कुंभ मेला के 98 प्रतिशत कार्य 31 दिसम्बर के अन्त तक पूरे हो जायेंगे-त्रिवेन्द्र सिंह रावत


मुख्यमंत्री ने दिए कुंभ मेला कार्य समय पर पूरे करने के निर्देश

 

हरिद्वार। डा.मनोज कुमार-मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने गुरुवार को विकास कार्यों का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने विकास कार्यों की गुणवत्ता पर विशेष ध्यान देने की बात कही। साथ ही जल्द से जल्द कार्य को पूरा करने के निर्देश भी दिए। गुरुवार को मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत नारसन बार्डर पर पहुंचे। यहां सबसे पहले उन्होंने कुंभ पर कोविड जांच सेंटर समेत अन्य प्रस्तावित काउंटर के बारे में जानकारी ली। साथ ही निर्देश दिए कि बार्डर पर इस तरह की व्यवस्था हो कि उत्तराखंड आने वाले यात्री को इंतजार ना करना पड़े। भीड़भाड़ ना होने दी जाए। यहां पर पेयजल एवं पथ प्रकाश की व्यवस्थाओं को दुरुस्त किया जाए। हाईवे चैड़ीकरण से जुड़े जो कार्य है उनको तत्काल पूरा कर लिया जाए। इसके बाद मुख्यमंत्री मंगलौर कोतवाली से आगे बाइपास पर पहुंचे। यहां पर उन्होंने ओवरब्रिज का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान कुछ व्यक्तियों ने शिकायत कर बताया कि पुल के निर्माण में गुणवत्ता का ध्यान नहीं रखा जा रहा है। जिस पर मुख्यमंत्री ने कहा कि इसकी जांच कराई जाएगी। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने गुरूवार को नारसन से रूड़की के मध्य राष्ट्रीय राजमार्ग के कार्यों एवं रूड़की बाईपास पर चल रहे निर्माण कार्यों का निरीक्षण किया। इसके उपरान्त उन्होंने कुम्भ क्षेत्र में चल रहे विभिन्न कार्यों एवं पुलों का भी निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि 31 दिसम्बर तक स्थाई प्रकृति के सभी कार्य और 31 जनवरी तक कुम्भ से संबंधित सभी कार्य पूरे कर लिये जाएं। मुख्यमंत्री ने पुहाना-छुटमलपुर बाईपास, फ्लाईओवर ब्रिज, कोर काॅलेज के समीप से मंगलौर को जोड़ने वाले बाईपास, रानीपुर  झाल पर बनाये जा रहे पुल एवं लोक निर्माण विभाग द्वारा बनाये जा रहे विभिन्न पुलों एवं मेला क्षेत्र के अन्तर्गत विभिन्न निर्माण कार्यों का निरीक्षण किया। सीएम ने कहा कि आगामी कुंभ में श्रद्धालुओं की सुविधा के दृष्टिगत 98 प्रतिशत कार्य दिसम्बर 2020 के अन्त तक पूरे हो जायेंगे। जनवरी अन्त तक सभी कार्य पूर्ण करने के निर्देश अधिकारियों को दिये गए हैं। साथ ही उन्होंने दोनों पुलों की उपयोगिता के बारे में जानकारी हासिल की। यहां से सीएम निरीक्षण करते हुए कांवड़ पटरी पर पहुंचे। कांवड़ को देखकर मुख्यमंत्री ने खुशी जाहिर की।  उन्होंने कहा कि कांवड़ पटरी के पूरी तरह तैयार हो जाने से राजमार्ग पर यातायात का दबाव कम होगा। साथ ही स्थनीय नागरिकों को इसका काफी लाभ मिलेगा। इसके बाद मुख्यमंत्री कांवड़ पटरी से रुड़की पहुंचे। यहां से हाईवे से होते हुए हरिद्वार के लिए कूच कर गए। इस दौरान शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक, विधायक आदेश चैहान, प्रदीप बत्रा, कुंवर प्रणव चैंपियन, विधायक देशराज कर्णवाल, डीसीबी चेयरमैन प्रदीप चैधरी,मुख्य सचिव ओम प्रकाश, सचिव आर.के. सुधांशु, शैलेष बगोली, आईजी मेला संजय गुंज्याल, जिलाधिकारी सी.रविशंकर, एसएसपी सेंथिल अबुदई कृष्णराज एस, अपर मेलाधिकारी हरवीर सिंह आदि मौजदू रहे। 


Comments