स्वामी शिवानद जिलाधिकारी,एसएसपी के खिलाफ उच्च न्यायालय जाने की तैयारी में

 

हरिद्वार। गंगा की अविरलता ओर निर्मलता के लिए लगातार आंदोलन करने वाले मातृ सदन परमाध्यक्ष स्वामी शिवानन्द सरस्वती की एलआईयू रिपोर्ट के बाद सुरक्षा हटा दिए जाने से नाराज स्वामी शिवानंद ने एलआइयू रिपोर्ट पर सवाल उठाए हैं। मामलेे को लेकर अब मातृसदन जिलाधिकारी, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक और एलआइयू इंस्पेक्टर के खिलाफ हाईकोर्ट में याचिका दायर करने की तैयारी में है। दरअसल, फरवरी 2020 में मातृ सदन के परमाध्यक्ष स्वामी शिवानंद की सुरक्षा हटा ली गई थी। इसके पीछे एलआइयू रिपोर्ट का हवाला दिया गया था। इस पर मातृसदन ने सूचना के अधिकार में एलआइयू रिपोर्ट मांगी। कई महीनों बाद उत्तराखंड सूचना आयोग के निर्देश पर अब रिपोर्ट स्वामी शिवानंद को मिली है। इस सम्बन्ध में मातृ सदन में पत्रकारों से बातचीत करते हुए स्वामी शिवानंद ने आरोप लगाया कि डीएम और एसएसपी के दबाव में एलआइयू ने फर्जी रिपोर्ट बनाई है।  स्वामी शिवानंद का कहना है कि उन पर कई बार हमले हुए, धमकियां मिल चुकी हैं, लेकिन एलआइयू ने अपनी रिपोर्ट में इन सारे तथ्यों को शून्य बताते हुए जान के खतरे को अनदेखा किया है। स्वामी शिवानंद ने कहा है कि वह जिलाधिकारी, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक और एलआइयू इंस्पेक्टर पर कार्रवाई के लिए हाईकोर्ट में या िहरिद्वार। गंगा की निर्मलता ओर स्वच्छता के लिए 2 दशकों से अनशन ओर जनजागरूकता के माध्यम से लड़ाई लड़ रहे मातृ सदन ने अपनी सुरक्षा हटाये जाने पर जिलाधिकारी ओर पुलिस कप्तान पर आरोप लगाते हुए मुख्य सचिव से जांच कराए जाने की मांग की है।