संदिग्ध परिस्थितियों में मासूम भाई बहन की मौत,पुलिस जांच में जुटी

हरिद्वार।नगर कोतवाली क्षेत्रान्गर्त गंगा किनारे झोपड़ी में रात के समय अपने मां-पिता के साथ सो रहे दो मासूम बच्चों की अचानक तबीयत बिगड़ने पर अस्पताल ले जाया गया,जहां पर उनकी मौत हो गई। मामला उत्तरी हरिद्वार में ठोकर नंबर-10 का है। कुछ लोगों का कहना है कि दोनों बच्चों को सांप ने डसा है। हालांकि, पुलिस फिलहाल कुछ भी कहने से बच रही है। दोनों का पोस्टमार्टम कराया गया है। पुलिस के मुताबिक कनखल(हरिद्वार) के जगजीतपुर निवासी रिंकू अपनी पत्नी और दो बच्चों के साथ उत्तरी हरिद्वार में ठोकर नंबर-10 पर झुग्गी डालकर रहता है। सोमवार की रात रिंकू का पूरा परिवार झोपड़ी में सोया हुआ था। तभी उनकी दूधमुंही बेटी और बड़े बेटे की तबीयत अचानक खराब हो गई। बच्चे जोर-जोर से रोने और चिल्लाने लग, जिसके कुछ ही देर बाद वो बेहोश होने लग। इससे पूरे परिवार के हाथ-पांव फूल गए। चीख पुकार सुनाई देने पर आस-पास के लोग भी अपनी झोपड़ियों से बाहर आ गए। इसके बाद दोनों बच्चों को जिला असपताल ले जाया गया, जहां शिवम और मुन्नी की मौत हो गई। घटना की सूचना मिलते ही पुलिस भी मौके पर पहुंच गई और छानबीन में जुटी रही। पुलिस ने रात में ही दोनों बच्चों के शव जिला अस्पताल की मोर्चरी में रखवा दिए। दोनों बच्चों की अचानक मौत होने से मां का रो-रोकर बुरा हाल रहा। पुलिस ने इस बारे में रिंकू से पूछताछ की। मौत का कारण स्पष्ट नहीं हो पाया है। हालांकि, बस्ती गंगा किनारे है और आस पास झाड़ियां भी हैं। परिवार जमीन पर कपड़ा बिछाकर सो रहा था, इसलिए लोगों में यह चर्चाएं हैं कि दोनों बच्चों को सांप ने डसा है। वहीं, सीओ सिटी अभय सिंह का कहना है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही मौत की असली वजह का पता चल पाएगा।