सिक्ख समाज ने किया पाकिस्तान के खिलाफ प्रदर्शन

हरिद्वार। पाकिस्तान में करतारपुर गुरुद्वारे की समिति से सिक्ख समाज के लोगो को बाहर किए जाने पर रोष प्रकट करते हुए समाज ने गुरुनानक देव जी धर्म प्रचार समिति के तत्वावधान में कनखल स्थित निर्मल विरक्त कुटिया में पाकिस्तान के खिलाफ प्रदर्शन किया। इस अवसर पर कुटिया के संचालक बाबा पंडत ने कहा कि सिख समाज का उत्पीड़न बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। सिख समाज ने सदैव भाईचारे का संदेश दिया है। पाकिस्तान सरकार को अपने फैसले पर पुनर्विचार करना चाहिए। सिख समाज का प्रमुख धार्मिक स्थल करतारपुर गुरुद्वारा बिना सिख समाज के नहीं चल सकता है। गुरुनानक दरबार गुरुद्वारा के प्रधान सुखदेव सिंह ने कहा कि पाकिस्तान सदैव हिंदुओ और पंजाबियों के खिलाफ कार्य करता रहा है। करतारपुर गुरुद्वारे पर लिया गया फैसला जनहित में नहीं है। इसका पुरजोर विरोध किया जाएगा। गुरुसिंह सभा के सचिव हरमोहन सिंह ने कहा कि पाकिस्तान सरकार के फैसले को लेकर देश के पूरे सिख समाज में रोष है। गुरूद्वारा समिति से सिक्ख समाज को बाहर करने का पाकिस्तान सरकार का निर्णय कतई स्वीकार नहीं किया जाएगा। भारत सरकार इस मामले को संज्ञान में लेते हुए विरोध दर्ज कराए। समिति के सचिव अनूप सिंह सिद्दू ने कहा कि पाकिस्तान अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा। सिक्खों की आस्था के केंद्र गुरूद्वारा करतापुर की समिति से सिखों को बाहर करने से पाकिस्तान की मानसिकता एक बार फिर उजागर हो गयी है। प्रदर्शन करने वालों में बाबा पंडत, सत्यपाल सिंह, उज्जल सिंह, हरमोहन सिंह, मनमोहन सिंह, हरभजन सिंह, हरभजन सिंह बाजवा, सुदीप सिंह, बलविंदर, गुरविंदर सिंह सिद्धू, सुरेन्द्र सिंह, जोधा सिंह, साहब सिंह, शमशेर सिंह, गगनदीप सिंह, रंजीत सिंह, सोनू आदि शामिल प्रमुख रूप से शामिल रहे।