कुम्भ क्षेत्र से उपनगरी को बाहर किये जाने पर शिवसेना ने जताया रोष

 हरिद्वार। आर्य नगर ज्वालापुर में हुई शिवसेना की बैठक में कुंभ मेले को लेकर चर्चा हुई। इसमें ज्वालापुर को कुंभ क्षेत्र से बाहर किए जाने पर रोष जताया गया। बैठक में ज्वालापुर को कुंभ क्षेत्र में शामिल न करने पर आंदोलन की चेतावनी दी गई। जिला प्रमुख अशोक शर्मा ने आरोप लगाया कि ज्वालापुर को कुंभ क्षेत्र से बाहर निकाल राज्य सरकार ने जनता के पैसे को ठिकाने लगाया है। जनता इसका जवाब आने वाले चुनाव में देगी। बीते कई वर्षों से नागा संतों की पेशवाई की शुरुआत फुल जटवाड़ा ज्वालापुर से होते आई है। उसी ज्वालापुर को कुंभ क्षेत्र से बाहर निकाल दिया गया। कार्तिक पूर्णिमा स्नान को रद किया जाना संत समाज और हिदू हितों पर कुठाराघात है। शिवसेना इसका पुरजोर विरोध करती है। साथ ही, सरकार को आगाह करती है कि यदि ज्वालापुर क्षेत्र को कुंभ क्षेत्र में शामिल नहीं किया तो शिवसेना सड़कों पर उतरकर आंदोलन करेगी। इसका खामियाजा शासन और प्रशासन को भुगतना होगा। यदि किसी भी कुंभ स्नान पर पाबंदी लगाने की कोशिश की गई तो सरकारी और समाजिक आयोजन को भी शिव सेना कतई बर्दाश्त नहीं करेगी। बैठक में चंद्रशेखर चैहान, नरेंद्र शर्मा, नरेश धीमान, आबाद कुरैशी, अनिल कुमार गुप्ता, मास्टर जगपाल सैनी, अतर सिंह चैधरी आदि उपस्थित रहे। 


Comments