रोग प्रतिरोधक क्षमता विकसित करने के लिए योगाभ्यास अवश्य करें

हरिद्वार। इस समय देश ही नहीं सम्पूर्ण विश्व में आपातकाल का समय है। सोशल मीडिया पर इन दिनों एक मैसेज जबरदस्त तरीके से वायरल हो रहा है कि जितना आलस करेंगे उतना सुरक्षित रहेंगे उतना कोरोना से बचे रहेंगे।योग प्रशिक्षक मान सिंह गुसाई ने कहा है कि हम केवल सुरक्षित नहीं, स्वस्थ भी रहना है। घर पर रहे अपने परिवार के साथ और अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता विकसित करने के लिए घर पर ही कुछ योगाभ्यास अवश्य करें। जैसा कि सूर्य नमस्कार, कपालभाति, अनुलोम, विलोम इत्यादि योग करने से हमारी आयु बढ़ती है तथा किसी भी प्रकार की बीमारी नहीं होती है। योग प्रशिक्षक मान सिंह गुसाई ने कहा कि कोरोना को हराने के लिए घरों में बंद रहना जितना जरूरी है, उतना ही आवश्यक है कि हम अपनी इम्यूनिटी को बढ़ाएं। यानी रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत करें। जिससे किसी भी प्रकार का रोग और कोरोना वायरस हम पर हावी ना हो सके। जैसा कि सभी जानते है कि योग करना कितना फायदेमंद होता है। आजकल सरकार भी इसके लिए अवेयर है। योग एक प्राचीन भारतीय जीवन-पद्धति है, जिसमें शरीर, मन और आत्मा को एक साथ लाने का काम होता है। योग के माध्यम से शरीर, मन और मस्तिष्क को पूर्ण रूप से स्वस्थ किया जा सकता है। साथ ही आगाह किया है कि योग एक विज्ञान है। इसे ठीक तरह से समझे बिना इसका अभ्यास करना नुकसानदेय भी हो सकता है। इसलिए अक्सर इसे विशेषज्ञों की देख-रेख में ही किया जाना चाहिए।