रेलवे में नौकरी दिलाने के नाम पर लाखों की ठगी के मामले में दो के खिलाफ मुकदमा दर्ज

 हरिद्वार। रेलवे में नौकरी दिलाने के नाम पर दो ठगों द्वारा लाखों की ठगी किये जाने के मामले में न्यायालय के आदेश पर कनखल थाना पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर मामले की छानबीन शुरू कर दी है। आरोप है कि दो लोगों ने आपसी सांठगाठ कर एक बेरोजगार महिला से 8 लाख रुपये ठग लिये। महिला की शिकायत पर पुलिस ने दो आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। पुलिस के अनुसार एक आरोपी ने अपने आप को रेल कर्मचारी बताया था। पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है। पुलिस के अनुसार मूल रूप से झबरेड़ा निवासी प्रियंका देवी पत्नी मोहन सिंह हॉल निवासी गाजीवाला श्यामपुर हरिद्वार ने शिकायत देकर बताया कि उसके पति मोहन सिंह का भाई सोहन सिंह कुलदीप सिंह निवासी एसके ट्रेडर्स देवभूमि टावर राज विहार फेस-3 जगजीतपुर के साथ काम करता है। सोहन सिंह ने मोहन सिंह की मुलाकात कुलदीप सिंह से कराई। महिला बेरोजगार थी। कुलदीप ने महिला के पति मोहन सिंह को आश्वासन दिया कि वह उसकी पत्नी प्रियंका की रेलवे में नौकरी लगवा देंगे। इसकी एवज में 8 लाख रुपये की डिमांड की है। मामला वर्ष 2019 का था। कुलदीप महिला को रेलवे के मुरादाबाद मंडल कार्यालय ले गया। जहां उसने राजकुमार से मुलाकात कराई। जहां नौकरी की बात पक्की हो गई और राजकुमार ने बताया कि कुछ समय बाद ज्वाइनिंग लेटर आ जाएगा। रुपये देने के बाद 20 फरवरी को चंदौसी रेलवे स्टेशन पर ट्रेनिंग के एक ज्वाइनिंग लेटर महिला के घर पहुंच गया। राजकुमार ने बताया था कि ट्रेनिंग के बाद नियुक्ति स्थाई हो जाएगी। महिला ट्रेनिंग के लिए चंदौसी पहुंच गई। वहां जाकर मालूम हुआ कि ज्वाइनिंग लेटर फर्जी था। इसके बाद महिला को ठगी का अहसास हुआ तो महिला और उसका पति राजकुमार के पास पहुंचा। कुलदीप और राजकुमार दोनों ने रुपये लौटाने से इनकार कर दिया। महिला ने पुलिस में शिकायत की लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। आखिरकार महिला ने कोर्ट का सहारा लिया है। गुरुवार को कनखल पुलिस ने कोर्ट के आदेश पर दोनों आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। इंस्पेक्टर शंकर सिंह बिष्ट के अनुसार मामले में मुकदमा दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है।