कोरोना वायरस के संक्रमण को बढ़ने से रोकने के लिए प्रशासन पूरी तरह मुस्तैद-डीएम

हरिद्वार। जिलाधिकारी सी रविशंकर ने कहा है कि जनपद में कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए प्रशासन की ओर से त्वरित कारवाई जारी है। इस समय जनपद में तीन कोरोना वायरस संक्रमित व्यक्ति है। जनपद में तीन कोरोना वायरस पाॅजिटिव व्यक्ति के मिलने के बाद ज्वालापुर के कुछ भाग तथा पनियाला गांव को पूरी तरह से क्वारंटाइन किया गया है। साथ ही इनके सम्पर्क में आने वालों की पहचान की जा रही है। कहा कि 41लोगों के खिलाफ क्वारंटाइन का पालन नही करने के मामले में मुकदमा दर्ज किया गया है। उन्होने कहा कि एक हजार अस्थायी आइसूलेशन वार्ड बनाये जा रहे है। जबकि 35हजार से अधिक लोगों को क्वारंटाइन किया गया है। कोरोना वायरस के संक्रमण के फेलने की स्थिति में 20हजार से अधिक प्रशिक्षित लोगों को तैनात किया जायेगा। इनको प्रशिक्षित किया जा चुका है। जिलाधिकारी सी रविशंकर वरिष्ठ पुलिस के साथ गुरूवार को नगर निगम सभागार में पत्रकारों से वार्ता कर रहे थे। लाॅकडाउन के दौरान आवश्यक सेवाएं जारी रखने के लिए सभी जरूरी कदम पहले ही उठाये जा चुके है। क्वारंटाइन किये गये क्षेत्रों में तेजी से सेनिटाइजर करने का कार्य नगर निगम की टीम द्वारा किया जा रहा है। उन्होने बताया कि जगजीतपुर के सराय में बनने वाले पांच सौ बैड के अस्पताल का निर्माण भी तय समय में पूरा कर लिया जायेगा। जनपद में कई स्थानों पर अस्थायी आइसूलेशन वार्ड बनाये जा रहे है। उन्होने कहा कि लाॅकडाउन का पुरी तरह से पालन करने के लिए पुलिस प्रशासन मुस्तैद है। चार हजार आइसूलेशन वार्ड बनाये जाने का लक्ष्य रखा गया है। जिला प्रशासन पुरी तरह से मुस्तैद है। एसएसपी ने कहा कि क्वारंटाइन किये गये क्षेत्रों में लाॅकडाउन का पालन कराने के लिए पुलिस पुरी तरह से तत्पर है। क्वारंटाइन का उल्लघंन करने वालों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया जा रहा है। उन्होने कहा कि जमाती द्वारा पुलिस के सामने नही आने तथा तथ्य को छिपाने के मामले में मुकदमा दर्ज किया जायेगा। उन्होने कहा कि प्रदेश के पुलिस महानिदेशक द्वारा पहले ही इस सम्बन्ध में अपील की जा चुकी है। कहा कि पुलिस बल लाॅकडाउन का पालन कराने के लिए पुरी तरह से मुस्तैद है। किसी भी नागरिक को समस्या होने पर उसके समाधान का कार्य पुलिस के जवान द्वारा किया जायेगा। इस दौरान उन्होने कहा कि पाॅजिटिव पाये गये जमाती के बारे में जांच के बाद मुकदमा दर्ज करने की कार्यवाही की जायेगी। वार्ता के दौरान नगर आयुक्त नरेन्द्र सिंह भण्डारी सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।