संत महापुरूषों की उपस्थित से प्रेरणा और ऊर्जा मिलती है-योगगुरू स्वामी रामदेव

हरिद्वार।डाॅ0मनोज कुमार- योग गुरू स्वामी रामदेव ने कहा कि संत महापुरूषों की उपस्थित से प्रेरणा और ऊर्जा मिलती है। भूपतवाला स्थित जसविन्दर एन्कलेव में नवनिर्मित हरिहर कन्हैया कृपा धाम का लोकापर्ण करने के दौरान बाबा रामदेव ने कहा कि तीर्थ स्थल पर श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए आश्रय का निर्माण तथा जल सेवा उपलब्ध कराने से बढ़कर कोई दूसरा पुण्य कार्य नहीं है। महामण्डलेश्वर स्वामी जगदीशदास उदासीन की प्रेरणा से दिल्ली निवासी भटनागर परिवार, फरीदाबाद के सोलंकी परिवार एवं जगाधरी के हरजाई परिवार व अन्य भक्तों के सहयोग से निर्मित हरिहर कन्हैया कृपा धाम आश्रय व सेवा का अनुपम उदाहरण पेश करेगा। शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक ने हरिहर कन्हैया कृपाधाम के निर्माण के लिए म.म.स्वामी जगदीशदास उदासीन व उनके अनुयायियों को बधाई देते हुए कहा कि तीर्थ नगरी हरिद्वार में आने वाले लाखों श्रद्धालुओं को आश्रय उपलब्ध कराने में संत समाज का हमेशा ही महत्वपूर्ण योगदान रहा है। संत समाज के सहयोग से यह सेवा केवल हरिद्वार में ही उपलब्ध है। सरकार को भी इससे सहयोग मिलता है। नवनिर्मित हरिहर कन्हैया कृपा धाम का निर्माण होने से महाकुंभ में आने वाले श्रद्धालुओं को सुविधा मिलेगी। म.म.स्वामी जगदीशदास महाराज ने कहा कि समाज की सेवा करने में संत समाज की हमेशा अग्रणी भूमिका रही है। श्रद्धालु भक्तों के सहयोग से तैयार भवन तीर्थ नगर हरिद्वार में गंगा स्नान व अन्य धार्मिक कार्यो के लिए आने वाले श्रद्धालुओं को लाभ मिलेगा तथा जनसेवा का माध्यम बनेगा। म.म.स्वामी हरिचेतनानन्द महाराज ने कहा कि संतों का जीवन सदैव ही मानव सेवा के लिए समर्पित रहा है। पूर्व पालिकाध्यक्ष सतपाल ब्रह्मचारी ने कहा कि परोपकार के लिए जीवन समर्पित करने वाले संतों के सहयोग से हरिद्वार जैसे विख्यात तीर्थ स्थल पर आने वाले लाखों श्रद्धालु भक्तों को सभी सुविधाएं उपलब्ध होती हैं। कार्यक्रम संयोजक महंत कमलदास ने सभी संत महापुरूषों का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि संत महापुरूषों के आशीर्वाद से तैयार हुआ हरिहर कृपा धाम में देवभूमि की गरिमा के अनुरूप श्रद्धालुओं को आश्रय की सुविधा उपलब्ध करायी जाएगी। कार्यक्रम की अध्यक्षता महंत सुयज्ञ मुनि महाराज ने की। इस दौरान मोतीराम महाराज ने बाबा रामदेव का हस्तनिर्मित चित्र भेंट किया तथा यजमान सतीश हरजाई ने फूलमाला पहनाकर व अंगवस्त्र भेंटकर बाबा रामदेव सहित सभी संत महंतों का स्वागत किया। इस अवसर पर मुखिया महंत दुर्गादास, महंत देवानन्द सरस्वती, म.म.स्वामी उमाकांतानन्द सरस्वती,महंत निर्मलदास, महंत दर्शनदास, महंत दामोदर शरण दास, महंत प्रेमदास, म.म.स्वामी सुरेश मुनि, महंत ललितानन्द गिरी, महंत मोहन सिंह, महंत तीरथ सिंह, महंत दुर्गादास, सुमित दास, स्वामी केशवानन्द आदि सहित बड़ी संख्या में संत महापुरूषों के अलावा यजमान दीपक, स्नेह भटनागर, रामकुमार सोलंकी, सविता सोलंकी, विष्णु श्याम, रतनलाल, चरणसिंह, फूलसिंह, अमित गोयल, सुरेश, बाबूराम, पार्षद अनिल मिश्रा, पार्षद अनिरूद्ध भाटी, भाजयुमो नेता विदित शर्मा, आकाश भाटी सहित अनेक गणमान्य लोग उपस्थित रहे।