हलुवाई कल्याण समिति ने सरकार से की नकद राहत उपलब्ध कराने की मांग

हरिद्वार। पंचपुरी हलवाई कल्याण समिति, टेंट एसोसिएशन बेंकट हाॅल एवं फाॅम हाऊस एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने संयुक्त बैठक कर सरकार से नगद राहत उपलब्ध कराने की मांग की है। कनखल स्थित गौतम फार्म में आयोजित समिति की बैठक में टेंट को संबोधित करते हुए उत्तराखण्ड टेंट एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष दाऊदयाल अग्रवाल ने कहा कि लाॅकडाउन के चलते शादी विवाह व अन्य आयोजनों पर रोक लगने से टेंट, बेंकट हाॅल व हलवाई आदि का काम करने वाले लोग गहरे आर्थिक संकट में फंस गए हैं। इसको देखते हुए सरकार को राहत उपायों की घोषणा करनी चाहिए। हरिद्वार बेंकट हाॅल व फाॅर्म हाऊस एसोसिएशन के अध्यक्ष नितिन गौतम ने कहा कि लगभग तीन माह कामधंधा बंद होने से सभी के सामने भीषण आर्थिक संकट खड़ा हो गया है। उन्होंने कहा कि लाॅकडाउन के चैथे चरण में सरकार ने शादी ब्याह जैसे आयोजनों में 50 मेहमानों के सम्मिलित होने की मंजूरी दी है। जो कि पर्याप्त नहीं है। इसे बढ़ाकर पांच सौ किया जाना चाहिए। हाल ही में सरकार द्वारा बीस लाख करोड़ का जो आर्थिक पैकेज घोषित किया गया है। उसमें हलवाई, कैटर्स, टेंट कारोबार करने वाले, बेंकट हाॅल चलाने वाले कारोबारियों को कोई राहत नहीं दी गयी है। ऐसे में सरकार को ईएमआई, बिजली, पानी, स्कूल फीस आदि माफ करनी चाहिए। समिति के अध्यक्ष धाम सिंह बिष्ट व पूर्व अध्यक्ष सोमपाल ने कहा कि शादी विवाह, पार्टी जैसे आयोजनों से विभिन्न स्तरों पर बड़ी संख्या में लोगों को रोजगार मिलता है। लेकिन लाॅकडाउन होने के बाद रोजगार की स्थिति शून्य हो गयी है। इसलिए सरकार को ठोस कदम उठाते हुए हलवाई, कैटर्स, वेटर आदि सभी वर्गों को अनुदान के रूप में नकद राशि देनी चाहिए। बैठक में रूड़की टेंट एसोसिएशन के पदाधिकारी विनय मित्तल, संजय मल्होत्रा, विशाल कौशिक के अलावा बिन्नु भाटिया, राकेश कुमार, नरेश कुमार, दीपक शर्मा, उमेश कश्यप, चांद गिरी, राकेश उपाध्याय, अनुराग अरोड़ा, विनय मित्तल, टिवंकल, विशाल वत्स, रजत मित्तल, संजय मल्होत्रा, दीपक गोनियाल, तरूण सैनी, अमित शर्मा, अनुराग अरोड़ा, आमोद शर्मा, विजय चैधरी, हिमांशु सचदेवा, सुमित सचदेवा आदि सहित बड़ी संख्या में लोग शामिल रहे।