हावड़ा,अहमदाबाद रूट पर टेªन संचालन शुरू करने की मांग को लेकर किया प्रदर्शन

हरिद्वार। युवा व्यापार मण्डल के जिलाध्यक्ष संदीप शर्मा के नेतृत्व में व्यापारियों ने प्रतिष्ठानों के ताले चाबियाँ लेकर पोस्ट ऑफिस पर प्रदेश सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया। प्रदर्शन कर रहे व्यापारियों ने मांग की है कि अन्य प्रदेशों की तरह उत्तराखंड में भी ट्रेनें संचालित की जाएं। जिलाध्यक्ष संदीप शर्मा ने कहा कि प्रदेश सरकार व्यापारियों के उत्पीड़न पर उतारू है। उत्तराखण्ड में व्यापारियों की हालत दिन पर दिन खराब होती जा रही है। सभी प्रदेशों में ट्रेनों का आना जाना शुरू हो चुका है। लगभग चालीस जोड़ी ट्रेनों का संचालन शुरू हो चुका है। लेकिन उत्तराखण्ड की सरकार सोई पड़ी है। प्रदेश में केवल एक ट्रेन नन्दा एक्सप्रेस चल रही है। उन्होंने हरिद्वार के सांसद व केंद्रीय शिक्षा मंत्री डा.निशंक से मांग करते हुए कहा कि कि हरिद्वार के लिये हावड़ा, उपासना, ओखा एक्सप्रेस व अहमदाबाद मेल ट्रेन शीघ्र चलवाएं। जिससे व्यापारियों को राहत मिल सके। त्यौहार सिर पर हैं, अन्य प्रदेश सरकारें जहां व्यापारी वर्ग को मजबूत करने की योजना बनाने में लगी हैं। ट्रेनों का संचालन शुरू होने से बेहाल व्यापारी वर्ग को राहत मिलेगी। कोरोना काल में 80 फीसदी दुकानों में ताले लगे हैं। सरकार अभी तक ऐसी कोई योजना पेश नहीं कर सकी है जिससे व्यापारियों को राहत मिल सके। कोरोना काल में कुछ व्यापारियों को 500 रूपए की राशन की किट देकर सरकार ने इति श्री कर ली। मन्दिर ऊँचा बनना हरिद्वार के लिये गौरव की बात है। लेकिन व्यापारियों का ध्यान रखा जाना भी आवश्यक है। भोलागिरी व्यापार मण्डल के अध्यक्ष मयंक शर्मा ने कहा कि मुख्यमंत्री सिर्फ घोषणा करने तक सीमित हैं। कागजों पर ही सारे काम हो रहे हैं। धरातल पर सब शून्य ही दिख रहा है। प्रदेश में अगर यही हाल रहा तो व्यापारी वर्ग आने वाले चुनाव में सबक सिखाने के लिए तैयार बैठा है। प्रदर्शन करने वालों में वरिष्ठ व्यापारी नेता विनोद मिश्रा, हरिशंकर, विनोद अरोड़ा, गगन बंसल, योगेश अरोड़ा, हरि नारायण, संजीव सिंघल, मनीष नेगी, अमित गोयल, मोहन अरोड़ा, संतोष गुप्ता, जितेंद्र कोरी, अक्षय शर्मा, विकास गुप्ता, महेश बंसल, दीपक कोरी, सचिन बंसल, भगवान दास, मनीष, अंकुर चुघ, हरीश पुरी, जयवीर, रजत, शेंकी, तुलसी अरोड़ा, कमल, गौरव माटा आदि शामिल रहे।