कुंभ का सूक्ष्म आयोजन किया गया तो व्यापारी आत्महत्या को मजबूर होंगे-सेठी

हरिद्वार। शहर के दो व्यापार मंडलों ने कुंभ मेला का भव्य आयोजन कराने की मांग केंद्र और राज्य सरकार से की है। उन्होंने कहा कि यदि कुंभ का सूक्ष्म आयोजन किया गया तो व्यापारी आत्महत्या को मजबूर होंगे। हरिद्वार के व्यापारियों के लिए आर्थिक पैकेज की मांग भी सरकार से की गई है। हरिद्वार प्रेस क्लब में पत्रकारों से बातचीत में महानगर व्यापार मंडल के जिलाध्यक्ष सुनील सेठी ने कुंभ से करोड़ों श्रद्धालुओं की आस्था के साथ-साथ मंदी से बेहाल व्यापारियों की उम्मीद भी जुड़ी है। सरकार पास से श्रद्धालुओं की एंट्री कर कुंभ को सूक्ष्म रूप में संपन्न कराने की तैयारी में है। यह आस्था के साथ खिलवाड़ और व्यापारिक हितों के साथ धोखा है। उन्होंने कहा कि सरकार कुंभ को भव्य और विस्तृत रूप से संपन्न कराए। मां गंगा की कृपा से कुंभ आने तक कोरोना खत्म हो जाएगा। प्रांतीय उद्योग व्यापार मंडल के जिलाध्यक्ष नीरज सिघल ने कहा कि केंद्र सरकार ने कश्मीर को 1300 करोड़ रुपये का आर्थिक पैकेज दिया है। सिघल ने होटल आदि खुलवाने पर मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत और कैबिनेट मंत्री मदन कौशिक का आभार जताया। उन्होंने कश्मीर की तर्ज पर हरिद्वार के व्यापारियों को राहत पैकेज दिलाने की भी मांग की। महामंत्री संजय त्रिवाल ने कहा कि कुंभ के लिए संतों को एक-एक करोड़ रुपये देने वाली सरकार को व्यापारियों की तरफ भी ध्यान देना चाहिए। व्यापारी हर तरह का टैक्स सरकार को देते हैं, अब व्यापारी संकट में है तो सरकार को भी व्यापारियों का साथ देते हुए बिजली, पानी के बिल, हाउस टैक्स व स्कूल फीस माफ करनी चाहिए। महानगर व्यापार मंडल और प्रांतीय उद्योग प्रतिनिधि व्यापार मंडल ने एक मंच पर आवाज उठाते हुए शहर के बाकी व्यापार मंडलों से भी व्यापार हित में साथ आने की अपील की। सुनील सेठी, नीरज सिघल व संजय त्रिवाल ने सयुंक्त रूप से कहा कि एक-एक व्यापारी को वोटिग में शामिल कर सशक्त व्यापार मंडल का गठन किया जाएगा। इसके लिए उन्हें इस्तीफे भी देने पड़ें तो तैयार हैं।