डा.अम्बेडकर की मूर्ति पर माल्यापर्ण कर लिया उनके दिखाये मार्ग पर चलने का संकल्प

हरिद्वार। संविधान निर्माता बाबा साहेब डा.भीमराव अंबडेकर की जयंती पर डा.अम्बेडकर निर्धन कल्याण समिति ने श्रद्धासुमन अर्पित कर उनके दिखाए मार्ग पर चलने का संकल्प व्यक्त किया गया। हालांकि लाॅकडाउन के चलते बड़ा आयोजन नहीं किया गया। ज्वालापुर के मोहल्ला कड़च्छ स्थित अंबेडकर पार्क में डा.भीमराव अंबेडकर निर्धन कल्याण समिति की ओर से केक काटकर व डा.अंबेडकर की मूर्ति पर माल्यार्पण कर उनके दिखाए मार्ग पर चलने का संकल्प व्यक्त किया। इस दौरान समाजसेवी विजयपाल सिंह ने कहा कि भारत रत्न बाबा साहेब डा.अंबेडकर एक कुशल अर्थशास्त्री, राजनेता और समाज सुधारक थे। दलित समाज को उनके अधिकार दिलाने तथा उनके प्रति होने वाली छूआछूत को मिटाने के लिए उन्होंने लंबी लड़ाई लड़ी। दलित समाज के उत्थान और उन्हें जागरुक करने में डा.भीमराव आंबेडकर का योगदान अतुल्य है। सभी को उनके दिखाए मार्ग पर चलते हुए समाज सुधार के उनके अभियान को आगे बढ़ाने में सहयोग करना चाहिए। सचिन दाबड़े ने कहा कि संविधान निर्माता डा.अम्बेडकर  महिलाओं और मजदूरों के अधिकारों के भी बड़े पैरोकार थे। स्वतंत्र भारत के पहले कानून और न्याय मंत्री के रूप में भारतीय गणराज्य की संपूर्ण अवधारणा के निर्माण में डा.भीमराव अम्बेडकर के योगदान को कभी भुलाया नहीं जा सकता। भाजपा नेता नरेश शर्मा ने कहा कि डा.अंबेडकर का संघर्षपूर्ण जीवन और उनके विचार आज भी पूरी तरह प्रासंगिक हैं। उनके विचारों को आत्मसात कर सभी को वंचित व शोषित समाज के अधिकारों के संरक्षण के लिए सहयोग करना चाहिए। इस दौरान रमेश सागर, निर्मला, कुशलपाल आदि मौजूद रहे।