Skip to main content

Posts

Showing posts from March, 2020

गरीबों व जानवरों को खाना खिलाने में जुटा सनातन सेवा मिशन

हरिद्वार। सनातन सेवा मिशन ट्रस्ट के तत्वाधान में गरीब असहाय निर्धन परिवारों के साथ साथ सड़क पर घूम रहे आवारा पशुओं व बंदरों को खाना उपलब्ध कराया जा रहा है। चण्डी देवी मंदिर प्रांगण में बैठे बंदरों को गुड़ चना खाने के लिए दिया गया। मिशन के द्वारा बैरागी कैंप में निवास कर रहे परिवारों को खाना वितरित किया गया। ट्रस्ट के राष्ट्रीय सचिव हिमांशु वालिया ने कहा कि लाॅकडाउन के चलते गरीब असहाय निर्धन परिवारों की सहायतार्थ के लिए रोज खाना उपलब्ध कराया जा रहा है। साथ ही आवारा पशुओं को भी चारा देने का काम सदस्यों द्वारा निरंतर चलाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि निस्वार्थ सेवाभाव से ही लाॅकडाउन का पालन किया जा सकता है। संपन्न लोग आर्थिक रूप से कमजारे वर्गो की सहायता करने में जुट जाएं। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस दुनिया में महामारी का रूप ले रहा है। ऐसे में सरकार द्वारा दिए गए निर्देशों का पालन सभी को करना चाहिए। शालू आहूजा व महेंद्र कुकरेजा ने कहा कि ट्रस्ट के सदस्य लगातार लाॅकडाउन के प्रति भी लोगों को जागरूक कर रहे हैं। सेनेटाइजर व माॅस्क का उपयोग सभी को करना चाहिए। एक दूसरे से दूरी बनाकर रहने की आवश्

श्री पंचायती निर्मल अखाड़ा द्वारा लगातार जारी है जरूरतमंदो के लिए सहायता

हरिद्वार। कोविड-19 कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए किए गए तीन सप्ताह के लाॅकडाउन में गरीबों व कमजोर आय वर्ग के लोगों को खाने पीने की दिक्कत ना हो। इसके लिए कनखल स्थित श्री पंचायती अखाड़ा निर्मल प्रशासन के साथ सहयोग करते हुए निरंतर खाद्य सामग्री उपलब्ध करा रहा है। इसके अलावा अखाड़े से भी गरीबों को आटा, दाल, चावल, तेल, मसाले आदि की मद्द दी जा रही है। मंगलवार को भी अखाड़े के कोठारी महंत जसविन्दर सिंह महाराज ने अखाड़े में सैकड़ों गरीबों को राशन दिया। महंत जसविन्दर सिंह महाराज ने कहा कि अखाड़े का प्रयास है कि इस संकट काल में कोई भी गरीब भूखा ना रहे। अखाड़े की ओर से प्रशासन के माध्यम से सड़कों पर गुजर बसर करने वाले भिखारियों व अन्य जरूरतमंदों को रोजाना खाना खिलाया जा रहा है। इसके अलावा कच्चा राशन भी गरीबों को दिया जा रहा है। महंत अमनदीप सिंह महाराज ने बताया कि अखाड़े की एक्कड़ कलां शाखा की ओर से भी प्रतिदिन भोजना के पांच सौ पैकेट अपर मेला अधिकारी हरवीर सिंह के माध्यम जरूरतमंदों को दिए जा रहे हैं। संकट काल में गरीबों, जरूरतमंदों की मदद के लिए अखाड़ा पूरी तरह तत्पर है। इस अवसर पर महंत सतनाम सिंह,

निरंकारी मिशन ने दिए खाद्य सामग्री के एक हजार पैकेट

हरिद्वार। निरंकारी मिशन की ओर से गरीबों की मदद के लिए खाद्य सामग्री के एक हजार पैकेट अपर मेला अधिकारी हरवीर सिंह को विभिन्न क्षेत्रों में वितरित करने के लिए सौंपे गए। इस दौरान भारत सरकार रेल मंत्रालय के सदस्य मनोज कुमार गौतम ने कहा कि निरंकारी मिशन समय समय पर निर्धन परिवारों के उत्थान में अपना योगदान देता चला आ रहा है। कोरोना वायरस देश दुनिया में आपदा का रूप ले चुका है। ऐसे में सभी को सरकार द्वारा दिए गए निर्देशों का पालन करना चाहिए। मजदूर श्रमिक अपने घरों में हैं। रोजगार नहीं कर पा रहे हैं। ऐसे में सहायता सामग्री उपलब्ध कराना बड़ा पुण्य का काम है। निरंकारी मिशन देश भर में निस्वार्थ सेवा के लिए जाना जाता है। निरंकारी मिशन के संजय कुमार व सुरेश कुमार ने कहा कि इस विपदा की घड़ी में सभी को मिलजुल कर प्रयास करने होंगे। अपर मेला अधिकारी हरवीर सिंह ने निरंकारी मिशन के इस परोपकारी कार्य की सराहना की और कहा कि हरिद्वार के विभिन्न क्षेत्रों से मदद पहुंचायी जा रही है। संत समाज के अलावा सामाजिक संगठन भी बढ़चढ़ कर गरीब, निसहाय निर्धन परिवारों की मदद के लिए खाद्य सामग्री प्रशासन को सौंप रहे हैं। इस अवस

लाॅकडाउन के दौरान कारोबार बंद होने से आर्थिक परेशानियों से जूझने लगे होटलकारोबारी

हरिद्वार। कोरोना वायरस के चलते पंचपुरी में होटल व्यवसायियों के साथ साथ लीज पर लिए गए होटल कारोबारी मानसिक व आर्थिक परेशानियों से जूझ रहे हैं। कारोबारियों में निराशा का भाव फैला हुआ है। धर्मनगरी में लाॅकडाउन के चलते सन्नाटा फैला हुआ है। हरकी पैड़ी सहित विभिन्न होटल लीज पर कारोबारियों द्वारा लिए जाते हैं। बड़ी रकम देकर अच्छा मुनाफा कमाने के उद्देश्य से कारोबारी होटल लीज पर ले लेते हैं। जबकि लीज पर होटल लेने वालों में अधिकांश होटल स्वामियों को एडवांस भी देते हैं। लीज पर होटलों का कारोबार कर रहे व्यवसायी कमल खड़का ने कहा कि लाॅकडाउन के चलते होटल यात्रियों से खाली हैं। महाकुंभ मेले को दृष्टिगत रखते हुए लीज पर होटल लिए गए थे। बैंकों से कर्जा लेकर लीज पर कई कारोबारियों द्वारा होटल को संचालित करने का काम किया गया था। लेकिन लाॅकडाउन के चलते होटल नहीं खुल पा रहे हैं। कमल खड़का ने राज्य सरकार से मांग करते हुए कहा कि लीज होटल स्वामियों को राहत देने के लिए सरकार को तीन तीन महीने का बिजली पानी का बिल माफ करना चाहिए था। साथ ही लीज पर होटल चलाने वाले व्यवसायियों से इस समय अवधि का कोई किराया ना लें। कारोबा

कालरात्रि की पूजा अर्चना कर कोरोना वायरस के खत्म होने की कामना की

हरिद्वार। चैत्रनवरात्रा के सातवे दिन श्रद्वालुओं ने घरों में ही माॅ कालरात्रि की पूजा अर्चना कर सुख-समृद्वि की कामना की। लोगों ने पूरे श्रद्वा भाव से कोरोना वायरस के संक्रमण से मानव समुदाय के रक्षा की कामना की। इस बार चैत्र नवरात्रा के दौरान श्रद्वालुओं द्वारा अपने अपने घरों में ही देवी माॅ की पूजा अर्चना की जा रही है। देशव्यापी लाॅकडाउन के कारण इस बार श्रद्वालुओं को मन्दिरों में जाने की अनुमति नही है। प्रशासन द्वारा पहले ही विभिन्न मन्दिरो में आम श्रद्वालुओं के प्रवेश पर रोक लगा दी है। आमतौर पर नवरात्रों के दौरान इन दिनों में विभिन्न देवी मन्दिरों में श्रद्वालुओं की भारी भीड़ होती रही है,लेकिन इस बार कोरोना वायरस के संक्रमण ने सभी को अपने अपने घरों में कैद रहने के लिए मजबूर कर दिया है। बुधवार को अष्टमी का पर्व पूरे श्रद्वा भाव से मनाया जायेगा,कन्या पूजन भी होगा,लेकिन इस बार कन्या पूजन सीमित अथवा संाकेतिक रूप में मनाये जाने की संभावना व्यक्त की जा रही है।संभवतः पहली बार ऐसा हो रहा है कि लोग मन्दिरों में पूजा अर्चना करने के बजाए अपने अपने घरों में शक्ति की आराधना कर रहे है। प्रसिद्व शक्त

लोकआस्था का पर्व छठ का त्यौहार घर में ही मनाया

हरिद्वार। देशव्यापी लाॅकडाउन का असर धार्मिक पर्वो,त्यौहारों पर भी पड़ा है। लाॅकडाउन के चलते पूरे देश में नवरात्र सहित तमाम पर्व लोग घरों में ही मना रहे हैं। बिहार व पूर्वांचल के लोगों का मुख्य पर्व छठ पूजा भी श्रद्धालु घरों में ही मना रहे हैं। बिहार महासभा के अध्यक्ष चंद्रकांत पांडेय ने बताया कि बिहार व पूर्वांचल के लोगों द्वारा प्रमुखता से मनाया जाने वाला छठ पर्व वर्ष में दो बार कार्तिक व चैत्र मास में मनाया जाता है। लाॅकडाउन के चलते कई दिनों तक चलने वाले इस पर्व को घरों में ही मनाया जा रहा है। श्रद्धालु अपने घरों की छत पर छठ व्रत का पूजन कर रहे हैं। 4 दिन के चलने वाले इस पर्व की शुरूआत नहाए खाए से होती है। इसके बाद लोहंडा, डूबते हुए सूर्य को जल देना और अगले दिन प्रातः सूर्योदय के उपरांत जल देकर व्रत को पूर्ण किया जाता है। लाॅकडाउन के चलते घर में ही रहकर व्रत को पूर्ण किया जा रहा है। व्रत के दौरान श्रद्धालु परिवार के लिए मंगल कामना करने के साथ कोरोना वायरस से देश को बचाने की प्रार्थना भी कर रहे हैं। अजीत कुमार ने कहा कि सूर्य देव व मां गंगा की कृपा से कोरोना वायरस के प्रकोप से देश दुनि

आर्थिक मदद पात्र व्यक्तियों को देने की मांग

हरिद्वार। कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता सुनील अरोडा ने प्रैस को जारी ब्यान मे कहा कि लाॅकडाउन के चलते विभिन्न संगठनो द्वारा दी जा रही आर्थिक मदद सही हकदार को सौपी जाए। शासन प्रशासन को ध्यान रखना होगा कि सही लोगो को आर्थिक मदद का लाभ मिल सके। कोरोना वायरस के चलते लाॅकडाउन में हजारों की संख्या मे लोग बेरोजगार हो चुके है। इस कठिन समय मे गरीब असाहय निर्धन परिवारों की मदद के लिए आगे आने की आश्यकता है। ताकि श्रमिक वर्ग अपने घरों मे रहकर  लाॅकडान का पालन भी कर सके ओर कोई भूखा भी ना रहे। सुनील अरोडा ने कहा कि काफी संख्या में लोग परेशान है। समाज सेवियों द्वारा बडे पैमाने पर प्रशासन को खाने की वस्तुओं के साथ साथ कच्ची खाद्य सामग्री भी प्रदान कि जा रही है। ताकि निर्धन परिवार अपने परिवारों का पेट भर सके। बंद के कारण दिहाडी मजदूर अपनी रोजी रोटी नही कमा पा रहे है। काॅलोनियों मलिन बस्तियों झूग्गी झोपडीयो मे निवास कर रहें लोगो को सौपी जा रही आर्थिक मदद का लाभ मिल सके। मिल जुलकर ही बडा दिल दिखाते हुए इस कठिन समय से उबरा जा सकता है। सुनिल अरोडा ने राज्य के मुख्यमंत्री से भी मांग करते हुए कहा कि दिहाडी मजद

श्रीवैश्य बंधु समाज की ओर से जरूरतमंदो को खाना वितरित

हरिद्वार। मंगलवार को श्री वैश्य बंधु समाज मध्य क्षेत्र के पदाधिकारियों ने विभिन्न स्थानों पर सड़कों पर रह रहे भिखारियों व अन्य गरीबों को खाना वितरित किया। श्री वैश्य बंधु समाज मध्य क्षेत्र हरिद्वार के संस्थापक अध्यक्ष अशोक अग्रवाल ने कहा कि कोरोना वायरस की वजह से उत्पन्न हुए इस विश्वव्यापी संकट में सभी को गरीबों की मदद के लिए आगे आना चाहिए। संकट की इस घड़ी में आपसी सहयोग व मदद बेहद जरूरी है। उन्होंने कहा कि दूसरों की दया व मदद पर निर्भर रहने वाले भिखारियों के सामने भोजन का बड़ा संकट है। इसे देखते हुए संस्था ने इनके लिए भोजन की व्यवस्था करने का बीड़ा उठाया है। संस्था की और से सड़कों पर रहने वाले भिखारियों को प्रतिदिन भोजन कराया जा रहा है। लाॅकडाउन की पूरी अवधि में यह सिलसिला निरंतर जारी रहेगा।  पूर्व मेयर मनोज गर्ग ने कहा कि गरीबों की मदद करने के साथ लाॅकडाउन का भी पूरी तरह पालन करें। कोरोना वायरस को फैलने से रोकने का सबसे अच्छा तरीका घरों में रहना है। इसलिए सभी घरों में रहें। इस दौरान संजय अग्रवाल, मनीष गर्ग, डा.अजय अग्रवाल, मयंक बंसल, विनित अग्रवाल, सुमित गोयल, गिरीश मित्तल, अंशुल अग्रवाल,

लाॅकडाउन रहने तक नही होगा तीर्थनगरी में अस्थि विसर्जन

हरिद्वार। लाॅकडाउन तक हरकी पैड़ी सहित विभिन्न गंगा घाटों पर होने वालीं अस्थि विसर्जन पर पुलिस प्रशासन ने रोक लगा दी है। हरिद्वार के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) सेंथिल अबुदई कृष्णराज एस ने बताया कि लॉकडाउन अवधि तक यह रोक जारी रहेगी। उन्होंने बताया कि जिले की सीमाएं सील कर दी गई हैं।श्रीगंगा सभा ने रोक का समर्थन करते हुए अपील की कि लोग फिलहाल तीर्थयात्रा या कर्मकांड के निमित्त हरिद्वार न आएं। जनता कफ्र्यू के बाद उत्तराखंड में लॉकडाउन लागू कर दिया गया था। हालांकि इसके बाद गंगा घाटों पर कर्मकांड कराने वालों की संख्या में कमी आई, बावजूद इसके कुछ लोग अब भी घाटों पर पहुंच रहे थे। एसएसपी के मुताबिक इनमें दूसरे राज्यों के ऐसे लोग भी शामिल हैं जिनके पास अनुमति पत्र हैं। उन्होंने कहा कि कोराना के संक्रमण को देखते हुए फैसला किया गया कि गंगा घाटों पर अस्थि विसर्जन और कर्मकांड पर पूरी तरह रोक लगाई जाए। उन्होंने कहा कि यह रोक हरिद्वार जिले के लोगों पर भी लागू होगी। हालांकि अंतिम संस्कार के लिए पहले दी गई व्यवस्था जारी रहेगी। अंतिम संस्कार में दस से ज्यादा लोग शामिल नहीं होंगे और उन्हें शारीरिक दूरी

कई झोलाछाप डाॅक्टरों की दुकाने सील

हरिद्वार। मंगलवार को ड्रग्स इंस्पेक्टर द्वारा कई स्थानों पर झोलाछाप डाॅक्टरों के खिलाफ कारवाई करते हुए 14 से अधिक झोलाछाप डाॅक्टरों के दुकानों में तालाबंदी कर दी। ड्रग्स इंस्पेक्टर का अभियान जारी रहेगा। ज्ञात रहे कि कोविड़19 कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए लाॅकडाउन तथा शासन प्रशासन द्वारा आम लोगों को लगातार जागरूक करने तथा वायरल से सम्बन्धित किसी भी लक्षण के सामने आने पर राजकीय स्वास्थ्य केन्द्र से सम्पर्क करने की अपील की जा रही है। ऐसे में झोला छाप डाॅक्टरों के खिलाफ प्रशासन की कारवाई की जा रही है।  लाॅकडाउन के उल्लघंन के आरोप में 54वाहन सीज,4गिरफ्तार हरिद्वार। लाॅकडाउन का उल्लघंन करने के आरोप में पुलिस की कारवाई मंगलवार को जारी रही। पुलिस ने उल्लघंन के आरोप में 54वाहन सीज करने के अलावा 4लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया। पुलिस के अनुसार लॉक डाउन के उल्लघंन के आरोप में अलग अलग स्थानों पर पुलिस द्वारा 54 वाहन सीज, 15 न्यायालय के चालान, धारा 188 आईपीसी में 03 व अन्य में 01 व्यक्तियों को गिरफ्तार किया गया।

प्रधानमंत्री आपदा राहत कोष के लिए सौंपा पांच लाख का चैक

हरिद्वार। कोविड19 कोरोना वायरस जैसी राष्ट्रीय आपदा की इस घड़ी में विभिन्न संस्थाओं द्वारा राहत कोष के लिए आर्थिक मदद देने का सिलसिला जारी है। इसी कड़ी में मंगलवार को बड़ा अखाड़ा उदासीन के श्री महंत दामोदर दास ने जिलाधिकारी सी रविशंकर के माध्यम से पाँच लाख रुपये की धनराशि का चैक प्रधानमंत्री आपदा राहत कोष में जमा किया। अखाड़े की सहयोगी संस्था चंद्रमादास ने इक्कीस हजार तथा दस हजार की धनराशि के दो चैक प्रधानमंत्री आपदा राहत कोष में जिलाधिकारी के माध्यम से प्रेषित किए।

अब तक प्राप्त सभी 72रिर्पोट नेगेटिव,102क्वांटाइन

हरिद्वार। लाॅकडाउन के छठे दिन जनपद में कोरोना वायरस को रोकने के लिए कुल 102लोगों को क्वांटाइन किया गया है। मेला अस्पताल में बनाये गये आइसोलेशन वार्ड में 16कोरोना संक्रमण के लक्षणों वाले लोगों को रखा गया है,जबकि रूड़की के आइसोलेशन वार्ड में 15 का उपचार जारी है। इसके अलावा अब तक 95लोगों के सैम्पल जांच के लिए भेजा गया है,जिसमें से 72सैम्पल के रिर्पोट आ चुके है,जो सभी नेगेटिव है। मुख्य चिकित्सा अधिकारी की ओर से जारी विज्ञप्ति के अनुसार कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए जिला प्रशासन के साथ साथ स्वास्थ्य विभाग द्वारा तैयारियों को अन्तिम रूप दिया जा रहा है। जनपद में अब अलग अलग स्थानों पर 102लोंगो को क्वाटाइन किया गया है,जबकि मंगलवार को 245व्यक्तियों की स्क्रीनिंग की गयी। मंगलवार को कुल 45व्यक्तियों के द्वारा शिकायतें दर्ज करायी गयी। जनपद से अब तक 95लोगों के सैम्पल जांच के लिए हल्द्वानी लैब भेजे गये है,जिनमें से अब तक 72 लोगों की रिर्पोट प्राप्त हो चुकी है,जो सभी नेगेटिव है। इसके अलावा 23लोगों के रिर्पोट का इंतजार है। 

हर जरूरतमंद तक राशन पहुचाने का प्रयास जारी-अपर जिलाधिकारी

हरिद्वार। लाॅकडाउन के दौरान किसी भी व्यक्ति को भुखा नही दिया जायेगा। जिला प्रशासन की ओर से आम लोगों से अपील की गई है कि सभी राशनकार्ड घारक अपना राशन सम्बधित राशन दुकानदार से प्राप्त कर ले, साथ ही जिनके पाास राशनकार्ड नही है,उनकों भी राशन उपलब्ध कराया जायेगा। इस सम्बन्ध में आपूर्ति के लिए नोडल अधिकारी बनाये गये अपर जिलाधिकारी ललित नारायण मिश्र ने कहा है कि किसी को भी भुखा रहने की आवश्यकता नही है। शासन के निर्देशानुसार जिला प्रशासन द्वारा लगातार जरूरतमंदों तक पहुचने का प्रयास जारी है। उन्होने कहा है कि जिनकों राशन कार्ड नही है,वे उपजिलाधिकारी अथवा  लेखपाल से सम्पर्क करे या फिर कंट्रोल रूम में शिकायत दर्ज कराये। इस सम्बन्ध में अपर जिलाधिकारी ने कहा है कि खाद्यान्न वितरण के सम्बन्ध में जिला प्रशासन द्वारा की गयी व्यवस्था के बारे में पुनः अवगत कराना है कि जिन व्यक्तियों के पास राशन कार्ड है, वह अपने राशन डीलर से अपना राशन प्राप्त करें। जिन लोगों के पास राशन कार्ड उपलबधीं नहीं है और रोजगार विहीन हो गए हैं, आपदा की स्थिति में उन्हें एसडीएम तथा लेखपालों द्वारा क्षेत्रवार राशन वितरण किया जा रहा

अपर मेलाधिकारी ने अपनी गाड़ी से गर्भवती को अस्पताल भेजा

हरिद्वार। लाॅकडाउन के दौरान आमजन को किसी भी परेशानी को दूर करने के लिए अधिकारी से लेकर पुलिसकर्मी तत्पर नजर आ रहे है,इसकी बानगी उस समय देखने को मिली जब अपर मेलाधिकारी हरबीर सिंह सड़क किनारे दर्द से कराह रही गर्भवती को देख खुद गाड़ी से नीचे उतर गए और महिला को गाड़ी में बैठाकर जिला महिला अस्पताल भिजवाया। बताया जाता है कि मंगलवार को हरबीर सिंह अपनी गाड़ी से बिल्वकेश्वर की तरफ से आ रहे थे,तभी ललतारौ पुल के पास जैसी ही पहुंचे तो सड़क किनारे दर्द से कराह रही एक गर्भवती महिला को देख उन्होंने गाड़ी को रुकवा दिया। खुद नीचे उतरकर अपने सहयोगियों के माध्यम से महिला को जिला महिला अस्पताल भिजवाया। जहां महिला को भर्ती किया गया। महिला मूल रूप से बिजनौर की रहने वाली है। परिवार बहादराबाद में रहता है। मंगलवार सुबह किसी तरह पति के साथ ललताराव पुल तक पहुंची थी और वाहन का इंतजार कर रहे थे। वहीं बीते सोमवार को जटवाड़ा पुल पर एक परिवार अपने बीमार बच्चे को अस्पताल ले जाने के लिए वाहन का इंतजार कर रहा था। बच्चे के परिवार को रोता देख वहां से गुजर रहे अपर मेलाधिकारी हरबीर सिंह ने तुरंत कार को रुकवाकर कनखल स्थित अस्पताल

निजी कार से रात्रि में निरीक्षण पर निकले एसएसपी,कई बैरियर पर पुलिसकर्मी मिले नदारद

हरिद्वार। देशव्यापी लाॅकडाउन के बाद भी तीर्थनगरी के गुपचुप तरीके से यात्रियों को ले जा रही बस को जिलाधिकारी एवं एसएसपी द्वारा सीज करने के बाद वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक पुलिस के कार्यो को जानने के लिए बीती रात सड़कों पर निकले,कई जगह पुलिसकर्मी के नही मिलने पर उन्होंने पुलिसकर्मियों को फटकार भी लगाई। प्रशासन शासन की सख्ती के बाद भी बसों के जरिये यात्रियों,लोगों को दूसरे प्रदेशों में भेजने के मामला सामने आने कें बाद एसएसपी आकस्मिक निरीक्षण पर निकल पड़े। एसएसपी के निरीक्षण के दौरान अपनी प्राइवेट कार में निरीक्षण के लिए निकल पड़े। खास बात यह रही कि एसएसपी सेंथिल अवूदई     कृष्णराज एस की कार को रास्ते में पड़ने वाले किसी भी बैरिकेट पर नहीं रोका गया। अलबत्ता श्यामपुर थाना क्षेत्र में एक दरोगा सोते हुए चेकपोस्ट पर एसएसपी को मिले। एसएसपी ने कार रोककर फटकार भी लगाई। ज्ञात रहे कि कोरोना वायरस के संक्रमण के चलते देशभर में लॉकडाउन किया गया है। जिले की सीमाएं सील कर दी गई हैं। लेकिन इसके बावजूद सीमाओं से काफी लोग पहुंच रहे हैं। पुलिस की ओर से शहर और देहात में बैरियर लगाकर पुलिसकर्मियों की ड्यूटी लगाई गई है।

पुलिस लाॅकडाउन का पालन कराने के साथ साथ सोशलडिस्टेंश का करा रही पालन

  हरिद्वार। लाॅकडाउन का लोगों को पालन कराने के लिए पुलिस द्वारा लगातार प्रयास जारी है। सोमवार को नगर के विभिन्न क्षेत्रों में जहां राशन की दुकानों पर सोशल डिस्टेंश का पालन कराते रहे,वही हर की पैड़ी पर मानवीय संवेदना दिखाते हुए भूखे लोगों को भोजना उपलब्ध कराया। सोमवार को भी विभिन्न संगठनों तथा लोगों द्वारा जरूरतमंदो तथा असहायों को भोजन का पैकेट उपलब्ध कराने का सिलसिला जारी रहा। कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए केन्द्र सरकार द्वारा 21दिनों का लाॅक डाउन किये जाने के बाद पुलिस प्रशासन द्वारा लगातार लोगों से लाॅकडाउन का पालन कराने का प्रयास कर रही है। पुलिस द्वारा नगर के विभिन्न क्षेत्रों में सोशल डिस्टेंश का पालन कराने के अलावा सड़क पर पैदल चलने वालों से पूछताछ कर उन्हें भी हर संभव मदद पहुचाने का प्रयास कर रही है। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक लगातार क्षेत्रों का भ्रमण कर स्थिति का जायजा लेते हुए अधिनस्थों को लगातार निर्देश दे रहे है। जबकि विभिन्न थाना एवं चैकी पुलिस द्वारा मानवीय संवेदनाओं का ध्यान रखते हुए जरूरतमंदो को भोजना उपलब्ध कराने का कार्य भी किया जा रहा है।

लाॅकडाउन के खिलाफ पुलिस कारवाई 27वाहन सीज,17गिरफ्तार

हरिद्वार। पुलिस प्रशासन द्वारा लगातार लाॅकडाउन का उल्लघंन करने वालों के खिलाफ कारवाई तेज हो गई है। सोमवार को पुलिस ने लॉक डाउन के आरोप में 27 वाहन सीज करने के अलावा 29 न्यायालय के चालान, धारा 151 में एक तथा अन्य 17 व्यक्तियों को गिरफ्तार किया। नगर कोतवाली पुलिस द्वारा बाल्मिकी चैक से फूल सिंह पुत्र हरिदास नि0 ब्रहमपुरी गुजराती बस्ती ,अशरफ उर्फ सोनू पुत्र अकरम नि0 मौ0हज्जावान ज्वालापुर ऋषिकुल तिराहा सेपूरण सिंह पुत्र मंगल सैन नि0 म0न0 103 विकास काॅलोनी गली न0 ऋषिकुल तिराहा से लाल सिंह पुत्र तिलकराम नि0 जगजीतपुर शांतिपुरम कनखल के अलावा कनखल पुलिस द्वारा जोगेन्द्र पुत्र जगन्नाथ निवासी कृष्णानगर कनखल के अलावा बहादराबाद पुलिस द्वारा सतीश कुमार पुत्र प्रीतम ंिसह नि0 रोहालकी रोड तथा आसिफ पुत्र इन्दाद नि0 दादूपुर गोविन्दपुर के अलावा विपिन पुत्र नरेन्द्र चैरसिया आदि के खिलाफ कोरोना वायरस संक्रमण के सम्बन्ध में लोक सेवक द्वारा निर्गत आदेशों का उल्लंघन करने के आरोप में मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तार किया। इसके अलावा रूड़की पुलिस ने 4,झबरेड़ा एवं भगवानपुर पुलिस ने एक एक को गिरफ्तार किया। 

कोरोना वायरस को दूर करने हेतु यज्ञ जारी

हरिद्वार। श्री अखण्ड परशुराम अखाड़े के अध्यक्ष पंडित अधीर कौशिक के आवास पर कोरोना से देश को मुक्ति दिलाने के उद्देश्य से किए जा रहे यज्ञ के छठे दिन मां कात्यायनी की पूजा अर्चना कर देश को संकट से मुक्ति दिलाने तथा कोरोना वायरस को समाप्त करने की प्रार्थना की गयी । पंडित अधीर कौशिक ने कहा कि मां भगवती की कृपा से जल्द ही कोरोना वायरस का प्रकोप समाप्त होगा। दुनिया पर छाया महामारी का खतरा दूर होगा। उन्होंने कहा कि बीमारी से बचने के लिए अनुष्ठान जरूरी हैं। नवरात्रों में सभी को घरों में रहकर मां भगवती के निमित्त यज्ञ हवन करना चाहिए। उन्होंने कहा कि यज्ञ कुण्ड से उठने वाला धुंआ वातावरण को शुद्ध करता है। यज्ञ धुआं कोरोना वायरस को भगाने का भी सबसे सशक्त माध्यम है। मां के सभी स्वरूपों की पूजा करने से कोरोना वायरस अवश्य ही देश से समाप्त होगा। हिंदू संस्कृति में यज्ञ पौराणिक काल से ही होते चले आ रहे हैं। आसुरी शक्तियों को दूर भगाने के लिए भी ऋषि मुनियों द्वारा यज्ञ किए जाते थे। आचार्य पंडित विष्णु शर्मा ने कहा कि पंडित अधीर कौशिक के आवास पर किया जा रहा यज्ञ अवश्य ही मानव जाति के लिए कल्याणकारी सिद्ध

दिहाड़ी मजदूरों को राशन दे रहे समाजसेवी शहाबुद्दीन अंसारी

हरिद्वार। समाजसेवी शहाबुद्दीन अंसारी द्वारा गरीब असहाय निर्धन परिवारों को लाॅकडाउन जैसी स्थिति से उबारने के लिए राशन वितरित किया जा रहा है। सभी वर्गो के लोगों को चीनी, आटा, दाल, तेल, चाय पत्ती, वितरित कर लाॅकडाउन का पालन करने के लिए भी प्रेरित किया जा रहा है। अपने आवासीय कार्यालय से सैकड़ों लोगों को खाद्य सामग्री वितरित की जा रही है। पार्षद नीलोफर भी इस पुण्य कार्य में अपना सहयोग प्रदान कर रही है। शहाबुद्दीन अंसारी ने बताया कि अपने क्षेत्र के गरीब मजदूर असहाय निर्धन परिवारों को खाद्य सामग्री वितरित किया जा रहा है। कोरोना वायरस देश दुनिया में महामारी का रूप ले चुका है। ऐसे में जागरूकता ही जरूरी है। सभी लोगों को अपने घरों में रहना चाहिए। सरकार के दिशा निर्देशों का पालन निष्ठा से करना होगा। तभी हम कोरोना वायरस को दूर भगा सकते हैं। 

फूल प्रसाद बेचने वालों को भी छूट देने की मांग

हरिद्वार। शासन-प्रशासन द्वारा आम जनता को लॉकडाउन का पालन इच्छाशक्ति के साथ कराया जा रहा है। वहीं धर्मनगरी हरिद्वार में घाटों, मठ मंदिरो व सार्वजनिक स्थलों पर फूल प्रसाद बेचकर अपना जीवन व्यापन करने वाले व्यापारियों को अगर देखें तो उन्हें लॉकडाउन के प्रथम सप्ताह के उपरांत पारिवारिक, आर्थिक कंगाली से गुजरना पड़ रहा है। फूल प्रसाद विक्रेता संघ के अध्यक्ष ओमप्रकाश भाटिया ने कहा शासन-प्रशासन को चाहिए कि जिस प्रकार से 7 बजे से 1 बजे तक खाद्य सामग्री, दवाइयों की दुकान फल फ्रूट इत्यादि क्षेत्रो की दुकानों को खोलने की अनुमति दी गयी है। उसी के तर्ज पर हिन्दू के पावन पर्व नवरात्रों के दृष्टिगत हमे भी फूल प्रसाद बेचने की अनुमति 7 बजे से 1 बजे तक दी जानी चाहिए। ताकि हम अपनी रोजी रोटी चलाकर अपने परिवार का पालन पोषण कर सकें और सरकारी संरक्षण में हमारी स्वास्थय की भी देखरेख हो सके। लघु व्यापार एसो. के प्रांतीय अध्यक्ष संजय चोपड़ा ने कहा कि प्रशासन को संज्ञान में लेकर फूल विक्रेताओं को भी 7 बजे से 1 बजे तक फूल प्रसाद बेचने की अनुमति राष्ट्रीय आजीविका मिशन के तहत दी जानी चाहिए। चोपड़ा ने यह भी कहा अभी नवरात

सुराज सेवादल ने वन गुर्जरों को राशन वितरित किया

हरिद्वार। कोरोना वायरस फैलने के कारण किये गये लाॅकडाउन में वनगुर्जरों को आ रही समस्या और खाने पीने मे हो रही दिक्कतों के बीच सुराज सेवादल संस्था के अध्यक्ष रमेश चंद जोशी ने गैंडीखाता के 40 गरीब परिवारों को गोद लेकर उनके लिए भोजन की व्यवस्था करने की जिम्मेदारी ली है। सोमवार को सभी परिवारों को राशन वितरित किया गया। कांगड़ी गांव के पास झुग्गी झोपड़ी डालकर निवास कर रहे मजदूर परिवारों को व गैंडीखाता गुर्जर बस्ती में असहाय विकलांग बेरोजगार परिवार को राशन वितरित किया गया। रमेशचंद जोशी ने बताया कि लाॅकडाउन के दौरान तथा स्थिति सामान्य होने तक सभी गरीबों को राशन दिया जाएगा। उन्होंने सभी लोगों से अपील करते हुए कहा कि संकट की इस घड़ी में सभी को गरीबों की मदद के लिए आगे आना चाहिए। लाॅकडाउन में नियमों का पालन करते हुए अपने घरों से बाहर ना निकले। कोरोना वायरस के कारण उत्पन्न हुई इन परिस्थितियों में वह गरीबों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़े हैं। इस मौके पर शीशपाल पोखरियाल, राजीव राणा, रमेश चंद जोशी, मोहम्मद शफी लोधा, उमेद सिंह नेगी आदि लोग उपस्थित रहे।

समस्या है तो पुलिस हेल्पलाईन नंबर पर करे सम्पर्क

हरिद्वार। कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए किए लाॅकडाउन के दौरान आम जनता को सहायता पहुंचाने के लिए पुलिस प्रशासन की ओर से हेल्पलाईन नंबर जारी किया गया है। नगर नियंत्रण कक्ष में स्थापित हेल्पलाईन नंबर (01334 265877) पर सपंर्क कर कोई भी आम नागरिक कोरोना वायरस लाॅकडाउन से संबंधित किसी भी प्रकार की समस्या उत्पन्न होती है तो वह उपरोक्त नंबर पर किसी भी समय सूचना दे सकता है। आम जनता की सुविधा के लिए नंबर 24 घंटे खुला रहेगा। इसके अलावा वरिष्ठजनांे के लिए पुलिस द्वारा पहले ही सीसीआर में विशेष प्रकोष्ठ का गठन कर चुकी है,जिसके लिए किसी भी वृद्वजन को कोरोना वायरस के सम्बन्ध में किसी प्रकार समस्या होती है तो मोबाइल 9045455750 पर सम्पर्क कर सकते है। 

रोजगार में उम्मीद में आये,लाॅकडाउन ने सपने को रोका,अब भटकने को मजबूर

  हरिद्वार। कोरोना वायरस ने न केवल लोगों को एक दूसरे से दूर रहने पर मजबूर कर दिया है,बल्कि कई लोगों की जिन्दगी की दुश्वारियों को बढ़ाने का कार्य किया है,यही वजह है कि रोजगार की उम्मीद में आये युवक सड़को पर भटक रहे है,तो कम्पनी बंद होने से घर जाने की उम्मीद में चला युवाओं का दल मन्जिल तक पहुचने से पहले ही बीच रास्ते में अटकने पर मजबूर हो गया। इन दिनों तीर्थनगरी की सड़कों पर इस तरह के कई युवाओं को आप भटकते हुए देख सकते है। दरअसल नौकरी की तलाश में हरिद्वार आए उ.प्र.के गाजीपुर के तीन युवक लाॅकडाउन होने पर हरिद्वार में फंस गए हैं। तीनों युवक जनता क्रॅफ्यू लगने से दो दिन पहले हरिद्वार आए थे। गाजीपुर से नौकरी की तलाश में आए अजय, राधेमोहन पाण्डेय व अच्छेलाल यादव ने बताया कि वे तीनों आईटीआई प्रशिक्षित हैं तथा नौकरी की तलाश में हरिद्वार आए थे। जनता क्रफ्यू लागू होने से एक दिन पहले उन्होंने सिडकुल की राॅकमैन कंपनी में बायोडाटा जमा कराया। अगले दिन जनता क्रफ्यू की घोषणा कर दी गयी। फिर लाॅकडाउन के बाद से वे सड़कों पर भटक रहे हैं। घर जाना चाहते हैं लेकिन कोई साधन नहीं मिल रहा है। अच्छी बात यह है कि हरिद

गायत्री परिवार प्रमुख ने हर संभव सहयोग करने का दिया आश्वासन

हरिद्वार। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सोमवार दोपहर में वीडियो क्रांफ्रेसिंग के माध्यम से गायत्री परिवार प्रमुख डॉ. प्रणव पण्ड्या से चर्चा की। करीब दस मिनट चली इस चर्चा के दौरान डॉ पण्ड्या ने कोरोना वायरस से लड़ने के लिए हरसंभव सहयोग करने का अपना वादा दोहराया। प्रधानमंत्री श्री मोदी ने डॉ. पण्ड्या से आग्रह करते हुए कहा कि आप स्वयं एक फिजियिशन भी है और वैज्ञानिक होने के नाते हुए इस बीमारी से बचने के लिए वैज्ञानिक तरीके से जनमानस को अवगत कराये। इस अवसर पर डॉ. पण्ड्या ने अपने मनोचिकित्सा एवं आध्यात्मिक चिकित्सा के प्रयोगों पर द्वारा लोगों के मन में संचारित उत्साह की जानकारी भी दी। गायत्री परिवार प्रमुख डा. पण्ड्या ने बताया कि प्रधानमंत्री ने कोरोना वायरस जैसे महामारी से लड़ने में गायत्री परिवार से सहयोग माँगा। इसके साथ ही देशभर में फैले गायत्री परिवार के पाँच हजार से अधिक प्रज्ञा संस्थानों द्वारा कोरोना वायरस के मद्देनजर फँसे लोगों में भोजन पैकेट पहुंचाने तथा मुख्यमंत्री राहत कोष एवं प्रधानमंत्री राहत कोष में आर्थिक रूप से किये जा रहे सहयोग से अवगत कराया। प्रधानमंत्री श्री मोदी ने गायत्री

पतंजलि योगपीठ की ओर से प्रधानमंत्री राहत कोष में 25 करोड़

हरिद्वार। कोरोना वायरस के संक्रमण जैसे संकट से निपटने के लिए पतंजलि योगपीठ ने प्रधानमंत्री राहत कोष में 25 करोड़ रूपए देने की घोषणा की है। कनखल स्थित दिव्य योग मंदिर में पत्रकार वार्ता के दौरान 25 करोड़ रूपए देने की घोषणा करते हुए योग गुरू बाबा रामदेव ने बताया कि पतंजलि योगपीठ के सभी कर्मचारी भी पीएम राहत कोष में एक दिन का वेतन देंगे। उन्होंने कहा कि पतंजलि योगपीठ से जुड़ी सभी संस्थाएं इस आपातकालीन स्थिति में मदद करने के लिए तैयार हैं। देश भर के पांच पतंजलि संस्थानों में डेढ हजार आईसोलेशन बैड की व्यवस्था करने का प्रस्ताव प्रधानमंत्री को दिया गया है। इसके अतिरिक्त कोरोना प्रभावितों के लिए भोजन व आवास की व्यवस्था भी की जाएगी। देश भर में फैले पतंजलि के लाखों स्वयंसेवी इस आपात स्थिति में सहायता करने को तत्पर हैं।          बाबा रामदेव ने कहा कि कोरोना के ईलाज के लिए आयुर्वेदिक दवा खोजने का प्रयास भी किया जा रहा है। इसके लिए रिसर्च जारी है। उन्होंने दावा किया कि योग, प्राणायाम व आयुर्वेदिक उपचार के जरिए कोरोना पाजीटिव एक मरीज को ठीक भी किया गया है। उपचार के बाद उसकी रिपोर्ट नेगेटिव आयी है। उन्

श्रमिकों का व्यवस्था नही करने वाले 56कम्पनी ठेकेदारों के खिलाफ मुकदमा दर्ज

हरिद्वार। लाॅकडाउन के बावजूद कामगारों को कम्पनी से हटाने तथा सरकार द्वारा निर्देश के बाद भी कामगारों के लिए रहने तथा खाना देने की व्यवस्था नही करने के मामले में पुलिस ने आपदा अधिनियम के तहत 56 कम्पनी ठेकेदारों के खिलाफ थाना सिडकुल पुलिस ने सम्बन्धित धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है। इस सम्बन्ध में नामजद मुकदमा दर्ज किया गया है। पुलिस के अनुसार सिडकुल क्षेत्र से भारी मात्रा में विभिन्न कम्पनियों में कार्यरत श्रमिकों को पुलिस द्वार चण्डी चैक पर रोक कर पूछताछ की गयी तो कई श्रमिकों ने बताया कि कम्पनी में कार्य न होने के कारण तथा सम्बन्धित ठेकेदारों द्वारा उनके प्रवास/खाने पीने की कोई व्यवस्था न किये जाने पर अपने-अपने गन्तव्य को जा रहे है। श्रमिकों के आरोपों के बाद सिडकुल पुलिस ने विभिन्न कम्पनी ठेकेदारों द्वारा श्रमिकों के ठेकेदारों द्वारा उनके प्रवास/खाने पीने की व्यवस्था न किये जाने मुकदमा दर्ज किया है। पुलिस का कहना है कि वर्तमान मे लागू धारा 144 द0प्र0सं0 लागू है तथा कम्पनी के ठेकेदारों को स्पष्ट रुप से पूर्व में शासन / प्रशासन द्वारा लाँक डाउन व धारा 144 द0प्र0सं0 में अपने कामगारों को ज

अब 72 रिर्पोट प्राप्त,सभी नेगेटिव,44 को किया क्वांटाइन

हरिद्वार। जनपद के लिए फिलहाल राहत की बात यह है कि कोरोना के लक्षणों के आधार पर जिन 72 लोगों के सैम्पल जांच के लिए भेजे गये थे,सभी की रिर्पोट आ चुकी है और सभी 72नेगेटिव पाये गये है। इसके अलावा सोमवार को कुल 44लोगों को अलग अलग स्थानों पर क्वांरटाइन किया गया है। मुख्य चिकित्सा अधिकारी की ओर से जारी विज्ञप्ति के अनुसार फिलहाल मेला अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में 11 लोगों को रखा गया है,जबकि रूड़की के राजकीय संयुक्त चिकित्सालय में 5 को लक्षणों के आधार पर आइसोलेशन में रखा गया है। सोमवार को 318 लोगों की स्क्रीनिंग की गई। 44लोगों द्वारा दर्ज कराये गये शिकायतों के आधार पर भी कारवाई की गई। इसके अलावा शिवालिक नगर गेस्ट हाउस में 5 लोगों को, जिनमें चार हरियाणा तथा एक अहमदाबाद के है को क्वांटाइन किया गया है। इसके अलावा रूड़की जोन में 19व्यक्तियों को सीबीआरआई गेस्ट हाउस में क्वांटाइन किया गया है। इसके अलावा सिंचाई विभाग के गेस्ट हाउस में 6 तथा 13अन्य को अलग चिन्हित किये गये स्थानों पर क्वांटाइन किया गया है। इसके अलावा सोमवार को एक 75साल के बुर्जुग को खाॅसी और बुखार होने के कारण मेला अस्पताल के आइसोलेशन वा

प्रभारी मंत्री सतपाल महाराज ने अधिकारियों के साथ बैठक कर लिया व्यवस्थाओं का जायजा

हरिद्वार। राज्य के पर्यटनमंत्री सह जनपद प्रभारी मंत्री ने कोविड19-कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए जिला प्रशासन द्वारा बांटी जा रही राहत सामग्री तथा नकद धन राशि के लिए दुरस्त प्रणाली और रिर्काड मेंटेन करने के निर्देश दिये। उन्होंने ऐसी आपदा की घड़ी में फोन बंद रखने वाले अधिकारियों को भी चेतावनी दी। उन्होंने कहा कि लोग संकट की घड़ी में अध्ािकारियों को फोन कर रहे हैं और अधिकारी लोगों के फोन नहीं उठा रहे हैं, ऐसे अधिकारियों के विरूद्ध निश्चित कार्रवाई की जायेगी। उन्होंने ऐसे अधिकारियों को प्रतिकूल प्रविष्टि की बात भी कही। प्रभारी मंत्री सोमवार को अपने आश्रम में कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव एवं जिला प्रशासन द्वारा किये जा रहे प्रयासों की समीक्षा की। समीक्षा बैठक में प्रभारी मंत्री सतपाल महाराज ने जिलाधिकारी, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, सीएमओ से उठाये गये कदमों के बारे में जाना। बैठक में जनपद के समस्त विभागीय अधिकारी मौजूद रहे। बैठक में प्रभारी मंत्री ने जिलाधिकारी और सीएमओ से जिले में कुल आईसोलनेशन वार्ड, क्वांरटीन सुविधा, सैम्पल जांच की प्रक्रिया और लगने वाले समय आदि की जानकारी ली। बैठक

आपदा की इस घड़ी में सभी अखाड़ो,धार्मिक संस्थाओं से मदद का आहवान

हरिद्वार। अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीमहंत नरेंद्र गिरी महाराज ने कोरोना संकट में सभी अखाड़ों, आश्रमों, धार्मिक व सामाजिक संस्थाओं से गरीबों की मदद के लिए आगे आने की अपील की है। प्रैस के माध्यम से जारी अपील में श्रीमहंत नरेंद्र गिरी महाराज ने कहा कि कोराना वायरस का संक्रमण फैलने से पूरी दुनिया इस महामारी के खतरे से जूझ रही है। भारत में इस वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए सरकार को लाॅकडाउन का निर्णय लेना पड़ा। लाॅकडाउन होने से सबसे ज्यादा दिक्कत गरीब मजदूरों को उठानी पड़ रही है। जगह-जगह शहरों में विभिन्न प्रदेशों के हजारों मजदूर फंसे हुए हैं। घर से दूर शहरों में फंसे इन मजदूरों को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। हरिद्वार में भी विभिन्न औद्योगिक संस्थानों में काम करने वाले मजदूर, रिक्शा चालक फंसे हुए हैं। घाटों पर रहने वाले फक्कड़ साधु, भिखारियों को भी भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। संकट के इस समय में असहाय स्थिति में फंसे लोगों की मदद करना सबका दायित्व है। ऐसे में अखाड़ों, आश्रमों, धार्मिक व अन्य सामाजिक संस्थाओं को आगे आकर गरीबों को भोजन व अन्य सह

अब तक आये 62 रिर्पोट नेगेटिव,752आइसूलेशन वार्ड आरक्षित

हरिद्वार। कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए स्वास्थ्य विभाग द्वारा तैयारियां तेज कर दी गई है। जनपद में फिलहाल सरकारी के साथ साथ निजी अस्पतालों में कुल मिलाकर 752 आइसूलेशन बेड आरक्षित करने के सम्बन्ध में कारवाई कर दी है। इसके अलावा जनपद के लिए राहत की बात यह है कि अब तक 72 सैम्पल जांच के लिए भेजी गई,जिनमें से 62 सैम्पल के रिपोट आ चुके है,जो कि सभी नेगेटिव है। अभी दस लोगों के रिर्पोट आना बाकी है। इसके अलावा वर्तमान में मेला चिकित्सालय में बनाये गये आइसूलेशन वार्ड में 2 तथा राजकीय संयुक्त चिकित्सालय के आइसूलेशन वार्ड में 5 रोगियों को लक्षण के आधार पर रखा गया है। मुख्य चिकित्सा अधिकारी की ओर से भेजे गये प्रेस नोट के मुताबिक रविवार को जनपद में 295 लोगों की स्क्रीनिंग की गई। जबकि कंट्रोल रूम को प्राप्त 17 शिकायतों के सापेक्ष त्वरित कारवाई की गयी। 

राशन की दुकानों पर पुलिस ने कराया सोशल डिस्टेंशन का पालन

हरिद्वार। कोविड़ 19 कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए लागू किये गये 21दिनों के लाॅकडाउन में तीन महीने का राशन लेने के लिए सरकारी सस्ते गल्ले की दुकानों पर लगातार भीड़ उमड़ रही है। राशन लेने आये लोगों को कई दुकानों के आगे आयी भीड़ को संभालने के लिए पुलिस को हस्तक्षेप करना पड़ रहा है। राशन लेने की हड़बड़ी में लोग सोशल डिस्टेंश का पालन भी नहीं कर रहे हैं। जरूरी सामान की दुकानें खोले जाने का समय बढ़ाए जाने से किराना, दूध, दवा आदि की दुकानों पर अब हड़बड़ी वाले हालात नहीं है। लेकिन सरकारी सस्ते गल्ले की दुकानों से तीन महीने का राशन लेने के लिए लोग बेहद हड़बड़ी दिखा रहे हैं। हालांकि सस्ता गल्ला दुकानदार सभी को राशन दिए जाने की बात कहकर लोगों को आश्वस्त कर रहे हैं। लेकिन हर कोई पहले राशन लेना चाहता है। जिससे लोगों में आपाधापी मची हुई है। रविवार को मौहल्ला कड़च्छ स्थिति राशन की दुकान पर राशन लेने आए लोगों की भीड़ को संभालने के लिए पुलिस बुलानी पड़ी। राशन डीलर सतेंद्र कुमार व क्षेत्र के समाजसेवी मेहरचंद ने पुलिस का सहयोग करते हुए बड़ी मुश्किल से लोगों को समझाया। मेहरचंद ने लोगों को समझाते हुए कहा कि धैर्य

उत्तरांचल पंजाबी महासभा की ओर लगातार उपलब्ध कराये जा रहे खाने के पैकेट

हरिद्वार। लाॅकडाउन में गरीबों को खाना उपलब्ध कराने के लिए तमाम संस्थाएं आगे आ रही हैं। उत्तरांचल पंजाबी महासभा की और से प्रतिदिन ढाई हजार लोगों को खाने के पैकेट वितरित किए जा रहे हैं। संस्था की ओर से नगर क्षेत्र के ज्वालापुर रेलवे स्टेशन, रेलवे फाटक, भगत सिंह चैक, रानीपुर मोड़, बस स्टैण्ड, रेलवे स्टेशन, चण्डी चैक, रामनगर, शिवालिक नगर के अलावा सराय, जगजीतपुर, रावली महदूद आदि ग्रामीण क्षेत्रों में निरंतर लोगों को खाना उपलब्ध कराया जा रहा है। संस्था के स्वयंसेवी सड़कों पर घूम घूम कर गरीबों को खाना पहुंचा रहे हैं। गरीबों को खाना पहुंचाने की इस मुहिम में दर्जनों युवा लगे हुए हैं। उत्तरांचल पंजाबी महासभा के गढ़वाल मण्डल प्रभारी सुनील अरोड़ा ने बताया कि लाॅकडाउन की पूरी अवधि में गरीबों को मदद पहुंचाने के लिए संस्था की मुहिम जारी रहेगी। शहर में किसी भी मजदूर, गरीब को भूखा नहीं रहने दिया जाएगा। सुनील अरोड़ा ने बताया कि माता वैष्णों देवी स्कूल व मंदिर की ओर से प्रतिदिन खाने के 101 पैकेट संस्था को उपलब्ध कराए जा रहे हैं। जिला अध्यक्ष अमर कुमार कुमार तथा वरिष्ठ उपाध्यक्ष प्रवीण कुमार ने कहा कि संकट के

यात्रियों तथा पुलिसकर्मियों की सेवा में जुटी शिवशक्ति सेवा समिति

हरिद्वार। कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए लागू की गई की लाॅकडाउन के कारण धर्मनगरी में फंसे पर्यटकों तथा जरूरतमंदो को भोजन उपलब्ध कराने के लिए शिव शक्ति सेवा समिति संस्था भी जुट गई है। संस्था के अध्यक्ष देवेंद्र शर्मा ने बताया कि लाॅकडाउन के दौरान 14 अप्रेल तक यात्रियों और पुलिस कर्मियों के सहयोग के लिए उन्हें सेनेटाइजर, मास्क सहित भोजन भी उपलब्ध कराया जाएगा। हरिद्वार में पुलिस प्रशासन पूरी तरह मुस्तैदी से अपनी ड्यूटी को अंजाम दे रहा है। ड्यूटी के दौरान विभाग के लिए सभी पुलिस कर्मियों को भोजन उप्लब्ध करवाना बड़ी चुनोती है। उन्होंने कहा कि समिति यात्रियों को भोजन उपलब्ध कराने के साथ पुलिसकर्मियों को अल्पाहार भी निरंतर उपलब्ध कराएगी। देवेंद्र शर्मा का कहना है इस संकट की घड़ी में सभी को एकजुट होकर केंद्र और राज्य सरकारों की गाइडलाइन का ध्यान रखते हुये सेवा कार्य मे सहयोग करना चाहिए। बाबा बलराम दास हठयोगी ने कहा बड़ी संख्या में लोग सैकड़ो किलोमीटर की पैदल यात्रा कर कर अपने घरों को लौट रहे हैं। इस बड़ी आपदा के दौरान सभी लोगो को जनसेवा में सहयोेग करना चाहिये। लोगों की तकलीफ को देखते हुए सं

किन्नर समाज भी आर्थिक रूप से कमजोर लोगों की सहायता के लिए आगे आया

हरिद्वार। अक्सर जिस किन्नर समाज को आपने बधाई मांगते हुए या तीज त्योहारों पर लोगों, दुकानदारों से पैसे मांगते हुए देखा होगा। परन्तु आज विपदा की इस घड़ी में किन्नर समाज भी आर्थिक रूप से कमजोर लोगों की सहायता के लिए आगे आया है। ज्वालापुर में किन्नर समाज की अध्यक्षा रानी गुजरी ने व्यापारी नेता व आम आदमी पार्टी के महासचिव संजय मेहता से मुलाकात की और उनके सराहनीय कार्यों के लिए बधाई देते हुए इच्छा जाहिर की। संजय मेहता ने सहर्ष अपनी टीम व किन्नर समाज की अध्यक्षा के साथ विचार विमर्श किया किन्नर समाज, आम आदमी पार्टी की जिला अध्यक्ष हेमा भंडारी, रानीपुर विधानसभा क्षेत्र के महासचिव संजय मेहता, जिला सचिव अनिल सती व जन जागरण विकास मंच की अध्यक्षा सरिता सिंह, व्यापारी नेता सुबोध बंसल, अनूप मेहता, विनय क्षेत्री, स्थानीय पार्षद शशिकांत वशिष्ट एक टीम बनाकर ऐसे लोगों को जो दिहाड़ी, मजदूरी करते हैं तथा जिनकी रोजी-रोटी, रोज काम करने से ही चलती है व ऐसे लोगों को जिनके पास राशन नहीं है ऐसे लोगों के घर राशन पहुंचाएंगे। जिसके लिए किन्नर समाज ने पचास हजार रूपए की धनराशी आम आदमी पार्टी के महासचिव संजय मेहता को दी

उपभोक्ताओं को मिलेगी गैस सिलेण्डर होम डिलीवरी की सुविधा

हरिद्वार। भारत गैस की अधिकृत एजेंसी पुष्पक गैस सर्विस सिंहद्वार कनखल ने उपभोक्ताओं की सुविधा के लिए कोरोना वायरस के कारण हुई लॉक डाउन को देखते हुए हर उपभोक्ता के लिए होम डिलीवरी शुरू कर दी है। यह जानकारी देते हुए पुष्पक गैस एजेंसी के संचालक राजीव गुप्ता ने बताया कि जिला अधिकारी हरिद्वार के आदेश जिला पूर्ति अधिकारी के माध्यम से गैस एजेंसी को मिले हैं कि सभी उपभोक्ताओं को गैस की सप्लाई उनके घरों में ही की जाए, इसके लिए एजेंसी ने संपर्क करने के लिए सुबह 9ः30 बजे से शाम 5ः00 बजे तक  9411545654 तथा 9420456789 तथा 24 घंटे गैस की बुकिंग 7715012345,7710955555 तथा 7718012345 इन नंबरों पर उपलब्ध रहेगी। उन्होंने कहा कि लॉक डाउनलोड सफल बनाने के लिए जनहित में किसी को भी अब गैस लेने के लिए एजेंसी के कार्यालय में नहीं आना पड़ेगा और जिलाधिकारी के आदेशों का पालन करते हुए एजेंसी ने यह निर्णय लिया है कि वह तुरंत उपभोक्ताओं को गैस उपलब्ध कराएगी। उन्होंने लोगों से अपील की कि वे इस कठिन दौर में प्रशासन और एजेंसी का सहयोग करें।

लाॅकडाउन के उल्लघंन के आरोप में 35वाहन सीज,18 को किया गिरफ्तार

हरिद्वार। पुलिस ने लॉक डाउन के उल्लघंन के आरोप 35 वाहन सीज करते हुए 15 वाहनों को न्यायालय के चालान, तथा धारा 188 आईपीसी में 08 व अन्य में 10 व्यक्तियों को गिरफ्तार किया गया। दूसरी ओर कोतवाली रानीपुर पुलिस ने लिफट् देने के मामले में बस चालक के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया। बस चालक ने किसी भी यात्री से पैसे नहीं मांगे। पुलिस ने पहले तो बस सीज की और फिर उसके बाद चालक के खिलाफ लॉकडाउन उल्लंघन का मुकदमा भी दर्ज किया। नगर पुलिस की ओर से कोतवाली ज्वालापुर पुलिस ने पांच और नगर कोतवाली में चार मुकदमे दर्ज किए हैं। पुलिस के अनुसार कोतवाली ज्वालापुर क्षेत्रान्गर्त धीरवाली निवासी संतोष पुत्र भगवत सिडकुल की एक कंपनी में बस चालक है। रविवार को संतोष बस लेकर कर्मचारियों को छोड़ने जा रहा था। इस बीच कुछ यात्री पैदल जाते बस चालक को मिले तो उसने बस यात्रियों की मदद के लिए रोक ली। रानीपुर पुलिस ने फाउंड्री गेट के सामने बस को पकड़ लिया और पहले बस सीज की, फिर चालक के खिलाफ लॉकडाउन उल्लंघन का मुकदमा दर्ज किया। उधर नगर कोतवाली पुलिस ने ब्रह्मपुरी में कपड़े की दुकान खोलने में फूल सिंह पुत्र हरिदास निवासी ब्रह्मपुरी ह

एसएसपी के औचक निरीक्षण में मौके पर नही मिले पुलिसकर्मी,दी चेतावनी

हरिद्वार। लॉकडाउन के दौरान दी गई छूट के दौरान एसएसपी ने आकस्मिक निरीक्षण कर ड्यूटी स्थल से गायब चार पुलिसकर्मियों को चेतावनी देकर छोड़ दिया। रविवार को जिस समय लाॅकडाउन में छूट यानि सुबह 7 बजें से दोपहर एक बजे के दौरान एसएसपी सेंथिल अवूदई कृष्ण राज एस ने क्षेत्र का औचक निरीक्षण करने निकले। इस दौरान एसएसपी को चार पुलिसकर्मी ड्यूटी से गायब मिले। एसएसपी ने गायब चारों पुलिसकर्मियों को सस्पेंड करने के आदेश सेट पर जारी कर दिए। शाम होते-होते एसएसपी ने चारों पुलिसकर्मियों को चेतावनी देकर यह कहते हुए छोड़ दिया कि दोबारा इस तरह की गलती मिलने पर उन्हें सस्पेंड किया जाएगा।रविवार सुबह 7ः00 बजे से लेकर दोपहर 1ः00 बजे तक लॉकडाउन में खरीदारी की छूट दी गई है। इस बीच करीब 7 बजे एसएसपी रोशनाबाद से क्षेत्र के निरीक्षण के लिए निकल पड़े। पहले सिडकुल रानीपुर और फिर ज्वालापुर क्षेत्र में एसएसपी निरीक्षण के लिए पहुंचे। चंद्राचार्य चैक पर उन्होंने पाया कि मौके पर कोई भी पुलिसकर्मी ड्यूटी नहीं कर रहा था। जबकि शनिवार रात 8ः00 बजे से लेकर रविवार सुबह 9ः00 बजे तक के लिए दारोगा अनिल बिंजोला, कांस्टेबल तुलसी, जसपाल और नी

एसएसपी ने क्षेत्र का भ्रमण कर स्थिति की समीक्षा,दिए निर्देश

हरिद्वार। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सेंथिल अवूदई कृष्ण राज एस ने देर शाम नगर क्षेत्र का भ्रमण कर स्थिति का जायजा लिया। इस दौरान उन्होने लॉक डाउन के मददे्नजर ड्यूटी पर नियुक्त पुलिस अधिकारियों तथा पुलिसकर्मियों की समस्याओं को जाना। इस दौरान उन्हें समय पर ड्यूटी के दौरान भोजन पानी आदि की व्यवस्था के बारे में जानकारी ली। एसएसपी ने ड्यूटी पर नियुक्त पुलिस बलों को अपने स्वास्थ्य के साथ-साथ जनता की पूर्ण रूप से सेवा करने के निर्देश दिए। उन्होने अधिनस्थों से कहा है कि लॉक डाउन के पालन कराने के सम्बन्ध में जो आदेश निर्देश प्राप्त हो रहे है,ं उनके अनुसार कार्यवाही करे। एसएसपी ने  ड्यूटी पर नियुक्त ड्यूटी प्रभारियों को निर्देश दिए कि कोई भी अधिकारी कर्मचारी अपना ड्यूटी पॉइंट नहीं छोड़ेंगे तथा जब उनका बदली ड्यूटी पॉइंट पर पहुंच जाएगी, तभी रवाना होंगे। एसएसपी ने समस्त थानाध्यक्षों को निर्देश दिए कि वह निरंतर अपने क्षेत्र में भ्रमण सील रहेंगे तथा किसी भी नागरिक की कोई समस्या होती है तो तत्काल उनकी समस्याओं का समाधान करना सुनिश्चित करेंगे।

चावल के साथ गेहू नही देने पर उपभोक्ताओं ने किया हंगामा

हरिद्वार। लाॅकडाउन के दौरान सरकार द्वारा जहां उपभोक्ताओं को तीन महीने का अग्रिम राशन देने की बार बार घोषणा की गई,वही धरातल पर स्थिति वैसी नही दिखाई दे रही है। रविवार को उपभोक्ताओं ने गेहूं नहीं बांटने पर लोगों ने राशन डीलर की दुकान पर हंगामा किया। मौके पर खाद्य पूर्ति निरीक्षक के पहुचने पर मामला शांत हुआ। इस दौरान लोगों का आरोप था कि राशन डीलर गेहूं और चावल एक साथ नहीं बांट रहा है। हंगामे की सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची खाद्य पूर्ति इंस्पेक्टर ने राशन डीलर को फटकार लगाई और राशन एक साथ बांटने के लिए कहा। लॉकडाउन के चलते सरकार की ओर से तीन माह का राशन एक साथ देने की घोषणा की थी। सरकार की घोषणा के बाद राशन तो मिलना शुरू हो गया, लेकिन राशन लीडर गेहूं न देकर चावल दे रहे थे। रविवार को खड़खड़ी क्षेत्र में राशन डीलर प्रदीप अग्रवाल की दुकान पर हंगामा खड़ा हो गया। पूर्व पार्षद लखन लाल चैहान और जेपी बडोनी ने आरोप लगाया कि लोगों को गेहूं और चावल एक साथ देना चाहिए, लेकिन राशन डीलर केवल चावल ही दे रहा है। हंगामे की सूचना मिलते ही खाद्यपूर्ति निरीक्षक पूनम सैनी मौके पर पहुंचीं और लोगों की बात सुनी। लोग

स्टेशन मास्टर्स एसोसियेशन की ओर से 21करोड़ की राशि प्रधानमंत्री राहत कोष में

हरिद्वार। स्टेशन मास्टर्स अपना एक दिन का वेतन अगले तीन माह तक प्रधानमंत्री राहत कोष में जमा करेंगे। देश मंे कोरोना वायरस के बाद घोषित आपदा के बाद प्रधानमंत्री की ओर से सहयोग देने की अपील के बाद विभिन्न संस्थाओं,व्यक्तियों के द्वारा धनराशि भेजने का सिलसिला जारी है। इसी कड़ी में ऑल इंडिया स्टेशन मास्टर्स एसोसिएशन की राष्ट्रीय कार्यकारिणी ने तय किया है कि स्टेशन मास्टर्स अपना एक दिन का वेतन अगले तीन माह तक प्रधानमंत्री राहत कोष में जमा करेंगे। पूरे देश में 39000 स्टेशन मास्टर्स हैं और इस हिसाब से ’21करोड़ से भी अधिक का योगदान स्टेशन मास्टर्स’ राष्ट्रीय आपदा के इस वक्त में करने जा रहे हैं। पिछले दिनों सरकार ने फ्रंट लाइन के कर्मचारियों को 50 लाख का बीमा देने का एलान किया था। स्टेशन मास्टर्स सहित रेलवे के अन्य कर्मचारी जो गुड्स ट्रेन का संचालन करने हेतु आवश्यक वस्तुओं की सेवा निर्बाध रूप से देने हेतु घरों से निकल रहे हैं उन्हें इसकी सुविधा न दिए जाने के बावजूद राष्ट्र हित में अपनी सेवायें दे रहे हैं। उत्तर रेलवे के जोनल अध्यक्ष जी एस परिहार ने बताया कि रेलवे के फ्रंट लाइन स्टाफ को भी यह बीमा

मण्डी के व्यापारियों को भी अनुदान देने की मांग

हरिद्वार। कोरोना वायरस की इस जंग में लॉकडाउन के दौरान थोक भाव मे मंडी से लाकर आम उपभोक्ताओं व जनता तक फ्रूट- सब्जी उपलब्ध करा रहे सैकड़ों व्यापारी एक सप्ताह के इस लॉकडाउन में 50-50, 60-60 हजार के नुकसान व कर्जे में आने से चिंतित है। व्यापारियों के प्रतिनिधियों ने वरिष्ठ व्यापारी मुकेश कोठियाल की अगुवाई में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत व जिला प्रशासन से मांग की कि सरकार की और से हर वर्ग को इस महामारी अंतरराष्ट्रीय आपदा के दौरान हर संभव मदद दी जा रही है। उसी के दृष्टिगत मंडियों में पंजीकृत फूटकर लाइसेंस धारक व्यापारियों की पीड़ा को समझकर उनकी समस्या का निदान किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि अमूमन मंडी के दरों पर फूटकर फ्रूट सब्जी आलू होलसेल भाव से 40 फीसदी की गिरावट पर आम उपभोक्ताओं को उपलब्ध कराना पड़ रहा है। लॉकडाउन में हमारी कमर आर्थिक रूप से टूटती जा रही है यदि सरकार ने इस और ध्यान नही दिया तो आगे व्यापार चलाना संभव नही है। इस अवसर पर हरिकृष्ण ने कहा आज भी मंडी में जिला अधिकारी के निर्देशन में 1000 रुपए की आलू की बोरी की लिस्ट बनाई लेकिन बिक्री 1300-1400 तक करी गयी जोकि औचित्य पूर्ण

अपर कुंभ मेला अधिकारी सरदार हरवीर सिंह ने दिखाई हरी झंडी

हरिद्वार। निर्मल संत पुरा आश्रम कनखल ने जरूरतमंदों के लिए खाद्य सामग्री पहुंचाने का बीड़ा उठाया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा कोरोनावायरस की रोकथाम के लिए की गई लोक डाउन की घोषणा के बाद आश्रम के संचालक अध्यक्ष महन्त जगजीत सिंह शास्त्री महाराज ने अब तक कई गाड़ियां खाद्य सामग्री लेकर जरूरतमंदों के लिए रवाना किया। अपर कुंभ मेला अधिकारी सरदार हरवीर सिंह ने इन गाड़ियों को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया                      महन्त जगजीत सिंह शास्त्री ने कहा कि निर्मल संतपुरा आश्रम हरिद्वार के विभिन्न क्षेत्रों में झुग्गी झोपड़ियों और अन्य स्थानों में रह रहे हैं लोगों को खाद्यान्न की निशुल्क सप्लाई कर रहा है। उन्होंने कई क्षेत्रों में जाकर स्वास्थ्य शिविर लगाए और लोगों की जांच की। उन्होंने कहा कहा कि 23 और 24 मार्च को उनके आश्रम में होने वाले कार्यक्रम को लॉक डाउन से पहले ही भी रद्द कर दिया गया और जरूरतमंदों की मदद करने का फैसला लिया गया। उन्होंने कहा कि मानव सेवा ही सबसे बड़ा धर्म है। इस अवसर पर अपर कुंभ मेला अधिकारी हरवीर सिंह ने निर्मल संत पुरा आश्रम की इस पहल का स्वागत किया और उन्हें साधुवाद

कोरोना पीड़ितों की मदद के लिए प्रशासन को दो लाख रूपए का चेक सौंपा

हरिद्वार। मां मंशा देवी ट्रस्ट की ओर से कोरोना पीड़ितों की मदद के लिए प्रशासन को दो लाख रूपए का चेक सौंपा गया। निरंजनी अखाड़े में अपर मेला अधिकारी हरवीर सिंह को चेक सौंपने के दौरान मंशा देवी मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष श्रीमहंत रविन्द्रपुरी महाराज ने कहा कि परिस्थिति को देखते हुए देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा लिया गया जनहित के फैसले का सभी को खुले दिल से स्वागत करते हुए उसका पालन करना चाहिए। इन परिस्थितियों में धर्मनगरी में फंसे यात्रियों व श्रद्धालुओं को किसी भी प्रकार की दिक्कतें नहीं होने दी जाएगी। उन्होंने कहा कि दिनरात श्रद्धालुओं के भोजन की व्यवस्था को किया जा रहा है। गुजरात से आए हुए यात्रियों को अपने गंतव्यों की ओर भी सकुशल भेजने का इंतजाम भी प्रशासन के माध्यम से किया गया। अपर मेला अधिकारी हरवीर सिंह ने कहा कि गुजरात के यात्रियों को भी आश्रम में ही ठहराया गया था। अन्य यात्रियों के भोजन की व्यवस्था भी मंशा देवी ट्रस्ट के अध्यक्ष श्रीमहंत रविन्द्रपुरी महाराज के सानिध्य में की गयी। जबकि इनके द्वारा 11, 5 व 2 लाख सहित अब तक 18 लाख की धनराशि के चेक उपलब्ध करा दिए गए हैं। उन्होंन

पुलिस ने बे्रड ले जारही वाहन का काटा चालान,सीओ ने लगाई फटकार

हरिद्वार। एक ओर पुलिस का मानवीय संवेदना सामने आ रहा है,तो दूसरी ओर पुलिसकर्मियों की असंवेदनशीलता भी दिखाई दे रही है। इस की बानगी शनिवार को उस समय देखने को मिली जब ब्रेड से लदे वाहन का चालान पुलिस ने काट दिया। चालान काटने पर सीओ सिटी ने यातायात पुलिसकर्मी को फटकार लगाई और वाहन की सीज आरसी वापस कराई। उधर एसएसपी ने आवश्यक वस्तुओं से लदी गाड़ी के आवागमन को नही रोकने के निर्देश दिए हैं। बताया जा रहा है। शनिवार की सुबह चंडीघाट चैक पर ब्रेड से लदे एक वाहन का इस बात का चालान काट दिया गया कि उसके पास अनुमति नहीं थी, जबकि चालक ने पुलिस को बताया कि आवश्यक वस्तुओं की सप्लाई पर कोई रोक नहीं है। दरअसल कनखल की कृष्णानगर कालोनी निवासी ब्रेड के थोक विक्रेता पवन कुमार का चालक राजकुमार शर्मा निवासी नाथ नगर ज्वालापुर ब्रेड से लदा वाहन लेकर उत्तरी हरिद्वार की तरफ जा रहा था। चंडीघाट चैक पर पहुंचते ही यातायात पुलिस के एएसआई भूपेंद्र कुमार ने वाहन रोककर अनुमति मांगी, जब चालक ने इनकार किया तो पुलिसकर्मी ने चालान काटकर आरसी सीज कर दी। जब इसकी शिकायत सीओ सिटी अभय सिंह को की गई तो सीओ सिटी ने पुलिसकर्मी को फटकार ल

चैथे दिन हुई माॅ कुष्माण्डा की पूजा अर्चना

हरिद्वार। चैत्र नवरात्रा में चैथे दिन श्रद्वालुओं ने मां दुर्गा के चैथे स्वरूप कृष्माण्डा की पूजा-अर्चना की। श्रद्धालुओं ने पूरे श्रद्वाभाव से घरों में पूजन कर जीवन में आ रही बाधाओं के दूर होने का वर मांगा।लेकिन विभिन्न मन्दिरों में सन्नाटा के बीच पुजारियों ने पूजा अर्चना की । नवरात्र में चैथे दिन शनिवार को भी श्रद्धालुओं ने घरों पर ही पूजा-अर्चना की। माता का रोली से तिलक कर पुष्प और फल अर्पित कर नवरात्र व्रत कथा का पाठ किया। श्रद्धालुओं ने दुर्गा सप्तशती का पाठ किया। इस बार कोरोना वायरस के फेल रहे संक्रमण के मददे्नजर केन्द्र एवं राज्य सरकार द्वारा पूरे राज्य के साथ साथ देशभर में लाॅकडाउन किया गया। इस दौरान प्रशासन द्वारा नगर के सभी प्रमुख मन्दिरों में श्रद्वालुओं के आगमन पर रोक लगा दी है। इस दौरान मन्दिर के पुजारी द्वारा सुबह शाम देवताओं की पूजा अर्चना की जायेगी। दूसरी ओर कोरोना वायरस के खात्मे को लेकर श्री पंचायती निरंजनी अखाड़ा और मां मनसा देवी में नौ दिन का अनुष्ठान किया जा रहा है। जिसमें कोरोना केा लेकर अनुष्ठान किया जा रहा है। ताकि लोग स्वस्थ रहे।

गरीबों,असहायों तथा श्रमिकों को लगातार भोजन मुहैया करा रहे अपर मेलाधिकारी

हरिद्वार। लाॅकडाउन में अपर मेला अधिकारी हरवीर सिंह सड़कों पर रह रहे गरीब असहायों की मदद करने में लगातार जुटे हुए हैं। संकट में फंसे गरीब मदद मिलने पर उन्हें देवदूत की संज्ञा दे रहे हैं। लाॅकडाउन के चैथे दिन शनिवार को भी उन्होंने सड़कों पर रह रहे गरीबों और शहर में फंसे बाहरी राज्यों के लोगों, श्रमिकों को भोजन के पैकेट वितरित किए। संत समाज और सामाजिक संस्थाओं के सहयोग से गरीबों की मदद करने जुटे अपर मेला अधिकारी हरवीर सिंह ने लोगों से अपील करते हुए कहा कि लाॅकडाउन के नियमों का पालन करते हुए सहयोग करें। गरीब, दीन दुखियों और बेसहारा लोगों की मदद भी करें। सरकार भी अपनी ओर से गरीबों को मदद पहुंचाने के लिए तमाम प्रयास कर रही है। राशन की दुकानों से तीन महीने का राशन दिया जा रहा है। लोगों को राहत पहुंचाने के लिए राशन, दूध, सब्जी, फल, दवा आदि जरूरी चीजों की दुकानों को खोलने का समय भी बढ़ाया गया है। प्रशासन का भी पूरा प्रयास है कि लोगों को कोई दिक्कत ना हो। शनिवार को कई झुग्गी बस्तियों में लोगों को खाद्य सामग्री बंटवायी गयी। उन्होंनें कहा कि किसी भी गरीब बेसहारा को भूखा नहीं रहने दिया जाएगा। पुलिस प्

कोरोना वायरस के उन्मूलन को भगवती की आराधना का विशेष महत्च

हरिद्वार। मां मंशा देवी मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष श्रीमहंत रविन्द्रपुरी महाराज ने कहा कि सौभाग्य तभी संभव है। जब व्यक्ति की काया निरोगी हो। निरोगी काया ही भौतिक सुखों का लाभ ले सकती है। अतः सौभाग्य और निरोग का अंतः संबंध देवी की प्रार्थना में स्थापित है। शिवशक्ति भवन स्थित शीतला माता मंदिर में नवरात्र पूजा के दौरान श्रीमहंत रविन्द्रपुरी ने कहा कि सभी को घर बैठकर नवरात्रों में मां भगवती की आराधना और सुख समृद्धि की कामना करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि देश में जिस कोरोना वायरस का प्रकोप चल रहा है। उसे देखते हुए इन नवरात्रों का विशेष महत्व है। हमें ध्यान रखना होगा कि लाॅकडाउन सभी आमजनों के निरोगी रहने के लक्ष्य से लागू किया गया है। अतः एकांत में भगवती अर्चना का लाभ प्राप्त करें और लाॅकडाउन के नियमों का पालन करें, तभी इस महामारी पर विजय प्राप्त की जा सकती है। देवी यह प्रार्थना भी पूरे मनोयोग से प्रतिदिन की जा रही है। निरंजनी अखाड़े के सचिव श्रीमहंत रामरतन गिरी महाराज ने कहा है कि देवी प्रकृति में समायी हुई शक्ति है। जिसके रूप और शक्ति का कोई बखान नहीं कर सकता। वह अवर्णनीय है। जिनकी सूक्ष्म आराधना

कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए हो रहा यज्ञ

हरिद्वार। श्री अखण्ड परशुराम अखाड़े के अध्यक्ष पंडित अधीर कौशिक के आवास पर कोरोना से देश को मुक्ति दिलाने के उद्देश्य से यज्ञ किया जा रहा है। पंडित अधीर कौशिक ने कहा कि यज्ञ का धुआं कोरोना वायरस को भगाने का सबसे सशक्त माध्यम है। प्रत्येक नागरिक को घरों में रहकर यज्ञ करना चाहिए। उन्होंने कहा कि मां के सभी स्वरूपों की पूजा करने से कोरोना वायरस अवश्य ही देश से समाप्त होगा। हिंदू संस्कृति में यज्ञ पौराणिक काल से ही होते चले आ रहे हैं। आसुरी शक्तियों को दूर भगाने के लिए भी ऋषि मुनियों द्वारा यज्ञ किए जाते थे। उन्होंने कहा कि सच्चे मन व निष्ठा से यज्ञ में आहुति देने से अवश्य ही देश पर आ रहे संकट का निदान होगा। हमें धैर्य रखने की आवश्यकता है। देश दुनिया कोरोना वायरस से जूझ रही है। अपने घरों में रहकर सच्चे मन से मां की आराधना करें। राज्य व देश पर आ रहे इस संकट को मां भगवती ही दूर करेगी। उन्होंने कहा कि सब लोग मिलकर अपने घरों में पूजा अर्चना करें। मां की शक्तियां अपरंपार हैं। जो लोग लाॅकडाउन में अपने सेवाएं दे रहे हैं। उनका उत्साह सभी को बढ़ाना चाहिए। गरीब, असहाय निर्धन परिवारों की मदद के लिए सभी

प्रशासन ने शुरू कराये राशन पैकेट तैयार कराने का कार्य

हरिद्वार। प्रशासन की ओर से 250 लोगों को राशन के पैकेट दिए गये। तहसीलदार की ओर जारी आॅकड़ों के अनुसार अब तक 2323 व्यक्तियों का चिन्हिकरण किया गया है,जिसे प्रशासन की ओर से राशन के पैकेट उपलब्ध कराना है। शनिवार को तहसील प्रशासन की ओर से 1093 लोगों का चिन्हिकरण किया गया,जबकि 250 लोगों को पैकेट दिए गए। शासन के निर्देश के बाद लॉकडाउन के दौरान शहर में रहने वाले ऐसे लोगों में खाद्य सामग्री की कमी को दूर करने के लिए प्रदेश सरकार के आदेश पर खाद्य आपूर्ति विभाग ने जरूरत के राशन के पैकेट तैयार कराने शुरू कर दिये हैं। रविवार शाम से इन पैकेटों का वितरण जरूरतमंद लोगों के बीच करना शुरू कर दिया जायेगा। इस खाद्य सामग्री के लिए किसी भी जरूरतमंद से कोई पैसा नहीं लिया जायेगा। जिन लोगों के पास राशन कार्ड हैं वे तो सरकारी सस्ते गल्ले की दुकानों से राशन ले रहे हैं लेकिन हरिद्वार में ऐसे लोगों की भी कमी नहीं है जिनके पार राशन कार्ड नहीं है लेकिन वे शहर की झुग्गी झोंपड़ियों, मलिन बस्तियों और अन्य इलाकों में निवास करते हैं। ऐसे लोग भूखे न सोयें इसके लिए रविवार से जिला पूर्ति विभाग जरूरत की खाद्य सामग्री के पैकेट ब

लाॅकडाउन का उल्लघंन करने वाले 18 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज,27वाहन सीज

हरिद्वार। हरिद्वार में लॉकडाउन का उल्लंघन करने पर 27 वाहन सीज, 17 न्यायालय के चालान, धारा 188 आईपीसी में 06 व अन्य में 18 व्यक्तियों के खिलाफ पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया है। वहीं विभिन्न थाने और कोतवालियों की पुलिस ने बिना वजह लॉकडाउन में बाहर घूमने वाले लोगों के 20 वाहनों को सीज किया है। श्यामपुर एसओ दीपक कठैत के मुताबिक उल्लंघन करने वाले फरीद पुत्र गुलाम, बशीर पुत्र नूरअहमद, सददाम पुत्र गुलाम, में धुम्मन पुत्र नूरआलम, सफीक पुत्र मीरहमजा अब्दुल गनी, गुलाम पुत्र नूरआलम, अब्दुल गनी, अलीजान पुत्र नूर, रफी पुत्र अली जान, गुलाम रसूल पुत्र मीरहमजा, मुस्तफा पुत्र मो. आलम निवासीगण गुर्जर बस्ती लालढांग, ऐस पुत्र यामीन, गुलाम नवी पुत्र नूरअहमद, शमशेर पुत्र मो. आलम निवासीगण गुर्जर बस्ती, रोहित पुत्र पालीराम, राणाप्रताप पुत्र हरक सिंह, अशोक पुत्र विक्रम सिंह निवासी अन्नेकी रोशनाबाद के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। उधर बहादराबाद पुलिस ने बढ़ेडी राजपुताना गांव में एक किराना दुकान मालिक के खिलाफ लॉकडाउन के उल्लंघन में मुकदमा दर्ज किया है। पुलिस को सूचना मिली कि बढ़ेडी में लॉकडाउन के समय मे भी दुकान

गुजरात के लोगों की तरह अन्य राज्यों के लोगों को भेजा जाए -सतपाल ब्रह्मचारी

हरिद्वार। कोरोना वायरस के कारण पूरे देश में लाॅकडाउन के चलते हरिद्वार में भी विभिन्न प्रदेशों से आए मजदूर और अन्य कर्मचारी फस गए हैं। शहर के तमाम होटल और दुकाने ढाबे बंद होने के कारण बेरोजगार इन मजदूरों और कर्मचारियों के पास खाना खाने तक के लिए पैसा नहीं है और यह दर दर की ठोकरें खा रहे हैं और पैदल ही उत्तराखंड के पौड़ी, टिहरी समेत कई जिलों से पैदल चलकर बिजनौर, मुरादाबाद, सहारनपुर हरियाणा की ओर जा रहे हैं। इन मजदूरों की इस दुर्दशा को देखकर राधा कृष्ण धाम ओपन वाला के संचालक और नगर पालिका के पूर्व अध्यक्ष सतपाल ब्रह्मचारी ने अपने आश्रम के बाहरी इनके खानपान के लिए लंगर खोल दिया है और इस मार्ग से जाने वाले मजदूरों और अन्य गरीबों को रोजाना सुबह-शाम चाय और दोपहर और रात को खाना निशुल्क खिलाया जा रहा है साथ ही सप्त ऋषि आश्रम की पुलिस चैकी में तैनात प्रभारी बुटोला भी पुलिस जवानों के साथ इस मार्ग से पैदल जा रहे मजदूरों और गरीबों को अपनी जेब से पैसा खर्च करके भोजन पानी करा रहे हैं। सतपाल ब्रह्मचारी का कहना है कि जिस तरह प्रशासन ने गुजरात के लोगों के लिए बस की व्यवस्था की और उन्हें गुजरात भेजा इसी त

सड़को पर रहने वालों को बाॅटे राशन के पैकेट

हरिद्वार। कोरोना संकट में भोजन की समस्या का सामना कर रहे सड़कों पर रहने वाले गरीबों को सामाजिक संस्था अपना घर के सदस्यों ने राशन के पैकेट बांटे। प्रत्येक पैकेट में आटा, दाल, चावल, बिस्कुट, फल आदि गरीबों को दिए गए। देश पर कोरोना वायरस के रूप में आए इस संकट में सामाजिक संस्थाएं लगातार गरीबों की मदद के लिए आगे आ रही हैं। शनिवार को सामाजिक संस्था अपना घर के सदस्यों ने सेक्टर-2 बैरियर व भगत सिंह चैक के आसपास सड़कों पर रहने वाले गरीबों को राशन वितरण किया। जिससे गरीबों को कुछ राहत मिली है। संस्था के आदित्य कीर्तिपाल व रवि अरोड़ा ने बताया कि संकट के इस समय हालांकि सरकार गरीबों को मदद पहुंचाने के हरसंभव प्रयास कर रही है। लेकिन सामाजिक संस्थाओं का भी दायित्व है कि गरीबों की मदद की जाए। अपने इसी सामाजिक दायित्व का पालन करते हुए अपना घर की और से सेक्टर-2 बैरियर व भगत सिंह चैक के आसपास सड़कों पर झुग्गी झोंपड़ी में रहने वाले गरीबों की मदद करते हुए उन्हें राशन दिया गया। दिव्यांशी पांचाली व अनस अंसारी ने कहा कि संकट की इस घड़ी में सभी को गरीबों की मदद के लिए आगे आना चाहिए। शिवम खुराना, अर्पण, गौरव, प्रियांश

अपने अपने घर को जाने के लिए बेताब लोग भटकते रहे दिनभर

हरिद्वार। कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए केन्द्र एवं राज्य सरकार द्वारा लाॅक डाउन किये जाने के छठे दिन सड़को पर सन्नाटा रहा,लेकिन अभी भी अपने अपने घरों को लौटने वाले लोग दिनभर भटकते रहे। शुक्रवार को शहर के मध्य जिला पर्यअन कार्यालय में वापसी करने वालों का पंजीकरण हुआ,लेकिन जिला प्रशासन की ओर से पंजीकरण केन्द्र रोशनाबाद कर दिये जाने के बाद बस अडड्ा और रेलवे स्टेशन के आस-पास काफी संख्या में शनिवार को भी कई लोग भटकते मिले। लाॅकडाउन के चलते धर्मनगरी में शनिवार को जनजीवन ठहरा सा रहा। दोपहर एक बजे के बाद सड़कों पर सन्नाटा पसरा रहा। सवेरे सात बजे दुकानें खुलने के बाद लोग सामान लेने के लिए जरूर बाहर निकले। लेकिन एक बजे दुकानें खोले जाने का समय समाप्त होते ही सड़कों पर निकले लोगों को पुलिस प्रशासन ने वापस घरों को भेजना शुरू कर दिया। इसके कुछ ही देर बाद सड़कों पर पूरी तरह सन्नाटा पसर गया। हालांकि शहर में फंसे बाहरी लोग अपने घरों को जाने की जुगत में यहां वहां भटकते देखे गए। बाहरी राज्यों के लोगों को उनके घर भेजने के लिए दो दिन तक राही होटल स्थित पर्यटन कार्यालय से पास जारी किए गए। लेकिन शुक्

राहत की बात , 6जांच रिर्पोट मिली,लेकिन सभी नेगेटिव

हरिद्वार। कोरोना वायरस के सम्बन्ध में जनपद को मिली 6लोगों की जांच रिर्पोट से फिलहाल प्रशासन ने राहत महसूस की है। शनिवार को हल्द्वानी लैब से प्राप्त 6 लोगों की जांच रिर्पोट स्वास्थ्य विभाग को मिली,लेकिन रिर्पोट में सभी 6 लोगों को कोरोना के नेगेटिव जांच रिर्पोट मिली। इसके अलावा इस समय मेला अस्पताल के आइसूलेशन वार्ड में 4 लोगों कोरोना के लक्षण के आधार पर रखा गया है,जबकि राजकीय संयुक्त चिकित्सालय में 9 लोगों को लक्षण के आधार पर रखा गया है। मुख्य चिकित्सा अधिकारी कार्यालय द्वारा जारी विज्ञप्ति के अनुसार आठ लोगो के नमूने जांच के लिए फिर से शनिवार को भेजे गये। इसके अलावा जनपद में शनिवार को 169 लोगों की स्क्रीनिंग की गई। जबकि 34लोगों ने कंट्रोल रूम में शिकायत दर्ज करायी,शिकायत के सापेक्ष चिकित्सा विभाग द्वारा जरूरी कारवाई की गयी।

कुछ स्थानों पर पुलिस ने करवाया सोशल डिस्टेंसिंग का पालन,कनखल में उड़ी धज्जियां

    हरिद्वार। राशन की दुकानों पर तीन माह का राशन मिलने पर जनता की भारी भीड़ उमड़ रही है। सभी को राशन लेने की जल्दी है। जिस कारण सोशल डिस्टेंस बनाना मुश्किल हो रहा है। लेकिन कोरोना को हराने के लिए सोशल डिस्टेंस का पालन करना बेहद जरूरी है। इसी को देखते हुए महानगर व्यापार मंडल के जिलाध्यक्ष सामाजिक कार्यकर्ता सुनील सेठी ने खड़खड़ी पुलिस चैकी के अधिकारियों व पुलिसकर्मियों के साथ राशन की दुकानों पर सोशल डिस्टेंस के लिए गोले बनवाकर लोगो से उचित दूरी बनाने तथा मास्क लगाकर ही आने की अपील की। प्रत्येक राशन की दुकान पर पुलिस के अधिकारियों के साथ पहुंचकर राशन मिलने में किसी को दिक्कत न हो और उचित दूरी बनाकर सोशल डिस्टेंस का पालन  करवाने का प्रयास किया। सुनील सेठी ने हरिद्वार की जनता से अपील की है कि सभी सरकारी एडवाइजरी का पालन करें। कोरोना से उपजे इस विश्वव्यापी संकट के समय देशहित में सभी को इस समय अपनी जिम्मेदारी समझनी होगी। जरूरी सामान, राशन सभी को मिल रहा है। परेशान होने की जरूरत नही है। जल्दबाजी में न पड़कर धैर्य से काम लें। उचित दूरी का पालन करते हुए राशन की दुकानों पर स्वयं लाइन लगाए। खड़खड़ी पु

लोगों को राहत देने पर जताया सरकार का आभार

हरिद्वार। लघु व्यापार एसोसिएशन के अध्यक्ष संजय चोपड़ा ने लाॅकडाउन में लोगों को रोजमर्रा की वस्तुएं राशन, दूध, दवाएं आदि आसानी से पहंुचाने के लिए निर्देश जारी किए जाने पर सरकार का आभार जताया है। उन्होंने कहा कि लघु व्यापार एसोसिएशन की और से मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत को पत्र लिखकर कर लघु व्यापारियों व अन्य गरीबों को हो रही परेशानियों से अवगत कराया गया था। सरकार द्वारा निर्देश जारी किए जाने के बाद राशन की दुकानें तीन की जगह छह घंटे खोली गयी। जिससे दुकानों पर भीड़ नहीं लगी और सोशल डिस्टेसिंग का भी पालन हुआ। सब्जी की ठेलीयां गली मौहल्लों में पहुंचने से लोगों को अपने घर के आसपास ही सब्जी व फल आसानी से मिले। उन्होंने कहा कि संकट इस समय में लघु व्यापारी अपने दायित्व का पालन करते हुए लोगों तक सामान पहुंचा रहे हैं। उन्होंने कहा कि चिकित्सकों, नर्सों,पुलिसकर्मियों, सफाई कर्मचारियों व मीडिया के साथ-साथ कोरोना से जंग जीतने के लिए जनता का सहयोग भी जरूरी है। 

किसानों का सभी को घन्यवाद करना चाहिए

हरिद्वार। कोरोना संकट से मुक्ति दिलाने के लिए घर पर ही चण्डी यज्ञ कर रहे श्री ब्राह्मण सभा के अध्यक्ष पंडित अधीर कौशिक ने कहा कि कोरोना से पार पाने के लिए किए गए लाॅकडाउन में कपड़े, कार, टीवी, फ्रिज, वाशिंग मशीन, मोबाइल आदि के शोरूम, मॉल, बड़ी-बड़ी कंपनियों के शोरूम सब बंद हैं। जो चीजें इंसान ने इंसान के लिए बनायी थी। उनके बिना हमारा काम चल रहा है । लेकिन दूध, सब्जी, राशन की दुकानें खुली हुई हैं। इन सबके पीछे सिर्फ एक इंसान का हाथ है वह है ’किसान’। आज हमें ’किसान’ का महत्व समझ आ रहा है। आज भी ’किसान’ खेत में काम कर रहा है। चीनी मिल पर गन्ना पहुंचा रहा है। खेत में सब्जी उगा रहा है। दूध दुकानों तक पहुंचा रहा है। कोरोना संकट में जिस प्रकार ’पुलिस, डॉक्टर, पत्रकार और हमारे सफाई कर्मी’ बधाई के पात्र हैं। उसी प्रकार इस कठिन समय में ’किसान भाई’ भी बधाई का पात्र हैं। किसानों का भी हम सब लोगों को धन्यवाद करना चाहिए। जिनकी वजह से आज हम लोग घर में बैठकर रोटी खा रहे हैं। 

कोरोना पीड़ितों की मदद के लिए निरंजनी अखाड़े ने दिए पांच लाख रूपए

हरिद्वार। मंशा देवी मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष श्रीमहंत रविन्द्रपुरी महाराज ने कोरोना पीड़ितों की मदद के लिए निरंजनी अखाड़ा की ओर पांच लाख रूपए का चेक शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक को सौंपा। कोरोना से उपजे संकट में मंशा देवी मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष व निरंजनी अखाड़े के सचिव श्रीमहंत रविन्द्रपुरी महाराज लगातार मदद में जुटे हुए हैं। एक दिन पूर्व ही प्रशासन की अपील पर श्रीमहंत रविन्द्रपुरी महाराज ने मंशा देवी मंदिर ट्रस्ट की और से 11 लाख रूपए का चेक अपर मेला अधिकारी हरवीर सिंह के माध्यम जिला प्रशासन को सौंपा था। इसके अलावा उन्होंने एक हजार लोगों के लिए रोजाना भोजन की व्यवस्था तथा शहर में फंसे बाहरी लोगों को ठहराने के लिए दो धर्मशाला खोलने का ऐलान भी किया था। शुक्रवार को निरंजनी अखाड़े पहुंचे शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक को रविन्द्रपुरी महाराज ने अखाड़े की और से पांच लाख रूपए का चेक सौंपा। मदन कौशिक ने कहा कि संकट की इस घड़ी में संत समाज लगातार लोगों की मदद कर रहा है। श्रीमहंत रविन्द्रपुरी महाराज ने कहा कि कोरोना की वजह से पैदा हुई परेशानी के इस दौरान में आपसी सहयोग बेहद जरूरी है। गरीबों की मदद के लिए

लाॅकडाउन का किया पालन-लोगों ने अपने अपने घरो में ही की नमाज अता

हरिद्वार। कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए किए गए लाॅकडाउन का पालन करते हुए लोगों ने जुमे की नमाज घरों में ही अदा की। मुस्लिम धर्मगुरूओं द्वारा कोरोना के खतरे के मद्देनजर लोगों से घरों में ही नमाज अदा करने की अपील की थी। धर्मगुरूओं की अपील का व्यापक असर देखने को मिला और लोगों ने घरों में ही नमाज अदा कर अल्लाह से कोरोना संकट को समाप्त करने की दुआएं की। लोग मस्जिदों में जुटें ना इसके लिए उपनगरी ज्वालापुर की तमाम मस्जिदों से एक दिन पहले बृहस्पतिवार को कई बार ऐलान किया गया था। दारूल उलूम रशीदीया के प्रबंधक मौलाना आरिफ ने कहा कि कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए सोशल डिस्टेसिंग बनाए रखना बेहद जरूरी है। जुमे को होने वाली नमाज पढ़ने के लिए मजिस्दों में बड़ी संख्या में लोग जुटते हैं। ऐसे में सोशल डिस्टेसिंग नियम टूटने का भी खतरा है। इसीलिए सभी से अपील की गयी है कि वह घरों में नमाज अदा कर अल्लाह से कोरोना की बीमारी को खत्म करने की दुआएं करें। अपील का लोगों पर व्यापक असर हुआ और लोगों ने अपने घरों में ही नमाज अदा की। मस्जिदों के इमाम, हाफिज, कारी आदि ने ही मस्जिदों में नमाज अदा की। मौलाना आरिफ न

वार्ड 55 में नालियों की सफाई कराने की मांग

हरिद्वार। समाजसेवी गौरव रसिक ने प्रैस को जारी एक बयान में कहा कि एक तरफ कोरोना वायरस से लोग सहमे हुए हैं। वहीं जगगजीतपुर में नालियों की सफाई भी नहीं हो पा रही है। जगजीतपुर के वार्ड नंबर 55 की सफाई की व्यवस्था ठीक नहीं है। लंबे समय से नालियों की साफ सफाई नहीं होने से गंदगी पसरी पड़ी है। लोग कई बार क्षेत्रीय पार्षद से भी साफ सफाई के लिए गुहार लगा चुके हैं। लेकिन पार्षद भी ध्यान नहीं दे रहे हैं। करोना वायरस के चलते सभी नालियों की साफ-सफाई के साथ ही दवाई का छिड़काव होना चाहिए। नालियों की सफाई नहीं होने व कीटनाशक का छिड़काव नहीं होने से जगजीतपुर में बीमारियों का खतरा बना हुआ है। उन्होंने कहा कि गलियों के अंदर भी साफ सफाई की व्यवस्था नहीं हो पा रही है। प्रशासन कोरोना वायरस के प्रति लगातार जागरूक रहा है। लेकिन सफाई व्यवस्था रामभरोसे बनी हुई है। उन्होंने कहा कि नगर निगम प्रशासन को जगजीतपुर क्षेत्र की सफाई व्यवस्था पर ध्यान देना चाहिए। दूसरी और सीतापुर के वार्ड 69 में स्थानीय लोगों ने नगर निगम के सहयोग से मधुविहार, दुर्गाविहार, रामाविहार, गणेश कालोनी आदि क्षेत्रों में सफाई अभियान चलाया और दवाईयों

कानून का पालन कराने के साथ साथ मानवीय संवेदना भी दिखा रही है पुलिस

हरिद्वार। लाॅकडाउन के दौरान हरिद्वार पुलिस सामाजिक दायित्व को बखूबी निभा रही है। इस दौरान विभिन्न थाना पुलिस द्वारा न केवल यात्रियों के साथ साथ स्थानीय नागरिकों की समस्याओं को सुलझाने में मददगार बन रही है,बल्कि भूखें लोगों के लिए भोजन की व्यवस्था भी कर रही है। कोरोना वायरस के संक्रमण को लेकर केन्द्र एवं राज्य सरकार द्वारा लाॅक डाउन करने के बाद आम जन को किसी भी प्रकार की समस्याओं का समाधान कराने के साथ ही पुलिस लोगों को अधिकाधिक सुविधाएं प्रदान कराने का कार्य कर रही है। लाॅकडाउन के दौरान एक ओर पुलिस जहां बेवजह बाहर घूमने वालों पर सख्ती बरतने में लगी है। दूसरी ओर, सामाजिक दायित्व के तहत मानवीय संवेदना दिखाते हुए जरूरतमंद भूखा न सोए, उनके लिए पुलिस की टीम भोजन की व्यवस्था कर रही है। लॉकडाउन का पालन कराते-कराते हरिद्वार पुलिस जरूरतमंदों को नहीं भूली। शुक्रवार को हरिद्वार के सभी थाना-चैकियों की पुलिस ने जरूरतमंद और असहायों को भोजन के पैकेट बांटे। वहीं, हरकी पैड़ी चैकी प्रभारी अरविंद रतूड़ी ने जानवरों को चारा खिलाया। सलेमपुर में गैस प्लांट चैकी प्रभारी सत्येंद्र नेगी, जगमोहन रमोला, विवेक चंद,

लाॅकडाउन के दौरान व्यवस्थाओं को लेकर नगर विकास मंत्री ने की समीक्षा

हरिद्वार। कैबिनेट मंत्री मदन कौशिक ने जिलाधिकारी के साथ जनपद में कोरोना वायरस के सम्बन्ध में बैठक की। उन्होंने कोरोना नियंत्रण के लिए जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग की तैयारियां ,सुरक्षा उपायों की समीक्षा की।जिलाधिकारी ने संक्रमण की स्थिति से निपटने के लिए स्वास्थ्य विभाग का एक्शन प्लान मंत्री को बताया। इसके बाद श्री कौशिक ने इस घड़ी में सफाई व्यवस्था को बनाये रखने वाले कोरोना वॉरीअर से भी मुलाकात की और उनका हाल जाना। श्री कौशिक ने सभी को खुद की सुरक्षा के प्रति सजग रहते हुए अपने दायित्वों का निर्वहन करने के लिए जागरूक किया। लॉकडाउन में मिली छह घंटे की छूट के दौरान और दिनों की तुलना में बाजारों में भीड़ कम उमड़ी। चैपहिया पर प्रतिबंध के कारण और दोपहिया पर केवल चालक को अनुमति मिलने का भी बाजार पर असर देखने को मिला। सामाजिक दूरी को लेकर पुलिस खासी सख्त नजर आ रही है। उधर, शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक ने कोरोना नियंत्रण के लिए जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग की तैयारियां व सुरक्षा उपायों की समीक्षा की। जिलाधिकारी ने संक्रमण की स्थिति से निपटने के लिए स्वास्थ्य विभाग का एक्शन प्लान मंत्री को बत

लाॅक डाउन का उल्लघंन करने के आरोप 20वाहन सीज,तीन दुकानदारों सहित 41को नोटिस

हरिद्वार। लाॅकडाउन के दौरान सामानों की अधिक रेट लेने सहित उल्लंघन करने के मामले में नगर पुलिस ने भी कारवाई तेज कर दी है। पांचवे दिन ओवररेटिंग की शिकायत पर रानीपुर पुलिस ने एक दुकानदार के खिलाफ केस दर्ज किया है। जबकि तीन दुकानदारों को लॉकडाउन का उल्लंघन करने पर मुकदमा दर्ज कर 41 को नोटिस दिया है। उधर, नगर कोतवाली पुलिस ने लॉकडाउन के दौरान क्षेत्र की शांतिभंग करने के आरोप में छह युवकों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने बिना वजह घर से बाहर निकले 20 युवकों के वाहन सीज किए हैं। गुरुवार को जहां शहरभर की पुलिस ने एक भी गिरफ्तार नहीं की, लेकिन शुक्रवार को लोगों ने नियम तोड़ने शुरू कर दिए। रानीपुर पुलिस को गोविंदपुर, दादूपुर, सलेमपुर में ओवररेटिंग की शिकायत मिली। सूचना थी कि एक व्यापारी अधिक रेट पर आटा बेच रहा है। पुलिस मौके पर पहुंची तो लॉकडाउन के दौरान मिली छूट का समय समाप्त हो चुका था, लेकिन दुकान खुली थी। पुलिस मौके पर पहुंची और दुकानदार मोहल्ल इरशाद पुत्र अख्तर अली के यहां छापा मारा। पुलिस ने इरशाद के खिलाफ केस दर्ज कर लिया। वहीं रानीपुर पुलिस ने विष्णुलोक कॉलोनी में एक पान का खोला खुला हुआ पाय

आटा का अधिक दाम लेने पर लगाया पांच हजार का जुर्माना

हरिद्वार। लाॅकडाउन के दौरान लोगों से खाने पीने की चीजों के अधिक दाम वसूलने की शिकायतों को लेकर प्रशासन हरकत मेे आ गया है। अधिक दाम वसूलने वालों के खिलाफ तहसील प्रशासन सख्त हो गया है। शुक्रवार को आटे के निर्धारित से अधिक दाम वसूलने पर एक दुकानदार का पांच हजार रुपये का चालान काटा गया। इसके अलावा तहसीलदार ने दुकानदारों को रेट लिस्ट लगाने और निर्धारित मूल्य पर ही सामान बेचने के निर्देश दिए। शुक्रवार को तहसीलदार आशीष घिल्डियाल ज्वालापुर सब्जी मंडी के बाहर राशन की दुकानों पर बेचे जाने वाली चीजों के दामों की जांच कर रहे थे। इसी दौरान मंडी से पहले एक परचून की दुकान पर खड़े लोगों ने तहसीलदार से शिकायत की। कहा कि दुकानदार आटे का दस किग्रा का पैकेट तीन सौ बीस रुपये में बेच रहा है। इस पर तहसीलदार ने दुकानदार से पूछताछ की। दुकानदार ने बताया कि उसे भी अधिक दाम पर मिल रहा है। लेकिन जब आटे के पैकेट को देखा तो वह बिना ब्रांड का मिला। इस पर उन्होंने बाट-माप निरीक्षक निधि सक्सेना से दुकानदार का पांच हजार रुपये का चालान कटवा दिया। सुभाष नगर में भी आटे के पैकेट अधिक दाम में बेचे जाने की शिकायत मिल रही है। ल

राशन दुकानों से तीन महीने का अग्रिम राशन वितरण का कार्य शुरू

हरिद्वार। कोरोना वायरस के संक्रमण रोकने के लिए किए लाॅकडाऊन के मद्देनजर गरीबों को राहत देने के लिए सरकारी सस्ते गल्ले की दुकानों से राशन वितरण का कार्य शुक्रवार को शुरू हो गया है। शहर में सभी दुकानों पर राशन कार्ड धारकों को राशन दिया गया। कोरोना वायरस संक्रमण का फैलाव रोकने के लिए सरकार ने पूरे देश में 21 दिनों का लाॅकडाऊन लागू किया है। लाॅकडाऊन के दौरान गरीबों को आ रही समस्याओं का देखते हुए सरकार ने राहत पैकेज के साथ कई फैसले किए हैं। इसके अंतर्गत सरकारी राशन की दुकानों से तीन महीने का राशन वितरित करने का फैसला भी शामिल है। सरकार के इस फैसले से गरीब वर्ग को बड़ी राहत मिली है। फैसले पर अमल करते हुए शुक्रवार को सरकारी सस्ते गल्ले की सभी दुकानों पर राशन वितरण किया गया। राशन लेने के लिए सभी दुकानों पर लंबी लंबी कतारें लगी रही। राशन वितरण के लिए बनायी गयी व्यवस्था के तहत पहले दिन प्रत्येक दुकान पर 50-50 लोगों को राशन दिया गया। इस दौरान कोरोना वायरस संक्रमण के खतरे को ध्यान में रखते हुए लोगों को एक दूसरे से निर्धारित दूरी पर खड़ा किया गया। कई दुकानों पर निर्धारित दूरी पर बाकायदा गोले बनाकर लो

लाॅकडाउन के पांचवे दिन छह घण्टें की मिली मोहलत,लोगों को मिली राहत

हरिद्वार। लाॅकडाऊन के पांचवे दिन राशन, दवा, सब्जी, दूध आदि की दुकानें खोले जाने का समय बढ़ाकर एक बजे तक किए जाने पर लोगों को कुछ राहत मिली है। दुकानें खोलने का समय बढ़ने पर लोगों में सामान खरीदने के लिए जो हड़बड़ी देखी जा रही थी। उसमें कमी आयी है। सवेरे से ही सब्जी व फल की ठेलीयां सड़कों व गली मौहल्लों में निकल आयी। लोगों ने आराम से सब्जी फल आदि खरीदे। हालांकि रेट को लेकर समस्या समाप्त नहीं हुई है। आलू, टमाटर, मटर, गोभी, हरी मिर्च आदि तमाम सब्जियों के दाम बढ़े हुए हैं। एक और जहां लोग रेट ज्यादा लिए की शिकायत करते रहे। वहीं सब्जी बेचने वाले मण्डी में ही भाव तेज होने की बात कहते रहे। इसके बावजूद लोगों ने सब्जियां खरीदी। दुकान खोलने का समय बढने पर राशन की दुकानों पर भी अधिक भीड़ नहीं रही। लोगों ने आराम से सामान खरीदा। डेयरी भी एक बजे तक खुली। लोग आराम से दूध, दही, मक्खन आदि खरीद पाए। इसके अलावा गेंहू पीसने वाली चक्कियां भी खुली रही। जिससे लोगों ने चक्कियों पर पहुंचकर गेंहू पिसवाया। कुल मिलाकर जरूरी सामान की दुकानें खुलने का समय बढ़ने से पहले दिनों वाली आपाधापी नहीं दिखी। जिससे लोगों को राहत मिली

श्रमिको,दैनिक मजदूरों के लिए प्रशासन ने राशन के पैकेट

हरिद्वार। कोविड 19 कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने हेतु लागू लाॅकडाउन के कारण दैनिक मजदूरी से पेट भरने वाले परिवारों के समक्ष भोजन की समस्या को दूर करने में प्रशासन जुट गया है। दैनिक मजदूरों,श्रमिकों तथा अन्य असहाय लोगों के समझ उत्पन्न समस्याओं को देखते हुए प्रशासन ने ऐसे समस्त परिवारों को राशन के पैकेट्स जिसमे आटा, चावल,दाल,तेल,नमक,चीनी,मसाला और साबुन सम्मिलित हैं,का वितरण शुरू कर दिया गया है। उपजिलाधिकारी द्वारा बताया गया कि प्रशासन की कोशिश है कि कोई परिवार भूखा न रहे। इसके लिए पूरे हरिद्वार में जिन परिवारों के पास भोजन पकाने के साधन नही हैं,उनको विभिन्न स्वयंसेवी संस्थाओं,धार्मिक संस्थानों और समाजसेवी लोगो के माध्यम से पका खाना वितरित किया जा रहा है और जिनके पास खाना पकाने के साधन उपलब्ध हैं,उनको राशन के पैकेट्स वितरित किये जा रहे हैं।

एसएसपी ने बनाया कोरोना वायरस संक्रमण प्रकोष्ठ

हरिद्वार। लाॅकडाउन के दौरान आम लोगों की समस्याओं का त्वरित निस्तारण करने के लिए पुलिस ने कोरोना वायरस संक्रमण प्रकोष्ठ का गठन करते हुए आम लोगों के लिए दूरभाष नम्बर भी जारी कर दिया। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक के निर्देश के बाद कोरोना वायरस संक्रमण के दृष्टिगत आगामी 21 दिवस लाॅक डाऊन के दौरान जनपद के आम नागरिकों की सुंविधा/विभिन्न समस्याओं के सम्बन्ध में प्राप्त शिकायतों के निवारण हेतु कोरोना वायरस संक्रमण प्रकोष्ठ गठित किया गया है । प्रकोष्ठ का प्रभारी सीआईयू दरोगा राजीव चैहान को बनाया गया है,जबकि सिपाही शशिंकांत,उमेश तथा नरेन्द्र सिंह को प्रकोष्ठ में तैनात किया गया है। आमजन के लिए दो मोबाइल नम्बर (9027471009, 7253009570) जारी किये गये है। उक्त प्रकोष्ठ आम जनता एवं औद्योगिक इकाईयों के अतिरिक्त विभिन्न सामाजिक समस्याओं के संज्ञान में आने पर तत्काल नियमानुसार शिकायतों का निवारण/समाधान किया जायेगा। 

शांतिकुन्ज प्रमुख ने मुख्यमंत्री राहत कोष के लिए सौंपा एक करोड़ का ड्राफ्ट

हरिद्वार। गायत्री परिवार शांतिकुंज द्वारा वेदमाता गायत्री ट्रस्ट की ओर से मुख्यमंत्री राहत कोष में एक करोड़ रुपये का योगदान दिया है। शुक्रवार को गायत्री परिवार प्रमुख डॉ. प्रणव पण्ड्या ने मुख्यमंत्री के विशेष प्रतिनिधि शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक को कोरोना से निपटने के लिए यह राशि भेंट की।गायत्री परिवार प्रमुख डॉ. पण्ड्या ने कहा कि गुरुदेव पंडित श्रीराम शर्मा आचार्यश्री ने कहा है कि पीड़ित मानवता की सेवा ही सच्चा धर्म है। इस वाक्य को आदर्श वाक्य मानते हुए पूर्व की भांति सरकार के साथ गायत्री परिवार खड़ा है। जब-जब राज्य में दैवीय या प्राकृतिक आपदा आई। तब तक गायत्री परिवार सदैव विश्व एवं मानवता के तत्पर रहा है। इस अवसर पर मुख्यमंत्री के विशेष प्रतिनिधि शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक ने गायत्री परिवार का आभार प्रकट किया। शांतिकुंज आपदा प्रबंधन दल द्वारा प्रशासन को गरीब व असहाय लोगों के लिए भोजन की भी व्यवस्था बनाई जा रही है।

आपदा के समय भी भाजपा सरकार के एक मंत्री राजनीति करने से नहीं आ रहे हैं बाज

एक करोड़ की धनराशि का ड्राफ्ट लेने की फुर्सत नहीं, सरकार के मंत्री और अधिकारियों को  हरिद्वार। देश में जारी कोरोना वायरस जैसे आपदा के बाद तीर्थनगरी के कई मठ मंदिरों और अखाड़ों की ओर से पीड़ितों की मदद के लिए आगे आए है,न केवल भोजन की व्यवस्था कर रहे है,बल्कि मुख्यमंत्री राहत कोष के लिए धनराशि भी भेज रहे है।लेकिन राहत कोष के लिए मिल रही धनराशि लेने में भी भाजपा सरकार के मंत्री और नेता राजनीतिक चश्में को पहनने से बाज नही आ रहे है।ं इसकी बानगी उस समय देखने को मिली,जब उत्तरी हरिद्वार के विश्व प्रसिद्व संस्था के परमाध्यक्ष की ओर से राहत कोष के लिए एक करोड़ रूपये का ड्राप्त तैयार किया। आश्रम के संचालक ने कोरोना वायरस जैसी आपदा से निपटने के लिए मुख्यमंत्री राहत कोष के लिए 23 मार्च को एक करोड़ की आर्थिक सहायता राज्य सरकार को देने का ऐलान किया था,एक करोड़ का ड्राफ्ट 23 मार्च से बनाने के साथ ही हरिद्वार प्रशासन को इसकी सूचना भी दे दी गई, परंतु बताया जाता है कि एक ताकतवर नेता और राज्य सरकार में मंत्री ने हरिद्वार प्रशासन के आला अधिकारियों को एक उनका ड्राफ्ट आश्रम से लाने के लिए यह कहकर मना कर दिया था क