सांसद रीता बहुगुणा ने गमगीन आंखो से पोती की अस्थि कलश किया गंगा में प्रवाहित

 हरिद्वार। यूपी के प्रयागराज से सांसद और यूपी सरकार के पूर्व कैबिनेट मंत्री रीता बहुगुणा जोशी अपनी पोती के अस्थि कलश विसर्जन के लिए शनिवार को हरिद्वार पहुची, उनके साथ डॉ. रीता बहुगुणा जोशी, उनके पति पूरण चंद्र जोशी, बेटे मंयक जोशी, बहू और भाई पूर्व मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा, साकेत बहुगुणा समेत अन्य रिश्तेदार हरकी पैड़ी ब्रह्मकुंड पहुंचे। उन्हें अंतिम विदाई देने के लिए हरकी पैड़ी पर नेताओं की भीड़ देखने को मिली। हर की पैड़ी पर पूरे विधि विधान के साथ पंडित आदित्य वशिष्ठ द्वारा अस्थि विसर्जन कराया गया। ज्ञात रहे कि दीपावली के दिन सांसद रीता जोशी की बहू रिचा अपनी बेटी को लेकर पोनप्पा मार्ग स्थित अपने मायके गईं थीं. दिवाली के दिन काफी बच्चे घर की छत पर खेल रहे थे. इस दौरान पटाखा जलाने के दौरान वह आग की चपेट में आकर झुलस गई थी. जिसके बाद मयंक जोशी की 6 साल की बेटी किया का इलाज एक निजी अस्पताल में चल रहा था, जहां इलाज के दौरान उसने दम तोड़ दियायागराज से बीजेपी सांसद डॉ. रीता बहुगुणा जोशी की आठ साल की पोती की अस्थियां शनिवार को हरकी पैड़ी से गंगा में प्रवाहित की गईं। इस दौरान बच्ची के माता-पिता के अलावा सांसद रीता बहुगुणा जोशी, पूर्व मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा समेत सभी रिश्तेदार भावुक हो गए। बच्ची के माता-पिता ने हरकी पैड़ी ब्रह्मकुंड में कर्मकांड के बाद अस्थियां प्रवाहित कीं। ब्रह्मकुंड घाट पर तीर्थ पुरोहित राजीव वशिष्ठ उर्फ राजू गढ़वाल और आदित्य नाथ वशिष्ठ ने वैदिक मंत्रोच्चारण के बीच कर्मकांड संपन्न कराया।