कम्पनी प्रबंधक के खिलाफ पुलिस ने किया मुकदमा दर्ज

हरिद्वार। कंपनी में कोरोना के मरीज मिलने के बावजूद कर्मचारियों से काम कराने के आरोप में पुलिस ने कंपनी के प्रबंधन और अन्य स्टाफ के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। आरोप है कि कोरोना संक्रमित मरीजों के संपर्क में आए लोगों से कंपनी प्रबंधन ने काम कराया था। सिडकुल की इस कंपनी में बीते कुछ दिनों में लगातार कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में इजाफा हो रहा है। आरोप है कि 3 जुलाई को कंपनी में पहला कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव केस आया था, जबकि 7 जुलाई को कंपनी का एक और कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव पाया गया था। ये वो कर्मचारी हैं जो अवकाश से वापस आए थे। आरोप है कि दोनों कर्मचारियों के वापस आने के बाद कंपनी प्रबंधन द्वारा इनकी ट्रेवल हिस्ट्री का सत्यापन नहीं किया गया और ना ही इनको क्वारंटाइन किया गया। आरोप है कि इनके संपर्क में आए अन्य कर्मचारियों से कंपनी ने काम लिया। जिस कारण 19 जुलाई तक कंपनी में 220 कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव पाए गए। आरोप है कि कंपनी प्रबंधन की लापरवाही ने लोगों के जीवन को खतरे में डाल दिया। पुलिस की ओर से दरोगा राजेश कुमार की ओर से हिन्दुस्तान यूनिलीवर कंपनी के खिलाफ धारा 269, 270, 271, 336, 188 और 51 आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 के अंतर्गत मुकदमा दर्ज किया गया है। एसपी सिटी कमलेश उपाध्याय ने बताया कि मुकदमे की जांच सिडकुल एसओ एलसी बुटोला को सौंपी गई है।