अभिभावकों ने शिक्षा मंत्री से की निजी स्कूल प्रबंधन की शिकायत

हरिद्वार। डामकोठी पहुंचे शिक्षा मंत्री अरविन्द पाण्डे से मुलाकात कर विजडम ग्लोबल स्कूल प्रबंधन द्वारा की जा रही अभिभावकों के प्रति हठधर्मिता के खिलाफ ज्ञापन सौंपा। अभिभावकों ने टयूशन फीस के नाम पर अभिभावकों का उत्पीड़न करने का भी आरोप लगाया। साथ ही स्कूल प्रबंधन द्वारा आॅनलाईन शिक्षा को बंद किए जाने की शिकायत भी की। इस अवसर पर विकास चैहान व सचिन चोपड़ा ने अवगत कराया कि कोरोना महामारी के चलते अभिभावकों का नब्बे प्रतिशत कारोबार समाप्त हो गया है। नौकरी करने वाले अभिभावकों के वेतन में भी भारी कटौती की जा रही है। लेकिन विजडम ग्लोबल स्कूल शुरू से ही चालाकी कर टयूशन फीस के नाम पर अन्य खर्चे जोड़कर अभिभावकों को मानसिक रूप से परेशान कर रहा है। फीस ना जमा करने की शुरूआत में आॅलनाईन शिक्षा से हटाया जा रहा है। शिक्षा विभाग के आला अधिकारियों से भी शिकायत करने के बावजूद अब तक कोई निस्तारण नहीं हो पाया है। अभिभावकों द्वारा स्कूल प्रबंधन के खिलाफ शिकायती पत्र सौंपा गया। मेयर प्रतिनिधि संगम शर्मा ने कहा कि स्कूल प्रबंधन शासनादेशों का भी पालन नहीं कर रहा है। प्रिंसीपल फीस जमा करने का दबाव अभिभावकों पर बना रहा है। आॅनलाईन क्लास बंद किए जाने से छात्रों का भविष्य अंधकारमय है। स्कूल टीचर बार बार मोबाईल मैसेज कर टयूशन फीस का भुगतान ना करने पर प्रतिदिन फीस जमा करने के लिए अभिभावकों को धमकी दे रहे हैं। इस दौरान शिक्षा मंत्री अरविन्द पाण्डे ने अभिभावकों को आश्वासन देते हुए आॅनलाईन शिक्षा को सुचारू रूप से शुरू कराने का आश्वासन दिया। स्कूल प्रबंधन के खिलाफ मिल रही शिकायतों का निस्तारण करने का आश्वासन भी दिया। डामकोठी में अभिभावक काली पट्टी बांधकर अपना विरोध जताने के लिए पहुंचे थे। लेकिन पुलिस ने अभिभावकों को समझा बुझाकर शिकायती पत्र प्रेषित करने का सुझाव देते हुए अभिभावकों को शिक्षा मंत्री से भेंटवार्ता करने दी। इस अवसर पर प्रशांत, गौरव कपूर, सौरव भाटिया, अनुभव गर्ग, अमित ठाकुर, अमित बजाज, मोहित अरोड़ा, गुरप्रीत सिंह आदि शामिल रहे।