दुर्घटना सम्भावित क्षेत्र में आवश्यक कार्यवाही हेतु प्रस्ताव बनाकर दे- सी0 रविशंकर

 

हरिद्वार। जिलाधिकारी सी0 रविशंकर की अध्यक्षता में आज कलेक्ट्रेट सभागार में जनपद स्तरीय सड़क सुरक्षा समिति की बैठक आयोजित हुई। बैठक में जिलाधिकारी ने पिछले तीन माहों में होने वाली दुर्घटनाओं, दुर्घटना के कारण एवं निवारण पर चर्चा करते हुए कहा कि दुर्घटना के कारणों का पता करना एवं उसमें सुधार करना जरूरी है। उन्होंने कहा कि प्रत्येक दुर्घटना को गम्भीरता से लेना जरूरी है, थोड़ी सी लापरवाही किसी की जान पर भारी पड़ सकती है। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिये कि दुर्घटना सम्भावित क्षेत्र में आवश्यक कार्यवाही हेतु प्रस्ताव बनाकर दें। राष्ट्रीय राजमार्गों पर कई जगह अवैध कट लगे होने की शिकायत पर जिलाधिकारी ने कहा कि ऐसे अवैध कट को तत्काल बंद किया जाए एवं इसके लिए जिम्मेदार लोगों पर सख्त कार्यवाही अमल में लायी जाए। उन्होंने यह भी निर्देश दिये कि ओवर स्पीड, नशे में वाहन चलाने वाले, ट्रेफिक सिग्नल का पालन न करने वाले, मनमाना किराया वसूलने वालों के विरूद्ध नियमानुसार कार्यवाही करें, साथ ही लोगों को नियमों का पालन करने हेतु जागरूक एवं प्रोत्साहित भी करें। जिलाधिकारी ने प्रत्येक पेट्रोल पम्प पर अनिवार्य रूप से सीसीटीवी कैमरा लगाने, दोपहिया वाहनों पर डबल हैलमेट लगाने, सड़कों पर सूचना संकेत बोर्ड, दुर्घटना सम्भावित क्षेत्रों का चिह्नीकरण एवं उनके निवारण के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि दुर्घटनाओं की मजिस्ट्रेट जांच रिपोर्ट भी समय से प्राप्त होनी चाहिए। श्री सी0 रविशंकर ने आगामी कुम्भ मेले के दृष्टिगत परिवहन विभाग को निर्देश दिये कि कोविड-19 के प्रसार को रोकने के लिए प्रत्येक वाहन चालक को प्रशिक्षित किया जाए, कि किस प्रकार कुम्भ मेले के दौरान आने वाली यात्रियों से व्यवहार करना है, बिना मास्क के कोई भी व्यक्ति सफर न करे, सभी वाहन चालक स्वयं भी अनिवार्य रूप से मास्क का प्रयोग करें। बैठक में एआरटीओ (प्रशा0) मनीष तिवारी, एआरटीओ (प्रव0) सुरेन्द्र कुमार, सीओ सदर हरिद्वार पूर्णिमा गर्ग, जिला शिक्षा अधिकारी बेसिक वी0एस0 चतुर्वेदी, एसीएमओ डाॅ0 पंकज कुमार, एनएचआई से प्रेम सागर पाण्डेय, सत्यभान सिंह आदि सहित संबधित विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।