बकाया वेतन की मांग को लेकर गुरूकुल महाविद्यालयों के कर्मचारियों ने दिया धरना

हरिद्वार। पिछले महीने से वेतन न मिलने से नाराज गुरुकुल महाविद्यालय ज्वालापुर के कर्मचारियों ने मुख्य कार्यालय के बाहर धरना दिया। इस संबंध में उन्होंने गुरुकुल महाविद्यालय प्रबंध समिति के पदाधिकारियों से वार्ता की, लेकिन ठोस जवाब नहीं मिला। छह माह से वेतन न मिलने से नाराज गुरुकुल महाविद्यालय के कर्मियों ने प्रबंध समिति के खिलाफ अनिश्चितकालीन धरना शुरू कर दिया है। कर्मचारी बच्चीराम शर्मा, हेमचंद जोशी, पीएस रावत आदि ने बताया कि पिछले कई महीनों से वेतन न मिलने से कर्मचारी और उनके परिवारों के समक्ष भूखमरी का संकट पैदा हो गया है। ईपीएफ और ईएसआइ का भी कई महीनों से भुगतान नहीं किया गया है। किसी कर्मचारी के बीमार पड़ने पर उसे ईएसआइ अस्पताल में भर्ती नहीं किया जा रहा है। इस संबंध में जिलाधिकारी, शिक्षा मंत्री तक गुहार लगाई गई, लेकिन नतीजा सिफर रहा। कर्मियों ने एक स्वर में कहा कि यदि शीघ्र वेतन का भुगतान नहीं किया गया तो कर्मचारी आत्मदाह को विवश होंगे। कहा कि इस संबंध में प्रबंध समिति से वार्ता की गई, लेकिन कोई ठोस जवाब नहीं मिला। वहीं मुख्य अधिष्ठाता बलवंत सिंह चैहान का कहना है कि विभिन्न कारणों के चलते खाता नहीं खुल पाया था। खाता खुलते ही सभी कर्मियों के अकाउंट में ऑनलाइन ट्रांसफर कर दिया जाएगा। धरना देने वालों में पीएस रावत, शुभम सिंह, हरिप्रसाद, राजेश शर्मा, जगदीश चंद्र पांडेय, हरिप्रसाद यादव, ओमपाल, राकेश कुमार, पवन चैहान, बलवीर सिंह आदि उपस्थित रहे।