घाटों पर लटक रहे तारोे,टूटी रेंलिंग पर अपर मेलाधिकारी ने जताई नाराजगी,दिए निर्देश

 

हरिद्वार। अपर मेलाधिकारी डा0 ललित नारायण मिश्र ने सीसीआर के पास शौल क्षेत्र खाली न कराने, घाटों पर लटक रहे तारों और टूटी रेलिंग पर नाराजगी जताई। उन्होंने अधिकारियों को तत्काल प्रभाव से सभी प्रबंध ठीक कराने और हरकी पैड़ी व अन्य प्रमुख स्नान घाटों से भिखारियों को हटवाकर जीरो जोन बनाने, साथ ही जिन घाटों पर पेड़ों की टहनियां लटक रही है उनकी छंटनी कराने और घाटों के नाम का बोर्ड नये सिरे से पेंट कराने के निर्देश अधिकारियों को दिये अपर मेलाधिकारी डा0 ललित नारायण मिश्र ने आज मेला क्षेत्र के घाटों आदि का अधिकारियों के साथ निरीक्षण किया। उन्होंने  शिवघाट व गऊघाट पुल के स्लैब को ठीक कराने, टूटी टाइल्स बदलवाने और हुक चेन लगवाने, गऊघाट पुल के नीचे की टूटी सड़क और पुल की टूटी रेलिंग ठीक कराने और घाटों पर वाहनों की आवाजाही बंद कराने के निर्देश दिए। उन्होंने घाटों पर लटकते तारों, बिजली के खुले चैंबर ढकने व लटकते तारों को हटाने अथवा उनकी ऊंचाई बढ़ाने और पुराने पेड़, जो बाधा उत्पन्न कर रहे हैं, की छंटनी कराने, सुभाष घाट पर गंगा दर्शन धर्मशाला के सामने रखे घिसाई की मशीन दो दिन में हटवाने के निर्देश दिये। अपर मेलाधिकारी ने हरकी पैड़ी व अन्य मेला क्षेत्र को भिखारियों से मुक्त कराकर जीरो जोन बनाने, नाईघाट व मालवीय द्वीप घाट पर जमीन पर पड़े और लटकते बिजली के तारों को हटवाने, नये और पुराने पुलों पर क्षमता का बोर्ड लगवाने, भीमगोड़ा पुल पर स्ट्रीट लाइट लगवाने, घाटों और पुलों पर जहां भी बिजली के तार खुले है उन्हें ठीक करवाने तथा पंतद्वीप, चमगादड़ टापू क्षेत्र में किए गए स्थाई और अस्थायी अतिक्रमण को अविलंब हटवाने के निर्देश दिये। इसके बाद अपर मेलाधिकारी डा0 ललित नारायण मिश्र अलकनन्दा घाट पर पहुंचे। जहां उन्होंने निरीक्षण के दौरान घाट से चबूतरे पर रैंप बनाने और घाट की टूटी सीढ़ियों की मरम्मत करने और जमीं काई को साफ कराने, घाटों पर वाहनों का आवागमन रोकने, अलकनंदा घाट पर रैन बसेरे के पास चबूतरे की फिनिशिंग कराने को कहा। उन्होंने घाट पर बने रैन बसेरे की व्यवस्थाओं के सम्बंध में भी जानकारी ली। उन्होंने पिचिंग के स्टोन हटवाने, पुलों पर जमी झाड़ियां कटवाने, लटकते तारों को ऊपर कराने, अनाधिकृत दुकानों को हटवाने, घाटों पर टूटे महिला चेंजिंग रूम को बदलवाने या मरम्मत कराने को कहा।  निरीक्षण के दौरान सिटी मजिस्ट्रेट जगदीश लाल, सेक्टर मजिस्ट्रेट, सिंचाई, विद्युत, लोक निर्माण सहित संबंधित विभागों के अधिकारीगण मौजूद थे।