक दल अपनी मोटरबोटों एवं सभी संसाधनों के साथ कांवडियों की सुरक्षा के लिये गंगा के विभिन्न घाटों पर तैनात होकर मुस्तैदी से हर समय कांवड़ियों को डूबने से बचा रहे हैं। बी0ई0जी0 आर्मी तैराक दल द्वारा कांवड़ मेला अवधि के दौरान 127 शिवभक्त कांवडियों,श्रद्धालुओं को डूबने से बचाया गया। 17 वर्षीय अरूण निवासी जालंधर, 24 वर्षीय मोनू निवासी बागपत, 18 वर्षीय अमन निवासी नई दिल्ली, 20 वर्षीय रमन गिरी निवासी कुरूक्षेत्र, 22 वर्षीय श्याम निवासी सराहनपुर, 23 वर्षीय संतोष निवासी मुरादाबाद, 18 वर्षीय संदीप निवासी रोहतक आदि को विभिन्न घाटों से बी0ई0जी0 आर्मी तैराक दल द्वारा गंगा में डूबने से बचाया गया तथा साथ ही साथ प्राथमिक उपचार देकर उन सभी कांवडियों को चेतावनी दी गयी कि गंगा में सुरक्षित स्थानों में ही स्नान करें। कांवड़ मेला अवधि के दौरान बी0ई0जी0आर्मी तैराक दल एवं रेड क्रास स्वयंसेवकों द्वारा गंगा के पुलों एवं घाटों पर माइकिं

अयोध्या,मथुरा,वृंदावन मे भी बनेगा महाजन भवन,नरेश महाजन बने उपाध्यक्ष

  हरिद्वार। उतरी हरिद्वार स्थित महाजन भवन मे आयोजित कार्यक्रम में अखिल भारतीय महाजन शिरोमणि सभा के सदस्यों ने महाजन भवन मे महाजन बिरादरी में से पठानकोट की मुकेरियां विधानसभा से भाजपा प्रत्याशी के तौर पर चुने गये विधायक जंगीलाल महाजन का जोरदार स्वागत किया। बताते चले कि जंगी लाल महाजन हरिद्वार महाजन भवन के चेयरमैन, तथा आल इंडिया महाजन शिरोमणी सभा के प्रैसिडेट पद पर भी महाजन बिरादरी की सेवा कर रहें हैं। इस अबसर पर अखिल भारतीय महाजन सभा के चेयरमैन व (पठानकोट) से भाजपा विधायक जंगीलाल महाजन ने कहा कि आल इंडिया महाजन सभा की पद्धति के अनुसार नरेश महाजन जो कि आल इंडिया सभा के सीनियर बाईस चेयरमैन भी है को हरिद्वार महाजन भवन में उपाध्यक्ष तथा हरीश महाजन को महामंत्री निुयुक्त किया। इस अबसर पर जंगी लाल महाजन ने कहा कि हम आशा ये दोनों मिलकर समितिया भी बनायेगे और अन्य सभाओं को जोडकर हरिद्वार महाजन भवन की उन्नति के लिए जो हमारे बुजुर्गों ने जो विरासत हमे दी है उसे आगे बढायेगे। हम चाहते हैं हरिद्वार महाजन भवन की तरह ही मथुरा,बृदांवन तथा अयोध्या मे भी भवन बने। उसके लिए ये दोनों अपना योगदान देगे। इसीलिए