संत बाहुल्य क्षेत्र की उपेक्षा का आरोप लगा कांग्रेसियों का मेला प्रशासन के खिलाफ प्रदर्शन

 हरिद्वार। संत बाहुल्य उत्तरी हरिद्वार क्षेत्र में कुंभ निधि से कोई काम न होने से नाराज कांग्रेसियों ने बुधवार को मेला प्रशासन के खिलाफ विरोध-प्रदर्शन किया। कार्यकर्ताओं ने चेतावनी दी कि यदि उपेक्षा इसी तरह जारी रही तो कांग्रेस क्षेत्र की जनता के साथ सीसीआर भवन का घेराव कर अनशन करने को विवश होगी। बुधवार को दूधियाबंध क्षेत्र में एकत्र हुए कांग्रेसियों को संबोधित करते हुए महानगर सचिव आकाश भाटी ने कहा कि इस क्षेत्र की जनता वर्षों से परेशान है। उम्मीद थी कि इस बार कुंभ में जरूरी स्थाई कार्य कर राहत दी जाएगी लेकिन इस बार भी इलाके की जनता को मेला प्रशासन और प्रदेश सरकार ने ठगने का काम किया है। वार्ड अध्यक्ष दिनेश खड़गा ने कहा कि कुंभ मेला अधिकांशतः उत्तरी हरिद्वार में भरता है जोकि संत और आश्रम बाहुल्य है वहां पर विकास कार्यों के नाम एक भी ईंट मेला प्रशासन ने नहीं लगाई। न तो सप्त सरोवर के घाटों का सौंदर्यीकरण किया गया ना ही संपर्क मार्गों की हालत सुधारी गई। पूरा सप्त सरोवर भूपतवाला क्षेत्र विकास की बाट जोह रहा है। तुषार कपिल ने कहा कि यदि अब भी मेला प्रशासन ने इन क्षेत्रों में विकास कार्य शुरू नहीं किए तो कुंभ मेला नियंत्रण कक्ष सीआर टावर का घेराव कर क्रमिक अनशन का दौर प्रारंभ किया जाएगा। नितिन यादव ने कहा कि सप्त सरोवर भागीरथी बिंदु से लेकर गीता कुटीर तपोवन तक गंगा के किनारे बने तटबंध की हालत बहुत चिंताजनक है, ना तो पथ प्रकाश की कोई व्यवस्था है और ना ही तटबंध का डामरीकरण किया गया। पूर्व में भी कई बार उच्चाधिकारियों को अवगत कराया गया लेकिन कोई सुधार नहीं हुआ। प्रदर्शन करने वालों में शिवम गिरी, ज्ञानवती निषाद, सनी मल्होत्रा, महावीर वशिष्ठ, विशाल निषाद, नितिन शर्मा , शिव कुमार राजपूत, शर्त शर्मा, तरुण सैनी, शुभम जोशी, नीरज पाल, मुकेश मनोरी, विक्रांत भारद्वाज, रवि तोमर, वेदांत उपाध्याय, पूनम देवी, आदेश देवी, प्रमिला देवी, पुनीता देवी, रेखा कुमारी, सुमन तोमर, शशि कुमारी, डॉली देवी, फूलमती देवी सहित काफी कांग्रेसी शामिल हुए।