नाबालिग छात्रा से दुष्कर्म के मामले में आधा दर्जन गिरफ्तार

हरिद्वार। कोतवाली रानीपुर क्षेत्रान्गर्त शिवालिकनगर क्षेत्र की एक नाबालिग छात्रा के साथ ज्वालापुर के एक होटल में दुष्कर्म का मामला सामने आया है। पीड़िता एक नामचीन स्कूल में कक्षा नौ की छात्रा है। पुलिस ने मुख्य आरोपित से लेकर सहयोगियों और होटल मालिक के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। होटल मालिक सहित आधा दर्जन आरोपितों को पुलिस ने गिरफ्तार पूछताछ शुरू कर दी है। पुलिस के मुताबिक शिवालिक नगर निवासी छात्रा अपने परिवार के साथ कुछ माह पहले लंढौरा क्षेत्र में एक विवाह समारोह में गई थी। आरोप है कि वहां छात्रा के रिश्तेदार वैभव ने अपने तीन दोस्त शाहनवाज, आबिद व आसिफ से उसकी मुलाकात कराई थी। इसके बाद से शाहनवाज और छात्रा के बीच सोशल साइट पर बातचीत होने लगी। सोमवार को शाहनवाज, आबिद, आसिफ और वैभव लंढौरा से शिवालिक नगर पहुंचे। आरोप है कि उन्होंने नाबालिग छात्रा को बहला-फुसलाकर अपने साथ कार में बैठा लिया और ज्वालापुर ले गए। शाहनवाज ने अपने दोस्त समीर निवासी लोधामंडी की मदद से रेलवे फाटक के पास एक होटल में कमरा लिया। जहां शाहनवाज ने छात्रा के साथ दुष्कर्म किया। आरोप है कि छात्रा के बदहवास होने पर आरोपित उसे शिवालिक नगर छोड़कर फरार हो गए। छात्रा ने मंगलवार को आपबीती अपनी मां को बताई। उन्होंने रानीपुर कोतवाल योगेश सिंह देव व गैस प्लांट चैकी प्रभारी सत्येंद्र नेगी को घटना की जानकारी दी। पुलिस ने आरोपित शाहनवाज, आबिद, आसिफ, वैभव, समीर खान और होटल मालिक सुमित वालिया के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया। पुलिस ने छह आरोपितों को गिरफ्तजार कर निलया। रानीपुर कोतवाली प्रभारी योगेश देव ने बताया कि मुकदमा दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी गई है। फिलहाल पुलिस ने आसिफ पुत्र शकीर 22 बर्ष नि.मौहल्ला हजरत बिलाल लण्ढौरा,कोतवाली मंगलौर, शहनवाज पुत्र रियासत निवासी मैहल्ला पाठानान,लण्ढौरा,आदाब पुत्र भूरा निवासी मौहल्ला पाठानान,वैभव पुत्र सुरेश भटनागर निवासी बाहरी किला मौहल्ला लण्ढौरा,सुमित वालिया पुत्र शेर सिंह वालिया निवासी महफिल होटल,ज्वालापुर तथा समीर पुत्र इखलाक निवासी लौधामण्डी ज्वालापुर को गिरफ्तार कर लिया है। बताया जाता है कि मुख्य आरोपित शाहनवाज का रिश्तेदार रेलवे फाटक के पास बुलेट की एजेंसी पर काम करता है। पड़ोस में काम करने के चलते उसकी सुमित वालिया से जान पहचान थी। लेकिन पुलिस ने इसलिए उसे आरोपित बनाया है कि नाबालिग छात्रा को कमरे में ले जाते हुए देखने पर भी उसने पुलिस को सूचना नहीं दी और कमरा देने से मना भी नहीं किया। कमरा दिलाने में मदद करने पर समीर व साथ में रहकर मदद करने पर अन्य युवकों को मुकदमे में नामजद किया गया है।