युवती को जिन्दा जलाने की घण्टा के विरोध में फूंका बिहार सरकार का पुतला

 हरिद्वार। बिहार में छेड़छाड़ का विरोध करने पर युवती को जिंदा जलाने की घटना से नाराज भीम आर्मी ने बिहार सरकार का पुतला दहन किया। आरोपियों को सख्त सजा देने की मांग उठाई। शुक्रवार को भीम आर्मी एकता मिशन के कार्यकर्ताओं ने लाल पुल के समीप बिहार सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी कर विरोध प्रदर्शन किया। इसके बाद सरकार का पुतला आग के हवाले कर दिया। हरिद्वार विधानसभा अध्यक्ष विशाल प्रधान और उपाध्यक्ष राशिद अली ने कहा कि बिहार के वैशाली में बीते 30 अक्तूबर को छेड़खानी का विरोध करने पर 20 साल की युवती पर गांव के ही दबंगों ने केरोसिन तेल डालकर जिंदा जला दिया था। जिससे घटना के 15 दिन बाद उस बहन की मौत हो गई। गांव के ही दबंग अक्सर छेड़खानी किया करते थे। परिजनों ने भी जब आरोपियों के घरवालों से इसकी शिकायत की तो तीन दरिंदों ने मिलकर घर के पास उसे पकड़कर जिंदा जला दिया। रजनीश कुमार ने कहा कि बिहार सरकार अभी तक भी सभी आरोपियों को गिरफ्तार नहीं करवा पाई। कहा कि आरोपियों को कड़ी से कड़ी सजा दी जाए। अगर सरकार ने जल्द इस मामले में एक्शन नहीं लिया तो भीम आर्मी देशभर में आंदोलन शुरू करने को बाध्य होगी। पुतला फूंकने वालों में समीर, अंकित डबराल, फरमान अली, साकिब अली, अज्जू अली, जीशान कुरैशी, सलीम ख्वाजा, आलम अंसारी, सैफ अली, आदिल कुरैशी, आसिफ कुरैशी, फैजल अंसारी, अमजद अली आदि शामिल रहे।