गांव के दबंग से बचाने को बुजुर्ग ने लगायी एसएसपी से गुहार

हरिद्वार। सिडकुल क्षेत्रांतर्गत ग्राम हजाराग्रंट निवासी बुजुर्ग ने एसएसपी को प्रार्थना पत्र देकर न्याय की गुहार लगायी है। एसएसपी को दिए गए प्रार्थना पत्र में बुजुर्ग तजुल्लम ने आरोप लगाया है कि खेत में असामाजिक गतिविधियों का विरोध पर करने पर गांव के कुछ दबंग उसके परिवार से रंजिश रखते हैं। बीती 31 मई की शाम को जब उसके बेटे तरमीन ने अपने खेत में उनकी संदिग्ध गतिविधियों का विरोध किया तो आरोपियों ने उसे लाठी डंडो से पीटना शुरू कर दिया। उसे बचाने आए परिवार के अन्य लोगों व उनके के साथ भी मारपीट की गयी। मारपीट में बुरी तरह घायल हुए तरमीन को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। आरोपियों के खिलाफ मुकद्मा दर्ज कराने को पुलिस को तहरीर दी गयी। लेकिन पुलिस ने तत्काल कोई कार्रवाई नहीं की और कई दिन बाद 3 जून को मुकद्मा दर्ज किया। मुकद्मा दर्ज करने के बाद आरोपियों को गिरफ्तार करने के बजाए पुलिस ने आरोपियों की ओर से उनके खिलाफ भी झूठा मुकद्मा दर्ज कर दिया। जिसके एवज में आरोपी उन पर फैसले का दबाव बना रहे हैं। उन्हें धमकाया भी जा रहा है। तजुल्लम ने आरोप लगाया है कि आरोपियों के खिलाफ पहले से ही कई मुकद्मे दर्ज हैं। कई मामलों में न्यायालय से उन्हें सजा भी सुनाई जा चुकी है। बुजुर्ग ने एसएसपी से पूरे मामले की जांच कराकर न्याय दिलाने की गुहार लगायी है। तजुल्लम ने कहा कि हजाराग्रंट के अन्य ग्रामीण भी दबंग आरोपियों से परेशान है। आरोपी तमाम गैर कानूनी धंधों में संलिप्त हैं। पुलिस भी ऐसे आरोपियों के खिलाफ सख्त कदम नहीं उठा रही है। गिरफ्तारी नहीं होने से आरोपियों के हौसले बुलंद हो रहे हैं। जिससे उन्हें व उनके परिवार को खतरा बना हुआ है।