ड्यूटी जा रहे शिक्षक से सिपाही ने की अभ्रदता,शिक्षकों ने की कारवाई मांग,

कोविड 19 डयूटी के कार्यबहिष्कार की चेतावनी


हरिद्वार। कोरोना ड्यूटी में तैनात एक शिक्षक जब अपनी ड्यूटी के लिए श्यामपुर से हरिद्वार आ रहा था तो आरोप है कि चंडी घाट चैकी पर तैनात पुलिसकर्मी ने मारपीट कर दी। इससे नाराज शिक्षकों ने शिक्षा विभाग के अधिकारियों का घेराव कर हंगामा किया। शिक्षकों ने उप शिक्षाधिकारी का घेराव किया और सिपाही के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। वहीं राजकीय प्राथमिक शिक्षक संघ ने कोविड ड्यूटी के कार्य बहिष्कार की चेतावनी दे डाली। जानकारी के अनुसार श्यामपुर निवासी शिक्षक महेंद्र पाल की ड्यूटी कोविड-19 के तहत हरिद्वार में लगी हुई है। बुधवार देर रात करीब 11 बजे महेंद्र जब अपने घर श्यामपुर से हरिद्वार के लिए ड्यूटी पर निकले तो चंडी घाट चैकी पर चेैकिग के दौरान पुलिसकर्मी ने उन्हें रोक लिया। आरोप है कि परिचय देने के बावजूद सिपाही युद्धवीर ने उनके साथ अभद्रता व मारपीट की। शिक्षक का आरोप है कि पुलिसकर्मी नशे में था। जानकारी मिलने पर शिक्षकों में रोष फैल गया। ड्यूटी पर तैनात शिक्षकों ने मुख्य शिक्षाधिकारी, जिला शिक्षाधिकारी बेसिक व उप शिक्षाधिकारी बहादराबाद का घेराव कर ज्ञापन दिया। शिक्षकों ने चेतावनी दी कि तीन दिन के भीतर दोषी सिपाही के विरुद्ध मुकदमा दर्जकर कार्रवाई नहीं की गई तो शिक्षक ड्यूटी नही करेंगे। घेराव करने वालों में मनोज शर्मा, डॉ. शिवा अग्रवाल, महेंद्र प्रताप सिंह, जितेंद्र सिंह, अमर क्रांति, शरद भारद्वाज, तेज प्रकाश, दिनेश वर्मा, मुकेश कुमार, राजेश भट्ट आदि शिक्षक शामिल रहे। इस मामले में राजकीय प्राथमिक शिक्षक संघ ने भी जिलाधिकारी को पत्र लिखकर पुलिसकर्मी के खिलाफ दंडात्मक कार्रवाई की मांग की है। कार्रवाई न होने पर संघ ने कोविड-19 ड्यूटी के बहिष्कार का ऐलान किया है। जिलाध्यक्ष अशोक कुमार चैहान ने कहा कि दोषी के खिलाफ दंडात्मक कार्रवाई की जाए, वरना संगठन संघर्ष के लिए बाध्य होगा। जिलाध्यक्ष अशोक चैहान का कहना है कि संक्रमण काल में इतना बजट खर्च होने के बावजूद अनुरोध करने पर भी आज तक अधिकांश शिक्षकों को आइडी कार्ड नहीं दिए गए, न ही उनकी सुरक्षा का ध्यान रखा जा रहा है।