महिला संतो की परी अखाड़े ने की अलग से शाही स्नान व सुविधाएं देने की मांग

 हरिद्वार। प्रयागराज में हुए कुम्भ की तर्ज पर महिला संतों के परी अखाड़े ने पुरुष अखाड़ों के संतों की तरह ही अलग से शाही स्नान और सुविधाएं दिए जाने की मांग की है। परी अखाड़े की शंकराचार्य साध्वी त्रिकाल भवंता हरिद्वार पहुंची। उन्होंने मेला नियंत्रण भवन पहुंचकर अधिकारियों से वार्ता की। शंकराचार्य साध्वी त्रिकाल भवंता के अनुसार महिला सशक्तिकरण का दौर है३ ऐसे में पुरुषों की तरह ही महिलाओं के एकमात्र अखाड़े को भी सुविधाएं और अलग से शाही स्नान करने का समय दिया जाए। हम आपको बता दें कि खासे हंगामे के बाद बीते प्रयागराज कुम्भ में परी अखाड़े को शाही स्नान का समय और सुविधाएं दी गईं थीं जिसके बाद हरिद्वार में आगामी कुम्भ मेले के पहले महिला संतों के इस अखाड़े ने मांग उठाई है। अपर मेला अधिकारी हरवीर सिहॅ का कहना है कि महिला संत ने अखाडे मे सुविधा दिये जाने की मॉग की है नियमानुसार कार्यवाही की जायेगी।