भाजपा की जनविरोधी सरकार को सत्ता में बने रहने का हक नही-सारस्वत

हरिद्वार। उत्तराखण्ड की गिरती अर्थव्यवस्था एवं बर्बाद हो रहे जनजीवन सेे चिंतित कांग्रेस कार्यकत्र्ताओं ने आज पूर्व राज्यमंत्री विजय सारस्वत के निर्देशन में उत्तरी हरिद्वार स्थित श्री राधाकृष्ण धाम में एक आवश्यक बैठक कर नई कार्ययोजना पर विचार किया तथा 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव में भाजपा मुक्त प्रदेश बनाने का संकल्प लिया। कार्यक्रम को मुख्य अतिथि के रुप में संबोधित करते हुए पूर्व राज्यमंत्री विजय सारस्वत ने कहा कि उत्तराखण्ड में ब्यूरोक्रेसी बेलगाम हो गयी है और सत्ताधारी दल के नेता दोनों हाथों से लूट-खसोट कर रहे हैं। राज्य की जनता बदहाल हो गयी है जबकि भाजपा सरकार कोरोना-कोरोना खेलने में लगी हुई है, उन्होनें सभी कार्यकत्र्ताओं से एकजुट होकर समाज विरोधी सरकार को उखाड़ फंेकने का आवाह्न करते हुए कहा कि कांग्रेस सरकार ने स्व. नारायणदत्त तिवारी के नेतृत्व में जिस राज्य का औद्योगीकरण कर सम्पन्नता की श्रेणी में खड़ा कर दिया था भाजपा ने सभी औद्योगिक इकाईयों को बंद कर राज्य के युवाओं को बेरोजगार बना दिया है ऐसी जन विरोधी सरकार को सत्ता में रहने का कोई अधिकार नहीं है। पूर्व पालिकाध्यक्ष सतपाल ब्रह्मचारी ने सभी कार्यकत्र्ताओं के साथ विजय सारस्वत का स्वागत करते हुए कहा कि हरिद्वार की जनता ने भाजपा को भगाने का मन बना लिया है। कांग्रेस सेवादल के प्रदेश प्रमुख राजेेश रस्तौगी ने कोरोना काल को अघोषित आपातकाल बताते हुए कहा कि उत्तराखण्ड की अर्थव्यवस्था तीर्थाटन एवं पर्यटन से दुरुस्त होती है लेकिन भाजपा ने कोरोना के नाम पर राज्य को जिस बर्बादी के कगार तक पहुंचाया। बैठक को स्वामी ऋषिश्वरानन्द, राजीव चैधरी, पुरुषोत्तम शर्मा, विभाष मिश्रा, दीपक जखमोला, धर्मवीर सैनी तथा नितिन तेश्वर ने भी संबोधित किया। इस अवसर पर बड़ी संख्या में कांग्रेस कार्यकत्र्ता उपस्थित थे।