मुख्यमंत्री द्वारा घोषित 120 योजनाओं से 26 पूर्ण,शेष कार्य जारी,जिलाधिकारी ने की समीक्षा

 समीक्षा बैठक में नलकूप विभाग के अधिकारियों के अनुपस्थित रहने पर मांगा गया स्पष्टीकरण

हरिद्वार। मुख्यमंत्री की घोषणाओं के क्रियान्वयन के सम्बन्ध में जिलाधिकारी सी0 रविशंकर बैठक में अधिकारियों से जानकारी ली। सर्वप्रथम जिलाधिकारी ने पार्किंग निर्माण के सम्बन्ध में अधिकारियों से पूछा। अधिकारियों ने ऋषिकुल मैदान, नेहरू युवा केन्द्र के सामने आदि स्थानों का उल्लेख किया। जिलाधिकारी ने कहा कि पार्किंग के लिये केवल ऋषिकुल मैदान ही नहीं, बल्कि अन्य चार-पांच स्थानों के सम्बन्ध में विवरण तैयार करें। उन्होंने पार्किंग स्थल के चुनाव के लिये एक कमेटी गठन के निर्देश दिये, जो अपनी संस्तुति एक सप्ताह के अन्दर प्रस्तुत करे। नगर निगम रूड़की में पार्किंग के सम्बन्ध में नगर निगम, रूड़की के अधिकारियों ने बताया कि हमारे पास तकनीकी स्टाफ नहीं है। इस पर जिलाधिकारी ने निर्देश दिये कि सम्बन्धित कार्यदायी संस्थाओं से विचार-विमर्श करके तीन दिन के भीतर स्थिति स्पष्ट करें। रूड़की मास्टर प्लान के अन्तर्गत घाटों के सौन्र्यीकरण के सम्बन्ध में की गयी घोषणा के सम्बन्ध में जिलाधिकारी ने निर्देश दिये कि उ0प्र0 सिंचाई विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक कर इस सम्बन्ध में जो भी गतिरोध है, उसे दूर करना सुनिश्चित करें। साइ्रंस एवं योगा पार्क की घोषणा के सम्बन्ध में अधिकारियों ने जिलाधिकारी को बताया कि साइंस पार्क का निर्माण रूड़की में तथा योगा पार्क का निर्माण हरिद्वार में होना है। योगा पार्क के सम्बन्ध में जिलाधिकारी ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि स्थान का चयन कर लें। एक सप्ताह में स्थिति स्पष्ट करते हुये विवरण प्रस्तुत करें। साइंस पार्क के सम्बन्ध में जिलाधिकारी ने कहा कि पार्क की परिकल्पना के सम्बन्ध में आई.आई.टी. रूड़की से भी विचार-विमर्श कर लें। उन्होंने इस सम्बन्ध में एक कमेटी गठित करते हुये, रिपोर्ट 28 दिसम्बर तक प्रस्तुत करने के निर्देश दिये। महिला उद्यमियों को बढ़ावा देने के सम्बन्ध में एक सप्ताह में विवरण प्र्रस्तुत करें। बैठक में पी0डब्ल्यूडी0 के अधिकारियों ने बताया कि कुल नौ घोषणाओं में से पांच पूरी हो चुकी हैं तथा दो में कार्य प्रगति पर है तथा फरवरी में कार्य पूर्ण हो जायेगा। जिलाधिकारी ने एक-एक घोषणा जैसे-खड़खड़ी में पैदल पुल का निर्माण, रूड़की में रेलिंग लगाने का कार्य आदि की अधिकारियों से जानकारी ली तथा खानपुर में अण्डरपास निर्माण के सम्बन्ध में एक संयुक्त टीम गठित करते हुये तीन दिन के भीतर रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिये। बैठक में सिंचाई विभाग के अधिकारियों ने दीन दयाल पार्क के सम्बन्ध में बताया कि इसका निर्माण 90 प्रतिशत हो चुका है तथा जनवरी में पूर्ण हो जायेगा। पेयजल निगम के अधिकारियों ने हरिद्वार शहर के सीवरेज के सम्बन्ध में बताया कि ऋण अनुबन्ध हो गया। यह कार्य अब कुम्भ के सम्पन्न होने के पश्चात ही हो पायेगा। ज्वालापुर में आधुनिक शौचालय के सम्बन्ध में अधिकारियों ने बताया कि वहां से अतिक्रमण हटा दिया गया है। जनपद के सभी विधान सभा क्षेत्रों के 120 कार्यों के सम्बन्ध में अधिकारियों ने बताया कि 26 कार्य पूर्ण हो चुके हैं। चिकित्सा विभाग के अधिकारियों ने बताया कि आई0सी0यू0 का निर्माण पूर्ण हो चुका है तथा डाॅक्टरों की नियुक्ति निदेशालय से हो रही है। जिलाधिकारी ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि सभी कार्यदायी संस्थायें आपस में तालमेल रखते हुये जो भी आप कार्य करें, वह गुणवत्तायुक्त होना चाहिये। जो कार्य पूर्ण हो चुके हैं, उनकी रिपोर्ट फोटोग्राफ सहित प्रस्तुत करें। अगर कहीं पर कार्य संचालन में दिक्कत आ रही है, तो उसे बतायें, जिस स्तर की समस्या होगी, उसका निस्तारण किया जायेगा। अन्यथा की स्थिति में जिम्मेदारी तय करते हुये कार्रवाई की जायेगी। नलकूप निगम के अधिकारियों के अनुपस्थित रहने पर जिलाधिकारिी ने नाराजगी प्रकट करते हुये सम्बन्धित का स्पष्टीकरण प्राप्त करने के निर्देश दिये। बैठक में अपर जिलाधिकारी प्रशासन भगवत किशोर मिश्र, मुख्य चिकित्साधिकारी, एस0के0 झा, सहायक नगर आयुक्त तनवीर सिंह, ई0ई0 आर0डब्ल्यू0डी0 रामजी लाल, ए0ई0सी0डी0 पीडब्ल्यूडी रूड़की नवीन कौशल, ए0इ. हरिद्वार संजय कुमार, जिला शिक्षा अधिकारी, बेसिक, वी0एस0 चतुर्वेदी, सहायक नगर अधिकारी रूड़की चन्द्रकांत भट्ट, अधिशासी अभियंता जल निगम मो0 मीसम, अधिशासी अभियंता पीडब्ल्यूडी, दीपक कुमार, एचआरडीए के अधिकारी सहित सम्बन्धित विभागों के अधिकारीगण उपस्थित थे।