ग्रामीण इलाकों पानी आपूर्ति के सम्बन्ध में डीएम ने ली अधिकारियों की बैठक

हरिद्वार । जिलाधिकारी सी0 रविशंकर की अध्यक्षता में आज जिलाधिकारी कैम्प कार्यालय में जिला जल एवं स्वच्छता मिशन की समीक्षा बैठक आयोजित हुई। बैठक में जिलाधिकारी को अधिकारियों ने जिला जल एवं स्वच्छता मिशन के तहत ग्रामीण इलाकों के आंगनबाड़ी केन्द्रों व स्कूलों में शुद्ध व साफ पानी आपूर्ति के सम्बन्ध में हुई प्रगति की जानकारी दी। जिलाधिकारी ने अधिकारियों से इन योजनाओं की डी0पी0आर0 के सम्बन्ध में भी विस्तृत चर्चा की। अधिकारियों ने जिलाधिकारी को बताया कि कुल 26 डीपीआर तैयार हो चुके हैं। जिलाधिकारी ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि वे डी0पी0आर0 से पहले एक्शन प्लान अवश्य देखें ताकि वर्तमान की आवश्यकताओं के अनुसार डी0पी0आर0 बने। अधिकारियों ने जिलाधिकारी को बताया कि डीपीआर तैयार करने हेतु सपोर्टिंग एजेंसी बढ़ाते हुये सभी डीपीआर इसी महीने तैयार कर लेंगे। जिलाधिकारी ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि इसमें कोई भी आदर्श गांव छूटने न पाये। अधिकारियों ने जिलाधिकारी को बताया कि 108 ऐसे विद्यालय हैं, जो पाइप से जोड़े जा सकते हैं। इसके अलावा जो हैण्डपम्प पहले से कार्यरत हैं, उनकी पानी की क्वालिटी व पानी की मात्रा सही है, तो उनमें मोटर लगा सकते हैं। अगर पानी की क्वालिटी ठीक नहीं है, तो लैब में पानी की गुणवत्ता की जांच करा कर तथा उनके पाइप को और गहरा किया जायेगा ताकि पानी की क्वालिटी व पानी की मात्रा दोनों सही मिले। जिलाधिकारी ने निर्देश दिये कि वे मानकों व प्रक्रियाओं का पालन करते हुये निर्धारित लक्ष्य को ससमय प्राप्त करने में आपसी सहयोग व एकजुट होकर कार्य करें तथा निर्धारित किये गये लक्ष्य के सापेक्ष कितना लक्ष्य प्राप्त किया, उसका विवरण भी प्रस्तुत करें। समीक्षा बैठक में मुख्य विकास अधिकारी श्री विनीत तोमर, जल संस्थान, जल निगम, स्वास्थ्य, शिक्षा सहित जल एवं स्वच्छता मिशन से जुड़े अधिकारीगण उपस्थित थे।