दो ट्रैवल्स कंपनियों ने हज यात्रा पर भेजने के नाम पर की लाखों की धोखाधडी,मुकदमा दर्ज

 हरिद्वार। दिल्ली और केरल की दो ट्रैवल्स कंपनियों ने हज यात्रा पर भेजने के नाम पर ज्वालापुर की महिला पार्षद के पति के साथ 40 लाख रुपये की धोखाधड़ी की। मामला साल 2018 का है, अब रकम मांगने पर जान से मारने की धमकी दी जा रही है। पुलिस ने तीन आरोपितों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है। पुलिस के मुताबिक ज्वालापुर के तेलियान वार्ड की पार्षद इमराना उर्फ इसराना के पति शौकीन अहमद का हज व उमरा यात्रा से जुड़ा टूर व ट्रैवल्स का कारोबार है। शौकीन अहमद ने पुलिस को तहरीर देकर बताया कि साल 2018 में उनकी मुलाकात दिल्ली में अलखदाम ट्रैवल्स ग्रुप के संचालक शाहजमाल और केरल की सैफरॉन टूर एंड ट्रैवल्स कंपनी के संचालक शमनंद व आरिफ से हुई थी। दोनों ने शौकीन से 50-50 जायरीन को 2.70 लाख रुपये प्रति यात्री की दर से हज यात्रा पर भेजने का सौदा तय किया। जिस पर शौकीन ने हरिद्वार जनपद के अलग-अलग क्षेत्र के हज यात्रियों को सऊदी अरब भेजने की बात तय की और दोनों फर्मों के बैंक खातों में एडवांस रकम जमा करा दी। आरोप है कि शाहजमाल ने 50 में सिर्फ 19 जायरीन को हज पर भेजा। जबकि शमनंद व आरिफ ने वीजा लगवाने से इन्कार कर दिया। बाद में पता चला कि उनके पास हज भेजने का लाइसेंस भी नहीं है। दबाव डालने पर दोनों फर्मों ने कुछ रकम लौटाई, मगर 40 लाख रुपये दोनों पर बकाया चले आ रहे हैं। अब रकम मांगने पर जान से मारने की धमकी दी जा रही है। शौकीन अहमद ने एसएसपी सेंथिल अवूदई कृष्णराज एस से पूरे मामले की शिकायत की। एसएसपी के निर्देश पर पुलिस की जांच में धोखाधड़ी व धमकी के आरोप सही पाए गए। जिसके बाद मंगलवार को अलखदाम ट्रैवल्स ग्रुप के संचालक शाहजमाल निवसी फजर गेस्ट हाउस हजरत निजामुद्दीन दिल्ली व शमनंद व आरिफ निवासी तिरूर, केरल के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया। ज्वालापुर कोतवाली प्रभारी प्रवीण कोश्यारी ने बताया कि मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है। जांच कर कार्रवाई की जाएगी।