नाला निर्माण के लिए खुदाई बेतरतीब,मकानों के क्षतिग्रस्त होने का खतरा

 हरिद्वार। मनोज खन्ना- किसी भी शहर के लिए विकास होना अच्छी बात है,लेकिन विकास के नाम पर अगर परेशानी होने लगे तो विकास दूर की बात लगने लगती है। इन दिनों नगर मे विकास के नाम पर कई सारी योजनाएं क्रियान्वित हो रही है। भूमिगत विद्युत लाइन बिछाने,पेयजल योजना के तहत पाइप लाइन बिछाने तथा गैस पाइप लाइन प्रमुख रूप से जारी है। इन्ही योजनाओं मंे से एक योजना है अमृत पेयजल व नाला निर्माण योजना,जिसके तहत पेयजल लाइन बिछाने का कार्य किया जा रहा है। विकास होना तो अच्छी बात है,लेकिन योजना के क्रियान्वयन स्वीकृत मानचित्र एवं मानक के अनुसार हो,ऐसा देखना संभव नही दिख रहा है। न तो लोगों की शिकायत सुनने वाला और नही शिकायत का समाधान करने वाला अधिकारी नामित है। इसकी बानगी यहां कनखल क्षेत्र में देखने को मिला,जहां नाला बनाने के लिए जारी अमृत योजना के अंतर्गत लाटोंवाली मोहल्ले में नाला बनाने वाले ठेकेदार के प्रति लोगो मे बहुत रोष है। ठेकेदार नाला बनने के लिए जेसीबी से नाले के लिए खुदाई कर रहा है जिससे लोगो के घरों के पानी के पाइप और सीवरेज पाइप को तोड़ रहा है जबकि हाल ही भूमिगत विद्युतीकरण के तार भी वो खुल्ले में छोड़ रहा है। लोगो ने जेसीबी वाले और तबेकेदार को मौखिक रूप से कहा तो ठेकेदार ने आश्वासन दिया कि वो तुरंत ही आपके पानी और सीवेज के कनेक्शन जोड़ देगा। लेकिन आश्वासन के बावजूद भी शाम तक उनसे एक भी कनेक्शन नही किया। लोगो को पानी और शौचालय के प्रयोग करने में भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। लोगो का कहना है कि वो शिकायत करें भी तो किस से करें। कोई सुन नही रह है