सेवादार ने कर ली आत्महत्या,मौके से सुसाइड नोट नही मिला,पुलिस जांच में जुटी

हरिद्वार। नगर कोतवाली क्षेत्रान्गर्त सप्तऋषि भूपतवाला के एक आश्रम में सेवादार ने रेलिंग में लटककर आत्महत्या कर ली। पुलिस ने सेवादार के शव को पोटस्मार्टम के लिए जिला अस्पताल की मोर्चरी में रखवा दिया है। सेवादार ढाई महीने पहले ही हरिद्वार आया था। पुलिस के मुताबिक मूल रूप से बगला, कापस विचूना इटावा निवासी उमा शंकर (60) पुत्र रघुवर दयाल हरिद्वार में भूपतवाला के भारतमाता पुरम स्थित हनुमंत धाम में सेवादार था। ढाई महीने पहले उमा शंकर हनुमंत धाम में आये थे और यहां सेवादारी कर रहे थे। पुलिस के मुताबिक, रविवार सुबह सात बजे एक कमरे के बाहर रेलिंग में लटककर उमा शंकर ने आत्महत्या कर ली। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को रेलिंग से नीचे उतार कब्जे में लिया। पुलिस को मौके से किसी भी तरह का कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है। इसलिए आत्महत्या का कारण स्पष्ट नहीं हो पाया है। बताया जा रहा है कि रविवार सुबह उमा शंकर को लोगों ने आश्रम के बाहर देखा था। कोतवाली प्रभारी प्रवीण सिंह कोश्यारी ने बताया कि परिजनों को घटना की जानकारी दे दी गई है।