मेयर और केआरएल कंपनी की मिलीभगत से शहर की सफाई व्यवस्था बदहाल-भाटी

हरिद्वार। केआरएल कम्पनी कर्मचारियों द्वारा सोमवार से कूड़ा नहीं उठाने के ऐलान से शहर की बिगड़ी सफाई व्यवस्था बदहाल स्थिति में पहुंच जायेगी। मेयर व केआरएल कम्पनी की मिलीभगत ने शहर की सफाई व्यवस्था को चैपट कर दिया है। यह विचार भाजपा पार्षद दल के उपनेता अनिरूद्ध भाटी ने शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक को भेजे ज्ञापन में व्यक्त किये। शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक को भेजे ज्ञापन में अनिरूद्ध भाटी ने कहा कि नगर निगम क्षेत्र में कूड़ा उठाने व उसे डपिंग जोन तक पहुंचाने की जिम्मेदारी केआरएल कम्पनी की है जिसके बाबत केआरएल को नगर निगम द्वारा ट्रिपिंग फीस व शहरवासियों द्वारा यूजर्स चार्ज का भुगतान किया जाता है। अफसोसजनक स्थिति यह है कि केआरएल कम्पनी द्वारा शहर से कूड़ा उठाने में लापरवाही बरती जा रही है। केआरएल कम्पनी की लचर कार्यशैली से अनेक मौहल्लों में कई बार कूड़े के ढेर लग जाते हैं। इस कारण नगर निगम के समस्त भाजपा पार्षद केआरएल कम्पनी की कार्यशैली से असंतुष्ट हैं। अनिरूद्ध भाटी ने कहा कि बिना बोर्ड व पार्षदों को विश्वास में लिये मेयर द्वारा विगत डेढ़ साल से केआरएल कम्पनी को निरन्तर भुगतान किया जा रहा है। कम्पनी ने विगत चार माह से अपने सफाईकर्मियों के वेतन का भी भुगतान नहीं किया है। साथ ही केआरएल कम्पनी अपने कर्मचारियों को नियमानुसार सुविधाएं व वेतन नहीं दे रही है। जिस कारण केआरएल के कर्मचारियों ने आने वाले सोमवार से कूड़ा न उठाने का ऐलान कर दिया है। इस समूचे घटनाक्रम में मेयर व केआरएल कम्पनी प्रबंधन की मिलीभगत साफ नजर आ रही है। अनिरूद्ध भाटी ने भाजपा पार्षद दल के नेता सुनील अग्रवाल, उपनेता राजेश शर्मा व सभी पार्षदों के साथ बैठक कर इस संदर्भ में आन्दोलन की रूपरेखा तैयार की जायेगी। 


Comments