एलपीजी डिस्ट्रीब्यूटर्स एसोसिएशन की ने शासन से एंजेसियांे को बचाने की मांग

 हरिद्वार। एलपीजी डिस्ट्रीब्यूटर्स एसोसिएशन हरिद्वार के तत्वावधान में गैस एजेंसियों के मालिकों की बैठक का आयोजन सिंहद्वार स्थित पुष्पक गैस एजेंसी कार्यालय में किया गया। बैठक में भूमिगत गैस लाइन बिछाने वाली कंपनी नैचुरल गैस प्रा.लि. की कार्यशैली पर सवाल उठाए गए। इस दौरान गैस एजेंसिंयों के भविष्य को लेकर भी चिंता व्यक्त की गई साथ ही शासन से एजेंसियों को बचाने की मांग उठाई गई। बैठक में हरिद्वार गैस एजेंसी से गायत्री प्रसाद, पुष्पक गैस एजेंसी से राजीव गुप्ता, सिद्धि विनायक से नवनीत राणा, दीपिका इंडेन से विपिन शर्मा, गायत्री इंडेन गैस से नंदकिशोर आदि ने संयुक्त रूप से आरोप लगाया कि जनपद हरिद्वार में भूमिगत गैस लाइन डालने वाली कंपनी हरिद्वार नैचुरल गैस प्रा. लि. के कर्मचारियों द्वारा प्रत्यक्ष तथा अप्रत्यक्ष रूप से अफवाह उडाई जा रही है कि भूमिगत गैस लाइन से उपभोक्ता को गैस कनेक्शन लिया जाना अनिवार्य है तथा आगामी कुछ माह में हरिद्वार जनपद की सभी एलपीजी गैस बंद करा दी जाएगी। जिसके कारण ग्राहकों में असमन्जस्य की स्थिति बनी हुई है। बैठक में एलपीजी डिस्ट्रीब्यूटर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष राजीव गुप्ता ने बताया कि शासन अपनी स्थिति स्पष्ट करे जिससे एजेंसियों और ग्राहक भी संतुष्ट हो। भूमिगत गैस की ज्वलनशील क्षमता प्रति किलो नौ हजार कैलोरी मात्र है जबकि एलपीजी सिलेंडर गैस की क्षमता प्रति किलो बारह हजार कैलोरी है। उन्होंने एलपीजी की खपत को किफायती बताते हुए कहा कि भूमिगत कनेक्शन की सिक्योरिटी 6000 रूपये है जबकि एलपीजी कनेक्शन सिक्यूरिटी मात्र 1600 रूपये है। समस्त उपभोक्ता स्वेच्छा से निर्णय ले। किसी भी तरह की भ्रांतियों में नहीं आएं। शासन स्तर पर उपभोक्ताओं को समझााया जाए कि एलपीजी की गैस एजेंसियां जैसे पूर्व से कार्य करती आ रही है वैसे ही भविष्य में भी उपभोक्ताओं को अपनी सेवाएं देती रहेंगी तथा शासन स्तर पर इन्हें बंद करने की बात मात्र अफवाह है।