Skip to main content

Posts

Featured Post

उच्चतम न्यायालय के न्यायाधीश ने किया जिला विधिक सेवा प्राधिकरण का भ्रमण

Recent posts

आॅधी तूफान ने जमकर बरपाया कहर,पानी,बिजली आपूति बाधित,एक की मौत

  हरिद्वार। सोमवार को तड़के आए तेज आंधी-तूफान ने शहर से लेकर देहात तक जमकर कहर बरपाया। आंधी और बारिश के कारण लोगों को जहां भीषण गर्मी से राहत मिली, वहीं परेशानियो का सामना भी करना पड़ा। वही लक्सर कोतवाली क्षेत्र में पेड़ के नीचे आने से एक युवक की दर्दनाक मौत हो गई। रात तीन बजे चली आंधी और बारिश के कारण हरिद्वार शहर, कनखल, ज्वालापुर के कई क्षेत्रो में बिजली गुल हो गई। करीब पांच घंटे तक क्षेत्र में विद्युत आपूर्ति ठप रही। रात को भारी बारिश के कारण ज्वालपुर के कटहरा बाजार, पीठ बाजार, चैक बाजार रानीपुर मोड़ आदि इलाकों में जलभराव हो गया। जलभराव के कारण सुबह के समय सड़कों पर गंदगी जमा हो गई। सुबह के समय फैक्ट्री, स्कूल और अन्य कार्यों पर जाने वाले लोगों को परेशानी उठानी पड़ी। जगह-जगह सर्विस लेन पर हाईवे पर पानी भर गया। आयरिस पुल,सिंहद्वार, दीन दयाल उपाध्याय पार्किंग,कनखल के राम किशन मिशन रोड के पास सड़कों पर पानी भरा रहा। वही लक्सर कोतवाली क्षेत्र में पेड़ के नीचे आने से एक युवक की दर्दनाक मौत हो गई 25 वर्षीय मृतक युवक का नाम सुमित है जो लक्सर के बीजोपुरा गांव का निवासी है। पुलिस ने मृतक का शव कब्जे

जैसे-जैसे अपनी संस्कृति से दुनिया को अवगत कराएंगे,महाशक्ति के रूप में उभरते जाएंगे

  हरिद्वार। देव संस्कृति विश्वविद्यालय के एकेडमिक डीन प्रो. ईश्वर भारद्वाज ने कहा कि योग भारत की प्राचीन परंपरा का अमूल्य उपहार है। आज योग को पूरे विश्व में असाध्य रोगों से निपटने के लिये अपनाया जा रहा है। कहा कि हम जैसे-जैसे अपनी संस्कृति से दुनिया को अवगत कराएंगे, महाशक्ति के रूप में उभरते जाएंगे। एसएमजेएन पीजी कालेज में सोमवार को कालेज के आंतरिक गुणवत्ता प्रकोष्ठ की ओर से आजादी का अमृत महोत्सव और अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के उपलक्ष्य में आयोजित व्याख्यान में विशेषज्ञों ने योग की महत्ता पर प्रकाश डाला। इस मौके पर प्रो. ईश्वर भारद्वाज ने सूर्यास्त से पूर्व भोजन पर बल देते हुए बताया कि हार्टअटैक, मधुमेह, श्वांस जैसी गंभीर बीमारियों में दवा के साथ-साथ योग का भी अभ्यास किया जाए तो बेहद सकारात्मक नतीजे सामने आएंगे। योग के आठ अंग यम, नियम, प्राणायाम, आसन, ध्यान, धारणा, प्रत्याहार एवं समाधि अंतर्गत संपूर्ण जीवन का सार और जीवनशैली को प्रतिबिबित करता है। उन्होंने सही भोजन और आहार लेने की छात्र-छात्राओं से अपील की। डा. भारद्वाज ने छात्र छात्राओं से जंक फूड का सेवन नहीं करने का आग्रह किया। प्राचार

संत समाज की उपस्थिति में मनाया गया जगतगुरू उदासीन आश्रम का वार्षिकोत्सव

 हरिद्वार। जस्सा राम रोड स्थित जगतगुरु उदासीन आश्रम के 51वां वार्षिक महोत्सव संत समाज की उपस्थिति में मनाया गया। महोत्सव के दौरान उपस्थित श्रद्धालु भक्तों को संबोधित करते हुए श्री पंचायती अखाड़ा बड़ा उदासीन के श्रीमहंत रघुमुनि महाराज ने कहा है कि वैराग्य वृत्तियों से युक्त जगतगुरु उदासीनाचार्य महाराज का अवतरण सनातन धर्म के संरक्षण संवर्धन एवं पुनरुद्धार के लिए हुआ। जिनके जीवन का अनुसरण कर संत समाज राष्ट्र की एकता अखंडता बनाए रखने में अपना अतुल्य सहयोग प्रदान कर रहा है और महापुरुषों ने  सदैव ही समाज का मार्गदर्शन कर राष्ट्र को उन्नति की ओर अग्रसर किया है। श्रीमहंत रघुमुनि महाराज ने कहा कि ब्रह्मलीन स्वामी सतनाम दास महाराज त्याग एवं तपस्या की साक्षात प्रतिमूर्ति थे। जिन्होंने जीवन पर्यंत सनातन परंपराओं का निर्वहन करते हुए धर्म और संस्कृति का प्रचार प्रसार किया। समाज कल्याण में उनका अहम योगदान हमेशा स्मरणीय रहेगा। कोठारी महंत दामोदर दास महाराज ने कहा कि संतों का जीवन निर्मल जल के समान होता है। ब्रह्मलीन स्वामी सतनाम दास महाराज उदारता की पराकाष्ठा थे। जिन्होंने संपूर्ण भारतवर्ष का भ्रमण कर ध

किसानों की उपेक्षा कर रही सरकार-नरेश शर्मा

  हरिद्वार। आम आदमी पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष तथा विधानसभा चुनाव में हरिद्वार ग्रामीण सीट से पार्टी के प्रत्याशी रहे नरेश शर्मा ने भाजपा सरकार पर किसानों की उपेक्षा करने तथा उनके प्रति गंभीर नहीं रहने का आरोप लगाया है। नरेश शर्मा का आरोप है कि सहकारी समितियों पर यूरिया खाद नहीं मिलने से किसानों को परेशानी हो रही है। जिससे किसानों की फसलें प्रभावित होने लगी हैं। लेकिन प्रशासन उनकी कोई मदद नहीं कर रहा है। किसानों को इन दिनों फसलों में डालने के लिए किए यूरिया खाद की बहुत जरूरत है लेकिन पिछले करीब 2 महीने से लक्सर सहित क्षेत्र की करीब एक दर्जन से ज्यादा सहकारी  समितियों पर यूरिया खाद उपलब्ध नहीं है। इस वजह से किसानों को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। सोमवार को कई समितियों पर खाद आया तो बड़ी संख्या में किसान खाद लेने के लिए उमड़ पड़े। परंतु मांग के अनुपात में यूरिया खाद की उपलब्धता काफी कम थी। जिस कारण अधिकतर किसानों को बैरंग ही लौटना पड़ा। इस स्थिति को बेहद गंभीर बताते हुए नरेश शर्मा ने सरकार पर विफल रहने का आरोप लगाया। कहा कि जिस वजह से उन्हें खाद उपलब्ध नहीं हो पा रही है और खाद उपलब

सभी ग्रंथों का सार है श्रीमद्भागवत कथा-महंत रघुवीर दास

 हरिद्वार। बैरागी कैंप स्थित श्री परशुराम ब्राह्मण धर्मशाला समिति के तत्वावधान में आयोजित श्रीमद्भागवत कथा के तीसरे दिन श्रद्धालु भक्तों को कथा की महिमा से अवगत कराते हुए सुदर्शन आश्रम के महंत रघुवीर दास महाराज ने कहा कि सभी ग्रंथों का सार श्रीमद्भागवत कथा के श्रवण से अक्षय पुण्य की प्राप्ति होती है। कथा श्रवण के प्रभाव से सभी सद् इच्छाओं की पूर्ति होती है। अक्षय पुण्य फल प्रदान करने वाली श्रीमद्भागवत कथा के समान कोई तीर्थ नहीं है। सभी सनातन प्रेमियों को श्रीमद्भागवत कथा का श्रवण अवश्य करना चाहिए। कथा व्यास महंत अंकित दास महाराज ने कहा कि कथा की सार्थकता तभी है। जब इसमें निहित उपदेशों को जीवन में शामिल कर व्यवहार में लाएं और अपने माता पिता और गुरुजनों का सम्मान करें। श्रीमद् भागवत कथा के श्रवण से प्रत्येक व्यक्ति में धार्मिक भावना का संचार होता है और तन के साथ-साथ मन का भी शुद्धीकरण हो जाता है। श्री ज्ञान गंगा गौशाला के अध्यक्ष महंत रामदास महाराज ने कहा कि मृत्यु भय समाप्त कर मोक्ष प्रदान करने वाली श्रीमद् भागवत कथा के श्रवण से व्यक्ति के कल्याण का मार्ग प्रशस्त होता है। संशय दूर होता

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का 21दिवसीय शिक्षा वर्ग प्रारम्भ

  हरिद्वार। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का संघ शिक्षा वर्ग द्वितीय वर्ष भेल स्थित सरस्वती विद्या मंदिर सेक्टर-2 में हुआ। 21 दिवसीय संघ शिक्षा वर्ग में पशिचम उत्तर प्रदेश-उत्तराखंड क्षेत्र के 500 शिक्षार्थी भाग ले रहे है। उदघाटन सत्र में स्वयंसेवकों को शुभकामनाएं देते हुए क्षेत्र प्रचारक महेंद्र ने कहा कि राष्ट्र, धर्म, समाज के लिए अपने को तैयार करना है। इसके लिए सभी अपने व्यस्तम समय मे से 21 दिन स्वयं के निर्माण में दे रहे है। स्वयं को मेहनत की भट्टी में तपा कर राष्ट्र को समर्पित करने की भावना प्रत्येक स्वयंसेवक में होती है। समयबद्ध व नियमबद्ध तरीके से अपनी दिनचर्या को व्यवस्थित कर अपनी सांसरिक जिम्मेदारियों के साथ राष्ट्र व समाज के निर्माण में भागीदारी सुनिश्चित होनी चाहिए। भाग दौड़ की जिंदगी में अपनी व्यस्ताओं में से भौतिक जिम्मेदारियों में रहते हुए समाज के लिए किस प्रकार समय निकल कर कार्य किया जा सकता है, यह सब सीखने समझने को मिलेगा। वर्ग पालक व क्षेत्र प्रचार प्रमुख पदम ने वर्ग में उपस्थित अधिकारियों व व्यवस्था में लगे कार्यकर्ताओ का परिचय कराते हुए बताया कि कोरोनाकाल के 2 वर्ष बाद इस व