किसान नेता का टैक्ट्रर रोकने व सीज करने की बात पर किसानों का हंगामा,बाद में मामला शांत

 हरिद्वार। देहरादून की ओर जा किसान नेता का ट्रैक्टर रोकने पर पुलिस और किसान नेताओं के बीच विवाद हो गया। घटना से नाराज किसान नेताओं ने सप्तऋषि पुलिस चैकी का घेराव करते हुए दो घंटे तक चैकी पर हंगामा किया। बाद में पुलिस द्वारा टैक्टर का चालान काटने के बाद टैक्टर को छोड़ने पर मामला शांत हुआ। इस दौरान एक किसान नेता ने ट्रैक्टर पर डीजल डालकर उसे जलाने का भी प्रयास किया। पुलिस के अनुसार बीती रात शिरोमणि अकाली दल के जिलाध्यक्ष सूबा सिंह ढिल्लो अपने ट्रैक्टर पर गाने बजाते हुए हरिद्वार हाईवे से होते हुए ऋषिकेश की ओर जा रहे थे। बताया जाता है कि तेज आवाज के कारण सप्तऋषि चैकी पुलिस द्वारा किसान नेता का ट्रैक्टर रोका गया। कागजात न होने पर पुलिसकर्मियों ने ट्रैक्टर को सीज करने की बात कही,जबकि किसान नेता ने चालान करने की बात कही। इस पर पुलिसकर्मियों ने सुबह आने के लिए कहा। क्योंकि चैकी प्रभारी सुनील रावत मौके पर नहीं थे। किसान नेता रातभर चैकी में ही बैठे रहे। सूबा सिंह ने रात में ट्रैक्टर न छोड़ने की जानकारी अपने संगठन में दे दी। रविवार सुबह प्रदेश अध्यक्ष जगजीत सिंह जग्गा, मंजीत सिंह, पवन सिंह, जसकरण सिंह, शेर सिंह, गुरुप्रीत सिंह, जजपाल सिंह, पारस सिंह, गुरुतेज सिंह, राहुल चैधरी, जिलाध्यक्ष विजय शास्त्री, विकास सैनी, सुकराम पाल, विनोद प्रजापति, मोहन त्यागी, चमन लाल शर्मा, राजू त्यागी, जावेद, अशोक सैनी मौके पर पहुंच गए। किसानों ने आंदोलन शुरू करते हुए पुलिस के खिलाफ नारेबाजी करते हुए प्रदर्शन करने लगे। इस दौरान किसान नेताओं ने घेर लिया। हंगामे की सूचना मिलते ही सीओ सिटी अभय प्रताप सिंह, एसएसआई नंद किशोर ग्वाड़ी, मायापुर चैकी संजीत कंडारी, हरकी पैड़ी चैकी प्रभारी अरविंद रतूड़ी समेत बड़ी संख्या में पुलिसकर्मी पहुंच गए। हंगामा कर रहे किसान नेताओं ने सीओ सिटी से बातचीत की। करीब आंधे घंटे चली बातचीत के बाद किसान नेता मान गए। पुलिस ने 500 रुपये का चालान ट्रैक्टर का किया और ट्रैक्टर छोड़ दिया।


Comments