डा अम्बेडकर के जीवन आदर्श से प्रेरणा लेकर राष्ट्रनिर्माण में सहयोग दे -अम्बरीष कुमार

हरिद्वार। संविधान निर्माता बाबा साहेब डा.भीमराव अंबेडकर की 129 जयंती पर उन्हें नमन करते हुए पूर्व विधायक अंबरीष कुमार ने कहा कि डा.अंबेडकर ने दलितों, पिछडो के अधिकारो तथा समाज मे समानता के लिए अनेकांे संघर्ष किये। उनकी सोच थी कि दलितों, पिछडो, वंचितो को मुख्यधारा में लाये बगैर देश एक नही रह सकता। राष्ट्रीय एकता के लिय यह अत्यंत आवश्यक है। उन्होंने समाज मे फैली ऊँच नीच, अस्पृश्यता की रुढियो को दृढतापूर्वक मिटाने का काम किया। इसके अतिरिक्त महिलाओं के अधिकारो की लड़ाई लड़ी वे प्रधानमंत्री के साथ सभा में इकलौते थे। जिन्होंने हिन्दु कोड बिल का दृढतापूर्वक समर्थन किया। उनकी विचारधारा उनके द्वारा लिखित संविधान में स्पष्ट दिखाई देती है। उन्होंने इन वर्गो के अधिकारो को संवैधानिक दर्जा दिलाया। परन्तु संविधान के प्रावधानों को अमलीजामा पहनाने के लिय समाज के अन्य वर्गों के समर्थन और सहयोग की आवश्यकता है। तभी गाँधी, अम्बेडकर, मौलाना आजाद के सपनो का भारत बनेगा। कानून निर्माता के आदर्शो को अपनाने की आवश्यकता है। उन्होंने हमेशा समाज को प्रेरित करते हुए शिक्षा प्रचार प्रसार किया। उनका जीवन आज भी प्रासंगिक है। पूर्व विधायक अंबरीष कुमार ने युवाओं से आह्वान करते हुए कहा कि बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर के जीवन दर्शन से प्रेरणा लेकर राष्ट्र निर्माण में अपना योगदान दें। संविधान का पालन करते हुए देश निर्माण में सभी को अपना सहयोग देना होगा। दूसरी ओर हरिद्वार में लोगों ने बेहद सादगी के साथ सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए भीमराव आंबेडकर की जयंती मनाई। मेयर अनिता शर्मा ने ज्वालापुर के आंबेडकर नगर और टिबड़ी में बाबा साहब की मूर्ति पर माल्यार्पण कर उनके संकल्प को दोहराया। वहीं अखिल भारतीय सफाई मजदूर कांग्रेस के प्रदेश महामंत्री राजेंद्र श्रमिक ने धर्मपत्नी के साथ घर पर ही बाबा साहब को श्रद्धांजलि दी। कड़च्छ की पार्षद कमलेश देवी और पूर्व सभासद अशोक शर्मा और पुनीत कुमार ने घर में बनाया केक काटकर बाबा को श्रद्धांजलि दी। इसके बाद जरूरमंदों को भोजन और मिठाई दी। सेवा कार्य में सोनू दाबडे, योगेश कुमार विशाल राठौर,दिपक कश्यप, विकास ,ललित, गगन, कुलदीप, संदीप, मांगा, आंनद, अतर सिंह राठौर, अमित पहलवान, रोहित राठौर शामिल रहे।