देश के आत्मसम्मान की रक्षा करने वाले किसानों का सम्मान करे सरकार- अम्बरीष कुमार

 


हरिद्वार। पूर्व विधायक अम्बरीष कुमार ने कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसानों के आंदोलन का समर्थन करते हुए कहा कि सरकार को हरित क्रांति कर देश आत्मसम्मान की रक्षा करने वाले किसानों का सम्मान करना चाहिए। प्रैस को जारी बयान में अम्बरीष कुमार ने कहा कि सकल घरेलू उत्पाद में भी सबसे बडा हिस्सा कृषि क्षेत्र का है। देश में सर्वाधिक रोजगार भी कृषि क्षेत्र ही देता है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री गुमराह करने में माहिर हैं। नोटबंदी, जीएसटी, दो करोड़ रोजगार के साथ जोर जबरदस्ती असंवैधानिक ढंग से कृषि कानून पारित करा कर अब किसानों को धमका रहे हैं। प्रधानमंत्री कृषि कानूनों को किसानों के लिए लाभदायक बता रहे हैं जो वास्तविकता से कोसों दूर है। अमेरिका जैसे देश में भी यह प्रयोग असफल हो चुका है। वहां किसानों को मिलने वाली सब्सिडी में तीन गुना बढ़ोतरी की गयी है। प्रधानमंत्री का यह दावा कि 3 दिन में भुगतान होगा झूठ के अलावा कुछ नहीं है। सच्चाई यह है कि एक महीने में भी धान का भुगतान नहीं हो रहा है। सत्ता के घमंड में चूर सरकार किसानों के सामने बुराड़ी पहुंचने की शर्त रख रही है, जो अनुचित है। सरकार को तत्काल बिना शर्त किसानों से बात करनी चाहिए। एक तरफ तो गृह मंत्री और कृषि मंत्री कह रहे हैं कि किसानों से बातचीत करेंगे और दूसरी तरफ प्रधानमंत्री इन कृषि कानूनों को लाभकारी बता रहे हैं। इन परिस्थितियों में वार्ता की सफलता पर संदेह है। 


Comments