हर की पैड़ी पर मलबा हटाने का कार्य शुरू,पूजा अर्चना शुरू

हरिद्वार। हर की पैड़ी पर बारिश के दौरान दीवार गिरने की घटना के बाद बुधवार को ब्रह्मकुंड और घाट की साफ-सफाई होने के बाद पूजा-अर्चना और स्नान फिर से शुरू हो गया है। स्थानीय लोगों के साथ-साथ बाहर से आए यात्रियों ने भी हर की पैड़ी पहुंचकर स्नान किया। गौरतलब है कि मंगलवार को यहां भारी बारिश और आकाशीय बिजली गिरने के चलते हर की पैड़ी पर 85 वर्ष पुरानी दीवार ढह गई थी और उसका मलबा ब्रहमकुंड तक फैल गया था। हलांकि लोगों का दावा है कि आकाशीय बिजली नही गिरी,दूसरी ओर जिला प्रशासन ने मामले में एक जांच टीम का गठन भी कर दिया है। हर की पैडी ब्रह्मकुंड क्षेत्र में दीवार गिरने से फैले मलबे को हटाने का काम अभी पूरा नहीं हो सका है। हालांकि, ब्रह्मकुंड क्षेत्र और हर की पैड़ी घाट पर फैले मलबे को साफ किया जा चुका है। भीमगौड़ा से हर की पैड़ी की तरफ आने और जाने वाले ट्रैफिक को इस घटना के बाद काफी कम कर दिया गया है। ऊर्जा निगम और लोक निर्माण विभाग की टीम अपने कार्य में लगी हुई है। जिलाधिकारी द्वारा नियुक्त संयुक्त टीम की जांच के लिए आसपास के भवन और प्रतिष्ठानों के सीसीटीवी फुटेज और हर की पैड़ी पर लगे सरकारी सीसीटीवी कैमरे के फुटेज को भेजा गया है। टीम को आज शाम तक अपनी रिपोर्ट जिलाधिकारी को सौंपनी है।